हिमाचल प्रदेश भारत का एक ऐसा राज्य है, जिसे देखने के लिए पूरे विश्व से लोग आते हैं। यहां पर आप खूबसूरत पहाडों से लेकर हरियाली आदि काफी कुछ देख सकती हैं। इतना ही नहीं, अगर आप साहसिक प्रवृत्ति की हैं तो ट्रेकिंग से लेकर रैपलिंग और स्कीइंग जैसी विभिन्न एक्टिविटीज का लुत्फ उठा सकती हैं। वहीं दूसरी ओर, अगर आप शांत वातावरण में बैठकर प्रकृति को करीब से निहारना चाहती हैं तो ऐसे में आप हिमाचल की कुछ नदियों को देख सकती हैं।

यहां पर पहाड़ों के बीच बहने वाली खूबसूरत नदियों को देखकर एक अलग ही अहसास होता है। इस राज्य की प्रत्येक नदी बारहमासी है, जिससे आपको एक अद्भुत दृश्य देखने को मिलता है। तो चलिए आज हम आपको हिमाचल प्रदेश की कुछ नदियों के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें आपको इस खूबसूरत राज्य के ट्रिप पर जरूर देखना चाहिए-

सतलज नदी

satlaj river himachal

हिमाचल की पांच प्रमुख नदियों में से सतलुज सबसे लंबी है, जो पंजाब के साथ-साथ पाकिस्तान के बीच भी है। इस नदी को सतदरी नाम से भी जाना जाता है। यह सिंधु नदी के पूर्वी छोर पर एक सहायक नदी है। इस नदी को सतलुज नाम से भी जाना जाता है। हिमाचल प्रदेश में सतलुज नदी के जल को भारत की सिंचाई नहरों के लिए नेविगेट किया जा रहा है। सतलज नदी का उद्गम तिब्बत झील के पश्चिमी छोर से होता है।

इसे जरूर पढ़ें:क्या आप जानते हैं लद्दाख की मैग्नेटिक हिल से जुड़े ये रोचक तथ्य

बसपा नदी

baspa river himachal

यह नदी भारत-तिब्बत सीमा के आसपास से निकलती है, जिसके परिणामस्वरूप बासपा घाटी बनती है, जिसे सांगला घाटी भी कहा जाता है। बसपा घाटी को हिमालय में चिंग सखागो दर्रा के साथ सबसे अच्छे क्षेत्रों में से एक माना जाता है। नदी का प्रवाह बासपा हिल्स से शुरू होता है और करचम के करीब सतलज नदी से मिलता है। ऊपरी और साथ ही मध्य ढलानों के आसपास, नदी ओक और देवदार के जंगलों से गुजरती है जबकि निचले ढलानों में यह घास के मैदान और चरागाहों से गुजरती है।

चिनाब नदी

chinaab river

चिनाब नदी को पारंपरिक रूप से चंद्रभागा नदी के नाम से जाना जाता है। यह भारत और पाकिस्तान की प्रमुख नदियों में से एक है। हिमालय के ऊपरी क्षेत्र, लाहौल और स्पीति में बनते हुए, चिनाब नदी रामबन, डोडा, किश्तवाड़, जम्मू और रियासी जैसे जिलों में बहती है और पंजाब के साथ-साथ पाकिस्तान तक पहुँचती है। चिनाब नदी सिंधु नदी से मिलती है। इस नदी के पानी की देखभाल पाकिस्तान में सिंधु जल संधि द्वारा भी की गई है।

Recommended Video

रावी नदी

ravi river himachal

हिमाचल प्रदेश में रावी नदी को एक ट्रांसबाउंड्री नदी माना जाता है जो भारत के उत्तर-पश्चिमी क्षेत्र और पाकिस्तान के पूर्वी क्षेत्र से होकर बहती है। यह नदी भी भारत में सिंधु जल संधि के अंतर्गत आती है। ऐतिहासिक रूप से, इस नदी को वैदिक युग के दौरान भारतीयों के बीच इरावती नाम से जाना जाता था, जबकि यूनानियों ने इसे हाइड्रोट्स के नाम से पुकारा। यह भी माना जाता है कि द बैटल ऑफ टेन किंग्स की लड़ाई के कुछ चरण इस नदी पर लड़े गए थे।

इसे जरूर पढ़ें:कहीं घूमने की कर रहे हैं प्लानिंग, तो जरूर जाएं गुजरात के सपुतारा

यमुना नदी

himachal best river

यमुना नदी उत्तर प्रदेश और हरियाणा राज्यों को कवर करती है और उत्तराखंड और फिर दिल्ली से होकर जाती है। यह गंगा की दूसरी सबसे बड़ी सहायक नदी है और पूरे भारत में सबसे लंबी है। जब भारत के राज्यों से बहती है, तो नदी सहायक नदियों से मिलती है, अर्थात् टोंस, चंबल, सिंध, बेतवा और केन। यमुना नदी का नाम संस्कृत शब्द 'यम' से उत्पन्न हुआ है, जिसका अर्थ है 'जुड़वां' - इस तथ्य के मद्देनजर कि यह गंगा के साथ चलती है।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।