भारत के सबसे बड़े राज्यों में से एक, उत्तर प्रदेश अपनी आध्यात्मिकता, वास्तुकला, रहस्यवाद और ऐतिहासिक स्थलों के लिए प्रसिद्द है। सदियों से चली आ रही परंपराओं के साथ, इस राज्य के लोग भारत की कुछ सबसे अमिट परंपराओं में लिप्त हैं, विशेष रूप से हिंदू धर्म से संबंधित परम्पराएं इस राज्य को अति विशिष्ट बनाती हैं।

भारत का सबसे पवित्र शहर, वाराणसी, सारनाथ और कुशीनगर में प्राचीन बौद्ध स्तूप और प्रयागराज, जहाँ गंगा और यमुना, भारत की दो सबसे प्रतिष्ठित नदियों से मिलती हैं ये सब उत्तर प्रदेश का ही हिस्सा हैं। वैसे तो उत्तर प्रदेश पूरे साल पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र होता है लेकिन खासतौर पर यहाँ की कुछ जगहें लोग साल की शुरुआत में घूमना पसंद करते हैं। आइए जानें कौन सी हैं वो जगहें जो साल की शुरुआत में घूमने के लिए बेस्ट हैं।  

वाराणसी

varanasi in january 

दुनिया का सबसे पुराना शहर, वाराणसी - जिसे काशी और बनारस के नाम से भी जाना जाता है, भारत की आध्यात्मिक राजधानी के रूप में जाना जाता है। यह हिंदू धर्म के सात पवित्र शहरों में से एक है। वाराणसी (वाराणसी के फेमस स्ट्रीट फूड्स ) का पुराना शहर गंगा के पश्चिमी किनारों पर स्थित है, जो संकरी गलियों की एक भूलभुलैया में फैला है। यहां आप पैदल चलने के लिए तैयार रहें। वाराणसी के लगभग हर मोड़ पर मंदिर हैं, लेकिन काशी विश्वनाथ मंदिर सबसे अधिक प्रचलित मंदिरों में से एक है जहां दर्शन करने दुनिया भर से भक्त गण आते हैं। यहां की गंगा आरती भारत ही नहीं पूरी दुनिया में प्रसिद्द है, जिसे देखने दूर-दूर से लोग आते हैं। बनारस को भगवान शिव की नगरी के रूप में जाना जाता है। यदि आप ईश्वर की शरण में रहकर साल की शुरुआत करना चाहते हैं तो नए साल के आरम्भ में वाराणसी जरूर जाएं और भगवान शिव के दर्शन करें। 

इसे जरूर पढ़ें:दिल्ली की सर्दी से बचना है तो जनवरी में इन गरम जगहों पर जाएं घूमने

वृंदावन 

vridavan in january

यमुना के किनारे सबसे पुराने शहरों में से एक, वृंदावन को कृष्ण के भक्तों के लिए सबसे महत्वपूर्ण तीर्थ स्थानों में से एक माना जाता है। कहा जाता है कि भगवान कृष्ण ने अपना बचपन वृंदावन में बिताया था। शहर का नाम वृंदा जिसका अर्थ है तुलसी के नाम पर वृन्दावन रखा गया। चूंकि वृंदावन को एक पवित्र स्थान माना जाता है, इसलिए बड़ी संख्या में लोग अपने सांसारिक जीवन से हटकर कुछ पल ईश्वर की गोद में बिताने के लिए यहां आते हैं। वृंदावन शहर सैकड़ों भगवान कृष्ण और राधा मंदिरों को समेटे हुए है, सबसे प्रसिद्ध बांके बिहारी मंदिर और विश्व प्रसिद्ध इस्कॉन मंदिर हैं। जीवंत परिवेश भगवान कृष्ण के चंचल और परोपकारी स्वभाव को पूरी तरह से चित्रित करता है। यमुना नदी के पानी के साथ, वृंदावन की मोटी हरियाली और हरे-भरे हरियाली के बीच स्थित कई मंदिर यहां के प्रमुख आकर्षण हैं।

