World Art Day: कोणार्क से खजुराहो तक, भारत की वो 10 जगहें जो हैं कला का अनूठा नमूना, लॉकडाउन खत्म होने के बाद जाएं यहां

कोणार्क से लेकर खजुराहो तक वर्ल्ड आर्ट डे पर जानिए भारत में मौजूद उन स्थानों के बारे में जो दिखाते हैं कला का अनूठा नमूना।
All Image credit: Wikipedia/Tripsavy/ Instagram/ Pinterestbest architectural buildings in india

15 अप्रैल को वर्ल्ड आर्ट डे मनाया जाता है। स्थानीय कलाकारों, अनूठी कलाकृतियों और अनोखे चित्रों के साथ-साथ भारत में कला के कई रूप देखने को मिलते हैं। भारत में कला का वास न सिर्फ इंसानों और कलाकृतियों में नहीं बल्कि इमारतों में भी देखने को मिलता है। भारत में ऐसी कई इमारतें हैं जो एक नहीं बल्कि कई कारीगरों की कला का नमूना हैं। फिलहाल तो भारत लॉकडाउन की स्तिथि में है, लेकिन इसके खत्म होने के बाद आप इन इमारतों को देखने जरूर जाएं जो भारतीय कला को दिखाएंगी।

1लाखों कारीगरों की कला का नमूना ताज-

Tripsavytaj mahal world art day

ताज महल कला का एक अनूठा नमूना है। शाह जहांन ने इसे बनाने वाले कारीगरों के हाथ कटवा दिए थे ताकि कोई और दूसरा ताज न बना पाए। कई कवियों की कल्पना से भी ज्यादा सुंदर ताज एक अहम टूरिस्ट अट्रैक्शन है और साथ ही साथ इसकी नक्काशियां आपको कला की अद्भुत तस्वीर दिखाएंगी।

2 इतिहास की झलक दिखाता कुतुब मीनार-

qutubminar world art day


कुतुब-उद्-दीन ऐबक द्वारा बनवाया गया ये मीनार 1192 में बनना शुरू हुआ था। अगर बात करें इसकी शिल्पकारी की तो कई शताब्दियों से इसपर हमलों और प्रकृतिक आपदाओं के प्रकोप के बाद भी कुतुब मिनार की नक्काशियां साफ दिखती हैं। इस मीनार को देखने देश-विदेश से लोग आते हैं।

3शिल्पकारी का अनोखा संगम अजंता और अलोरा

ajanta alora world art day

अजंता और अलोरा गुफाएं, वहां ही तस्वीरें और मूर्तियां कला का अनोखा नमूना हैं। ये मूर्तियां पहाड़ काटकर बनाई गई है और भारत में पेंटिंग और शिल्पकला के सबसे अच्छे उदाहरणों में से एक हैं। 

4Indo-Saracenic कला का नमूना गेटवे ऑफ इंडिया

gatewayofindia world art day

इसे इंडो-गोथिक स्ट्रक्चर भी कहा जाता है। 1924 में इसे पूरा किया गया था और 1911 से ये बन रहा था। इसे किंग जॉर्ज V और क्वीन मैरी के मुंबई आने की खुशी में बनाया गया था।

5इंडो-इस्लामिक कला को दिखाता चार मीनार

char minar world art day

चार मीनार हैदराबाद शहर के लिए वही महत्व रखता है जैसा आगरा के लिए ताज महल रखता है। 1591 में बनाया गया ये मीनार खास इसलिए है क्योंकि ये इस इलाके से प्लेग की बीमारे के खात्मे का प्रतीक है। इसका आर्किटेक्चर इंडो-इस्लामिक स्टाइल है।

6कृष्ण के मुकुट के रूप में बना हवा महल

hawa mahal world art day

1799 में बना ये महल 953 खिड़कियों के साथ राजपूताना कला और शिल्पकारी का अनूठा नमूना है। ये जयपुर शहर का मुख्य आकर्षक का केंद्र रहता है और इसका इंटीरियर भी ऐसा बनाया गया है कि किसी को भी सीढ़ियों पर चढ़कर जाने की जरूरत नहीं।

7कमल की शक्ल वाला लोटस टेम्पल-

lotus temple world art day

ये दिल्ली शहर का एक बहुत ही अहम टूरिस्ट डेस्टिनेशन है और यहां हर धर्म और हर जाति का इंसान प्रार्थना करने आ सकता है। यहां कोई मूर्ति नहीं है।

8मैसूर पैलेस और कला-

maysore palace world art day

मैसूर पैसेल जो 1912 में तैयार हुआ था वोदेयार साम्राज्य की कला और दूरदृष्टि को दिखाता है। ये पैलेस चारों ओर से खूबसूरत कलाकृतियों से घिरा हुआ है। ये भारत के बेस्ट टूरिस्ट अट्रैक्शन में से एक है।

9अपने आप में एक अनोखा मंदिर खजुराहो-

konark temple world art day

खजुराहो बहुत ही खूबसूरत मंदिर है, लेकिन यहां पूजा नहीं होती। ये खास तरह की मूर्तियों का प्रतीक है जो उस दौर के खुले विचारों को दिखाता है जो सेक्स के लिए थे।

10कोणार्क का सूर्य मंदिर-

khajurao world art day

भगवान सूर्य को समर्पित कोणार्क का मंदिर 13वीं  सदी में बनाया गया था। इसे कला का अनूठा नमूना कहा जाता है। ये ओरियन आर्किटेक्चर पर आधारित है। ये यूनेस्को की वर्ल्ड हेरिटेज साइट भी है।

Loading...
Loading...