मिसेलर वॉटर एक ऐसा ब्यूटी प्रॉडक्ट है, जिसे पिछले कुछ समय से काफी पसंद किया जाने लगा है। आमतौर पर जब भी मिसेलर वॉटर को इस्तेमाल करने की बात होती हैं तो इससे महिलाएं मेकअप रिमूव करके स्किन को क्लीन करने को प्राथमिकता देती है। यह सच है कि मेकअप रिमूविंग में यह बेहद ही प्रभावशाली तरीके से काम करता है। यहां तक कि यह मेकअप रिमूवर को भी पीछे छोड़ देता है। चूंकि यह बेहद ही लाइट और वाटरी होता है, इसलिए मिसेलर वॉटर का इस्तेमाल करना स्किन के लिए काफी अच्छा माना जाता है। हो सकता है कि आप भी डिफरेंट ब्रांड्स के मिसेलर वॉटर का इस्तेमाल करती हों, लेकिन क्या आप इससे जुड़ी हर बात के बारे में जानती हैं। शायद नहीं! यही कारण है कि इसे इस्तेमाल करने को लेकर कई तरह के भ्रम फैलने लगे हैं। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको मिसेलर वॉटर से जुड़े कुछ अमेजिंग फैक्ट्स के बारे में बता रहे हैं, जो यकीनन इस प्रॉडक्ट को सही तरह से इस्तेमाल करने में आपकी मदद करेंगे-

नहीं हटाएगा वाटरप्रूफ मेकअप

inside  makeup remover

मिसेलर वॉटर का मुख्य रूप से इस्तेमाल मेकअप को रिमूव करने के लिए किया जाता है। लेकिन अगर आपने आईज पर वाटरप्रूफ मेकअप किया है और वह मिसेलर वॉटर प्रभावी तरीके से काम नहीं कर रहा है तो इसका अर्थ है कि आपने जिस मिसेलर वॉटर को चुना है, वह सही नहीं है। दरअसल, एक मिसेलर वॉटर तब मेकअप रिमूव नहीं कर सकता, जब तक इसमें ऑयल इंफ्यूज़्ड हो। तो वाटरप्रूफ मेकअप को रिमूव करने के लिए आप ऑयल व वाटर के कॉम्बिनेशन से युक्त मिसेलर वॉटर को चुनें।

हर दिन कर सकती हैं इस्तेमाल

inside  use every day

यह भी मिसेलर वॉटर का एक अमेजिंग बेनिफिट है, जिसके बारे में शायद आपको ना पता हो। सबसे पहले तो यह बेहद लाइट होता है और स्किन पर काफी जेंटल भी होता है। इसलिए स्किन में जमी गंदगी को हटाने के लिए इसका इस्तेमाल हर दिन किया जा सकता है।

इसे ज़रूर पढ़ें-DIY: त्वचा की रंगत निखारने के लिए जरूर ट्राई करें सेब का ये होममेड फेस पैक

टोनर की तरह नहीं करता काम

inside  work like toner

कुछ महिलाएं समझती हैं कि मिसेलर वॉटर को बतौर टोनर इस्तेमाल किया जा सकता है, लेकिन ऐसा नहीं है। मिसेलर वॉटर हाइड्रेटिंग होने के साथ टोनर की तरह दिखता है, इसलिए महिलाएं इसे बतौर टोनर भी यूज करती हैं। हालांकि, आपको यह समझना होगा कि मिसेलर वॉटर मिसेल से बने होते हैं, जो साबुन जैसी इकाइयाँ होती हैं जो पानी में घुलनशील गंदगी को घोलती हैं। इसलिए, एक मिसेलर वॉटर टोनर नहीं है। यह त्वचा के पीएच को संतुलित नहीं करता है, जो टोनर का एक मुख्य काम है। सच्चाई तो यह है कि अगर मिसेलर वॉटर को लगातार लंबे समय तक स्किन पर अप्लाई किया जाए तो इससे स्किन डिहाइड्रेट हो सकती हैं और इसमें मौजूद क्लीजिंग केमिकल्स के कारण स्किन इंबेलेंस हो सकता है।

Recommended Video

इसे धोना बेहद आवश्यक है

inside  facewash

मार्केट में मिलने वाले बहुत सारे मिसेलर वॉटर में “नो-रिन्स“ लिखा होता है, इससे लड़कियां काफी खुश होती हैं, क्योंकि इसे वह वन-स्टेप क्लीन्ज़र के रूप में देखती हैं। हालांकि, मिसेलर वॉटर में मौजूद मिसेल साबुन के केमिकल्स होते हैं, इसलिए उन्हें क्लीन करना बेहद आवश्यक है। अगर आप इसे आपकी स्किन पर यूं ही छोड़ देती हैं तो यह आपकी स्किन के लिए हानिकारक साबित हो सकता है। इतना ही नहीं, कोई भी मेकअप रिमूवल या डर्ट रिमूवल का इस्तेमाल तब तक अधूरा है, जब तक कि आप चेहरे को धोए नहीं, क्योंकि ये क्लींजर गंदगी को सोख लेते हैं और अगर इन्हें क्लीन ना किया जाए तो चेहरे से गदंगी वास्तव में कैसे दूसरी होगी। कॉटन पैड सब कुछ क्लीन करने में पूरी तरह से सक्षम नहीं होते हैं, इसलिए मिसेलर वॉटर के इस्तेमाल के बाद चेहरे को अवश्य क्लीन करें।

इसे ज़रूर पढ़ें-गुड़हल और मेथी से बना ये DIY हेयर ऑयल बढ़ाएगा बालों की ग्रोथ

ऑयल क्लींजिंग के बाद करें इस्तेमाल

inside  remove with oil

आमतौर पर जो महिलाएं मेकअप रिमूव करने के लिए डबल क्लींजिंग तरीके को अपनाती हैं, उन्हें मिसेलर वॉटर की बहुत अधिक आवश्यकता नहीं होती है। लेकिन फिर भी अगर आप इसे मेकअप रिमूविंग स्टेप्स में शामिल करना चाहती हैं तो ऑयल क्लींजिंग के बाद ही इसे यूज करें। यकीनन मिसेलर वॉटर में ऑयल भी शामिल होता है, लेकिन फिर भी वह ऑयल क्लींजिंग स्टेप को रिप्लेस नहीं कर सकता। बेहतर क्लीनिंग के लिए आप ऑयल क्लींजिंग के बाद मिसेलर वॉटर का इस्तेमाल करें। अंत में फेस को किसी जेंटल फेस वॉश या जेल क्लींजर की मदद से क्लीन करें।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit-Freepik