Recommended Video

लखनऊ 

lucknow in january

उत्तर प्रदेश की राजधानी और यहां का सबसे बड़ा शहर, लखनऊ, गोमती नदी के तट पर स्थित है। मुस्कुराइए कि आप लखनऊ में हैं, की पंक्ति से हर पल पर्यटकों का स्वागत करने वाला नवाबों का शहर लखनऊ अपनी वास्तुकला और ऐतिहासिक इमारतों के लिए प्रसिद्द है। रूमी दरवाजा, राजधानी के केंद्र में बना मुगल गेटवे लखनऊ को 'पुराने लखनऊ' में विभाजित करता है जो प्राचीन है और अधिक भीड़ से भरा है और 'नया लखनऊ' जो शहरी है और एशिया के सबसे नियोजित शहरों में से एक है। पुराना लखनऊ अपनी हलचल भरी सड़कों, प्रामाणिक, मुंह में पानी लाने वाले कबाब और बिरयानी आउटलेट, लखनवी चिकन बाजार और थोक आभूषण भंडार के लिए प्रसिद्ध है। दूसरी ओर, नया लखनऊ, विभिन्न संस्कृतियों के लोगों की मेजबानी करता है और संरचनात्मक रूप से विस्तृत सड़कों, शॉपिंग मॉल और विभिन्न मनोरंजन उद्देश्यों की पूर्ति के लिए बनाए गए पार्कों के साथ योजनाबद्ध है। इन पार्कों में सबसे प्रसिद्ध अंबेडकर पार्क और गोमती रिवरफ्रंट पार्क हैं, जो शाम को दोस्तों और परिवार के साथ घूमने और टहलने के लिए आदर्श स्थान हैं।

इसे जरूर पढ़ें:लखनऊ की इन जगहों पर प्री वेडिंग शूट करवाएं और खूबसूरत लम्हों को बनाएं यादगार

अयोध्या 

ayodhya nagri attractions

उत्तर प्रदेश में सरयू नदी के तट पर स्थित अयोध्या, हिंदुओं के सात पवित्र शहरों में से एक है। अयोध्या रामायण के हिंदू महाकाव्य में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है क्योंकि इसे भगवान राम का जन्मस्थान माना जाता है। यह धार्मिक शहर जैनियों के 24 तीर्थंकरों में से चार का जन्मस्थान है, जो पर्यटकों को अपने शांत घाटों से गुदगुदाते हैं। अयोध्या में पर्यटकों के लिए देखने के लिए इतना रंग और आध्यात्मिकता है और एक महत्वपूर्ण आध्यात्मिक केंद्र के रूप में उभरा है। बहु-आस्था वाले मंदिरों की भूमि, अयोध्या ( राम मंदिर से जुडी कुछ बातें ) की ट्रैफिक-मुक्त सड़कें अपने आप में एक यात्रा के लिए पर्याप्त आकर्षक हैं। नए साल की शुरुआत में ईश्वर की भक्ति में लीन होना चाहते हैं तो इस जगह की यात्रा जरूर करें। 

फतेहपुर सीकरी

fatehpur sikri in january

आगरा से 40 किमी की दूरी पर स्थित, फतेहपुर सीकरी, आगरा जिले का एक शहर और एक प्रसिद्ध पर्यटक आकर्षण है। मुख्य रूप से लाल बलुआ पत्थर से बना शहर, फतेहपुर सीकरी की स्थापना 1571 में मुगल सम्राट अकबर द्वारा की गई थी। यह मूल रूप से राजा द्वारा बनाया गया एक गढ़ वाला शहर है और पंद्रह वर्षों तक उसके साम्राज्य की राजधानी रहा था। अब यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल, यह जोधाबाई का महल, जामा मस्जिद, बुलंद दरवाजा और सलीम चिश्ती के मकबरे के अलावा कई अन्य प्रसिद्ध स्मारकों का घर है। स्थापत्य उत्कृष्टता, साथ ही धार्मिक मान्यताओं का एक अनूठा मिश्रण - फतेहपुर सीकरी जनवरी के महीने में घूमने के लिए बेहद ख़ास जगह है।

इसे जरूर पढ़ें: आगरा ही नहीं, उसके आसपास भी है देखने के लिए बहुत कुछ

उत्तर प्रदेश की इन खूबसूरत जगहों पर जाकर आप अपने नए साल की शुरुआत करने के साथ घूमने का भरपूर मज़ा भी उठा सकते हैं। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: shutterstock and freepik