अमृतसर भारत के प्रमुख टूरिस्ट डेस्टिनेशन में से एक है। अमृतसर के स्वर्ण मंदिर की खूबसूरती से लेकर जलियावाला बाग के एतिहासिक पलों को देखने के लिए लोग दूर-दूर से आते हैं। लेकिन महज अमृतसर में ही नहीं, इसके आसपास भी ऐसे कई हिल स्टेशन हैं, जो अपनी खूबसूरती की तरफ लोगों को खींचते हैं। अगर आप अमृतसर जाने का प्लॉन कर रही हैं तो आसपास के इन हिल स्टेशन पर एक बार जरूर होकर आएं। यहां की प्राकृतिक खूबसूरती देखते ही बनती है। फिर चाहे बात  शिमला की हो या धर्मशाला की या फिर पालमपुर की। हर एक जगह पर आपको देखने को बहुत कुछ मिलेगा। जहां शिमला में म्यूजियम से लेकर चर्च मौजूद हैं, ठीक उसी तरह पालमपुर में आपको चाय के बागानों से लेकर ट्रेकिंग ट्रेल्स, कैंपसाइट्स और विचित्र मठों के दर्शन करने को मिलेंगे। तो चलिए आज हम आपको अमृतसर के आसपास मौजूद हिल स्टेशन और उनकी खासियत के बारे में बता रहे हैं-

इसे भी पढ़ें: Travel Tips: इन 5 खूबसूरत राजस्थानी हवेली होटल में जाना आपको भी आएगा पसंद

धर्मशाला

amritsar to  Perfect  Weekend inside

धर्मशाला यूं तो एक छोटा सा हिल स्टेशन माना गया है, लेकिन फिर भी लोगों के बीच इसका खासा आकर्षण है। चूंकि भारत में यह दलाई लामा का आधार माना जाता है, इसलिए यहां पर तिब्बती प्रभाव अधिक है। धर्मशाला में आपको भागसू नाग लेक से लेकर नामग्यालमा स्तूप, सेंट जाॅन चर्च, कांगडा आर्ट म्यूजियम, आदि देखने को मिलेंगे। यहां पर आप ट्रैकिंग का मजा भी उठा सकती हैं। धर्मशाला में मौजूद भागसू नाग लेक डल झील जितनी ही पुरानी है। वहीं नामग्यालमा स्तूप मैकलोड गंज के केंद्र में स्थित एक पुरानी बौद्ध संरचना है, जिसे तिब्बती सैनिकों के सम्मान के लिए बनाया गया था, जिनकी तिब्बत की स्वतंत्रता संग्राम के दौरान मृत्यु हो गई थी। मैकलियोड गंज से लगभग दस मिनट की पैदल दूरी पर, सेंट जॉन चर्च मौजूद है। चर्च में हर साल सैकड़ों भक्तों का हुजूम उमड़ता है। अगर आप वहां पर है तो कोशिश करें कि आप संडे मास में शामिल हों और आसपास के कब्रिस्तान से चलकर जाएं। यह ब्रिटिश वायसराय लॉर्ड एल्गिन की स्मारक कब्र है, जिनका 1863 में धर्मशाला में निधन हो गया था।

शिमला

amritsar Weekend inside

शिमला में माउंटेन की सुंदरता से अलग भी आपको म्यूजियम, थिएटर, वॉकिंग ट्रेल्स और मॉल आदि बहुत कुछ देखने को मिलेगा। अगर आप शिमला आई हैं तो यहां के स्टेट म्यूजियम को देखना बिल्कुल भी न भूलें। यह म्यूजियम एक पुरानी विक्टोरियन हवेली के भीतर स्थित है, जो एक पहाड़ी की चोटी पर स्थित है। यह कभी लॉर्ड विलियम बेर्स्फोर्ड का निवास हुआ करता था, जिसे सन् 1974 में संग्रहालय के रूप में स्थापित किया गया। वैसे स्टेट म्यूजियम के अलावा यहां का तारादेवी मंदिर भी काफी मशहूर है।  तारा देवी मंदिर समुद्र तल से 1851 मीटर की ऊंचाई पर एक पहाड़ी से घिरा हुआ है। मंदिर का भक्तिमय वातावरण और आसपास चारों ओर हरियाली व्यक्ति को शांति और खुशी का अहसास कराती है। वहीं अगर आप शिमला में नेचुरल ब्यूटी का लुत्फ उठाना चाहती हैं तो आप हिमालयन बर्ड पार्क जा सकती हैं।  हिमालयन बर्ड पार्क 2000 मीटर से अधिक की ऊँचाई पर विकेरेगल लॉज के सामने स्थित है। नेचर लवर्स के लिए यह एक अद्भुत जगह है। यहां पर आपको दुर्लभ पौधों और पेड़ों के साथ कई पक्षी प्रजातियों को भी देखने का अवसर मिलेगा।

इसे भी पढ़ें: पहाड़ों की सैर से लेकर लोकल मार्केट के बीचों बीच तक, दार्जीलिंग की ये मनमोहक ट्रेन यात्रा दिल जीत लेगी!

पालमपुर

amritsar for  Perfect  Weekend  hill inside

धर्मशाला से महज दो-तीन घंटे की दूरी पर मौजूद पालमपुर सच में आपके वीकेंड ट्रिप के लिए एक बेहतरीन जगह है यहां पर आपको चाय के बागानों से लेकर ट्रेकिंग ट्रेल्स, कैंपसाइट्स और विचित्र मठों का नजारा देखने को मिलेगा। चूंकि यहां पर भीड़-भाड़ कम ही रहती हैं, इसलिए अगर आप शहरी जीवन से दूर कुछ पल सुकून के बिताना चाहती हैं तो पालमपुर जाना आपके लिए अच्छा रहेगा।  ताशी जोंग मठ पालमपुर के मुख्य आकर्षण में से एक है। इसके अलावा अगर आप हाईकिंग करना चाहती हैं तो आप धौलांधार में जा सकती हैं। वहीं देवदार के जंगलों में कैंपिंग करने का भी अपना एक अनुभव है।