स्किन केयर के लिए हम अलग-अलग तरीकों का इस्तेमाल करते हैं और न जाने कितनी तरह के प्रोडक्ट्स खरीद लेते हैं। अगर आपने ध्यान दिया हो तो पिछले कुछ समय में स्किन केयर इंडस्ट्री ने काफी तरक्की कर ली है और यही नहीं किसी भी और ब्यूटी फील्ड से ज्यादा स्किन केयर पर ध्यान दिया जा रहा है। अब कई नेचुरल इंग्रीडिएंट्स को स्किन केयर के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है। 

स्किन केयर सिर्फ ऊपरी चमक तक सीमित नहीं रह गई है बल्कि इसे हेल्थ से भी जोड़ा जा रहा है और अच्छे प्रोडक्ट्स और नेचुरल इंग्रीडिएंट्स के इस्तेमाल के साथ-साथ इसे बहुत हद तक डाइट और एक्सरसाइज पर निर्भर किया जा रहा है। 

एक अच्छा स्किन केयर रूटीन आपको एक्ने, रिंकल्स आदि की समस्या से छुटकारा दिला सकता है और साथ ही साथ एंटी-एजिंग लुक भी दे सकता है। हालांकि, स्किन को सही रखने के लिए ना जाने कितने प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल किया जाने लगा है और इनकी कीमत भी काफी ज्यादा होती जा रही है। अधिकतर लोग ये नहीं समझ पाते हैं कि प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करने के साथ-साथ आप घर में मौजूद कुछ नेचुरल इंग्रेडिएंट्स का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

इसे जरूर पढ़ें- संतरे के छिलके को इस तरह से करें स्किन केयर के लिए इस्तेमाल 

नीम और एलोवेरा को हमेशा ही स्किन केयर के लिए अच्छा माना जाता है और ऐसे में हमने INATUR की फाउंडर, अरोमा थेरेपिस्ट और कॉस्मेटोलॉजिस्ट मिस पूजा नागदेव से बात की। अपने ब्यूटी रूटीन में नीम और एलोवेरा को शामिल करने को लेकर उनका कहना है कि ये दोनों ही बहुत अच्छे इंग्रीडिएंट्स हैं। 

possible skin care with neem and aloe

नीम और एलोवेरा ही क्यों?

गर्म और ह्यूमिड मौसम में स्किन रफ हो जाती है और टैनिंग की समस्या भी हो जाती है। पसीना और गंदगी स्किन को हमेशा परेशान करती है और स्किन पोर्स भी जम जाते हैं। यही कारण है कि स्किन टोन काफी ज्यादा खराब हो जाती है। नीम में फैटी एसिड्स और एंटीसेप्टिक क्वालिटी होती हैं और साथ ही साथ एलोवेरा में विटामिन, मिनरल, सैलिसिलिक एसिड, अमीनो एसिड्स आदि होते हैं। ये स्किन को हाइड्रेट भी करते हैं। ऐसे में ये दोनों ही स्किन केयर रूटीन के लिए बहुत ही अच्छे साबित हो सकते हैं। 

neem and skin reactions

स्किन की सफाई के लिए बेस्ट हैं ये दो इंग्रीडिएंट्स-

पूजा जी का कहना है कि एक्ने अधिकतर इसलिए होते हैं क्योंकि आपके पोर्स में गंदगी जमा हो जाती है और ऐसे में नीम और एलोवेरा मदद कर सकते हैं-

  • एक्ने पर नीम का पेस्ट (शुद्ध) लगाना बेहतर माना जाता है। 
  • नीम जूस पीने से डाइजेस्टिव सिस्टम सही रहता है जिससे एक्ने और स्किन आउटब्रेक्स की समस्या नहीं होती। 
  • एलोवेरा स्किन को स्मूथ बनाने के लिए मददगार साबित हो सकता है। 
  • इन दोनों को मिलाकर इस्तेमाल करने से क्लॉग्ड पोर्स की समस्या कम होती है और ब्लैकहेड्स और व्हाइटहेड्स खत्म होते हैं।
  • स्किन ड्राई नहीं होती और फ्लेक्स कम होते हैं।  
aloe and skin reactions

इसे जरूर पढ़ें- काले अंडरआर्म्स के लिए ये टिप्स हो सकते हैं फायदेमंद  

सनबर्न और टैन रिमूवल के लिए अच्छे हैं ये दोनों इंग्रीडिएंट्स- 

सूरज की हानिकारक अल्ट्रावॉयलेट किरणों का असर स्किन पर बहुत ज्यादा होता है और ये लाल हो सकती है, इसमें सूजन आ सकती है, स्किन की कोई और समस्या हो सकती है। ऐसे में एलोवेरा सनबर्न की समस्या से आराम दिलाएगा और नीम किसी भी तरह के बैक्टीरियल इन्फेक्शन को खत्म करने में मदद करेगा। नीम में एंटी-इन्फेमेटरी इफेक्ट्स होते हैं और इसलिए ये पसीने से हुए बैक्टीरिया को खत्म करने में सहायक होता है।  

Recommended Video

स्किन हाइड्रेशन के लिए हैं मददगार-

 जहां बात स्किन की हो रही है वहां गर्मी और बारिश का मौसम अच्छा नहीं माना जाता क्योंकि स्किन में ह्यूमिडिटी के कारण अलग-अलग तरह के बैक्टीरिया बन जाते हैं। एलोवेरा और नीम स्किन केयर रूटीन से स्किन सही मायनों में मॉइश्चराइज हो जाती है और ये ऑयली भी नहीं लगती। एलोवेरा स्किन बैरियर का काम करता है और स्किन को ठंडा और हाइड्रेटेड रखता है।  

एलोवेरा की एंटी-इन्फ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज इसे बहुत अच्छा मॉइस्चराइजिंग जेल बनाती हैं। नीम में भी कई तरह के हाइड्रेटिंग बेनेफिट्स हैं और ये स्किन को शांत करने में मदद करती है। ऐसे मौसम के लिए एलोवेरा जेल में नीम ऑयल मिलाकर इस्तेमाल करना बहुत अच्छा साबित हो सकता है।  

आपके स्किन केयर रूटीन में आप इन दोनों इंग्रीडिएंट्स को एड कर सकते हैं, लेकिन एक बात जो गौर करने वाली है वो ये कि हर स्किन टाइप अलग होता है और अगर किसी की स्किन संवेदनशील है तो हो सकता है कि इनमें से कोई इंग्रीडिएंट सूट ना करे। ऐसे में आप अपनी स्किन पर पैच टेस्ट करने के बाद ही कोई उपाय अपनाएं। अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।