• Gayatree Verma
  • Her Zindagi Editorial
  • Sun, 19 Aug 2018 18:14 IST

आजकल बालों को कलर करने का ट्रेंड चला हुआ है। लोग अलग-अलग रंग बालों में ट्राय कर रहे हैं। पार्लर में बालों को रंग करने के लिए लोग घंटों तक बैठे रहते हैं। ये रंग बाल में हम अच्छे भी लगते हैं। लेकिन इनका एक नुकसान भी होता है। यह बालों के साथ-साथ स्कैल्प को भी नुकसान पहुुंचा देते हैं। अगर आप भी बालों में कलर करवाने वाली हैं तो उनके नुकसान जान लें। 

बालों का टूटना 

बालों में रंग ट्राय करने से बाल कमजोर हो जाते हैं और टूटने लगते हैं। दरअसल कलर में मौजूद तत्व हेयर फाइबर को खोलकर बालों पर अपना काम करता है। पर्मानेंट हेयर कलर में अधिक मात्रा में अमोनिया का इस्तेमाल होता है जो कि बालों को कमजोर बना देता है। इससे बाल टूटने लगते हैं। 

बाल हो जाते हैं रुखे

कलर में मौजूद अमोनिया बालों को रुखा भी बना देता है। कई बार रुसी की समस्या भी हो जाती है। 

हो जाती है एलर्जी भी

कई रासायनिक उत्पादों के साथ बने हेयर कलर्स एलर्जी का कारण भी बन सकते है। इससे रूसी, खुजली और आंखों के चारों ओर लालच या सूजन की समस्या आ सकती है। खासकर छोटी उम्र के लोग इन लक्षणों को अनदेखा न करें। अगर आपकी स्किन ज्यादा संवेदनशिल है तो हेयर डाई से बचें। 

नैचुरल तरीके से करें बालों को रंग 

अगर आप इन सारे नुकसानों से बचना चाहती हैं तो बालों को नैचुरल तरीके से रंग करें। मेहंदी बालों को नैचुरल तरीके से रंग करने का अच्छा ऑप्शन है। इसके बारे में विस्तार से जानने के लिए ये वीडियो देखें।