जिस तरह हर महिला का स्वभाव अलग होता है, ठीक उसी तरह उसकी स्किन भी डिफरेंट होती हैं और अपनी स्किन केयर रूटीन को सेट करने व स्किन केयर प्रॉडक्ट को सलेक्ट करने से पहले आपको अपनी स्किन को पहचानना होता है, ताकि आप अपनी स्किन का सही तरह से ख्याल रख पाएं। वैसे जब समर्स में स्किन केयर की बात होती है तो ऑयली स्किन की महिलाओं को अधिक परेशानी होती है। इस मौसम में उनकी स्किन में हमेशा चिपचिपापन रहता है, जिससे उनकी स्किन बहुत अधिक शाइनी नजर आती है।

इस स्थिति में अधिकतर महिलाएं कुछ मिथ्स पर भरोसा करके अपनी स्किन की केयर करने लग जाती हैं। हो सकता है कि आपकी स्किन भी ऑयली हो और आप कई तरह के मिथ्स पर आंख मूंदकर भरोसा करती हों। लेकिन क्या आपको उन मिथ्स की सच्चाई के बारे में पता है। शायद नहीं। तो चलिए आज हम आपको इस  लेख में ऑयली स्किन से जुड़े कुछ मिथ्स के बारे में बता रहे हैं-

मिथ 1- ऑयली स्किन को मॉइस्चराइज़र की आवश्यकता नहीं होती है 

oily skin myths

सच्चाई- यह ऑयली स्किन से जुड़ा एक पॉपुलर मिथ है। दरअसल, ऑयली स्किन से अतिरिक्त सीबम का उत्पादन होता है, जिसके कारण स्किन हमेशा की चिकनी नजर आती है। ऐसे में महिलाएं मानती हैं कि उनकी स्किन ऑयली है तो उन्हें मॉइश्चराइजर की जरूरत नहीं है। इतना ही नहीं, अगर वह मॉइश्चराइजर अप्लाई करेंगी तो इससे उनका पूरा चेहरा अधिक चिपचिपा नजर आएगा। हालांकि यह पूरी तरह से एक मिथ है। अन्य स्किन की तरह ऑयली स्किन को भी मॉइश्चराइज करने की जरूरत होती है। वास्तव में आप ऑयली स्किन से जितना अधिक तेल को छीनने की कोशिश करेंगे, यह उतना ही अधिक ऑयली हो जाएगा। जब आप अपनी स्किन पर मॉइस्चराइज़र अप्लाई करना स्किप करती हैं, तो आपकी त्वचा इसकी भरपाई करने के लिए और भी अधिक तेल का उत्पादन करती है और अंततः आपके चेहरे पर एक अजीब तैलीय चमक हर वक्त नजर आती है। इसलिए आप खासतौर से ऑयली स्किन के लिए बने हल्के मॉइस्चराइज़र का विकल्प चुनें।

Recommended Video

मिथ 2- ऑयली स्किन ही है एक्ने का एकमात्र कारण

oily skin acne

सच्चाई- बहुत सी महिलाएं सोचती हैं कि उनके चेहरे पर एक्ने की मुख्य और एकमात्र वजह उनकी ऑयली स्किन है। हालांकि यह पूरी तरह सच नहीं हैं। हार्मोनल असंतुलन व पर्यावरण प्रदूषण आदि कई अन्य कारक भी ब्रेकआउट का कारण बन सकते हैं। इसलिए, अगर आपको ब्रेकआउट या एक्ने की समस्या है तो आपको उसकी असली वजह को समझना होगा। 

इसे जरूर पढ़ें:Expert Tips: जानें क्या है Dual Toned Eye Makeup, कैसे बढ़ाएं इससे आंखों की खूबसूरती

मिथ 3- अपने चेहरे को लगातार धोने से कम हो सकता है ऑयल प्रॉडक्शन

oily skin care

सच्चाई- यह भी ऑयली स्किन को लेकर एक कॉमन मिथ है। दरअसल, जिन महिलाओं की स्किन ऑयली होती है, वह चेहरे से तेल हटाने के लिए बार-बार फेस वॉश करती हैं। ऐसा करने से उस समय चेहरे पर मौजूद तेल हट जाता है। जिसके कारण उन्हें लगता है कि चेहरे को लगातार धोने से ऑयल प्रॉडक्शन को कम किया जा सकता है। जबकि वास्तविकता यह है कि बार-बार स्किन को वॉश करने से उसके नेचुरल ऑयल्स छीन जाएंगे और नमी की कमी की भरपाई करने के लिए अत्यधिक तेल का उत्पादन करेगा। इसलिए, अपने चेहरे को दिन में दो बार से ज्यादा न धोएं। अगर आपको स्किन में बार-बार चिपचिपेपन की समस्या होती है तो ऐसे में स्किन को वॉश करने की जगह अपने साथ कुछ ब्लॉटिंग पेपर रखें। वे अतिरिक्त तेल से छुटकारा दिलाने में आपकी मदद करेंगे।

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।