हर महिला की इच्छा होती है कि उसकी स्किन क्लीन व क्लीयर हो। हालांकि, आपके साथ ऐसा ही हो, यह जरूरी नहीं है। अधिकतर महिलाओं  को कभी न कभी एक्ने की समस्या का सामना करना पड़ता है। जिसके कारण उनकी नेचुरल ब्यूटी कहीं छिप जाती है। अमूमन महिलाएं एक्ने से जल्द से जल्द छुटकारा पाने के लिए तरह-तरह के उपाय अपनाती हैं और लोगों की कही-सुनी बातों पर बिना सोचे-समझे भरोसा कर लेती हैं। ऐसे में कभी-कभी उनकी समस्या बद से बदतर हो जाती है। हो सकता है कि आपके साथ भी ऐसा हुआ हो। इसलिए यह बेहद जरूरी है कि किसी भी मिथ पर यूं ही भरोसा करने की जगह आप उसकी वास्तविकता को जानें। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको एक्ने से जुड़े कुछ मिथ्स और उनकी सच्चाई के बारे में बता रहे हैं-

मिथ 1: एक्ने केवल टीनेज में ही होते हैं।

inside myths

सच्चाई- यद्यपि एक्ने टीनेजर्स में सबसे अधिक बार दिखाई देते हैं। कई बार यह 20 से 30 की उम्र में बीच में नजर आते हैं। हालांकि, हर उम्र के लोगों को एक्ने हो सकते हैं। इसलिए सिर्फ टीनेजर्स को ही एक्ने की समस्या का सामना नहीं करना पड़ता। यह आपकी स्किन पर किसी भी उम्र में नजर आ सकते हैं।

मिथ 2: एक्ने गंदगी के कारण होते हैं।

inside myths

सच्चाई- ऐसा माना जाता है कि एक्ने का एकमात्र कारण गंदगी हैं। लेकिन यह पूरी तरह से सच नहीं है। वास्तविकता तो यह है कि स्किन को बहुत बार धोना या बहुत जोर से स्क्रब करने से स्किन में जलन पैदा हो सकता है और यह आपके एक्ने को बदतर बना सकता है। हालांकि, इसका अर्थ यह नहीं है कि आप पर्सनल हाईजीन पर ध्यान ना दें। बस जरूरत है कि आप इसे सही तरह से करें।

मिथ 3: चॉकलेट और ऑयली खाना खाने से एक्ने होते हैं।

inside myths

सच्चाई- यह एक्ने को लेकर एक पॉपुलर मिथ है। अमूमन महिलाएं मानती हैं कि ऑयली या चॉकलेट खाने से एक्ने होते हैं। हालांकि, चॉकलेट, पिज्जा, आलू के चिप्स, फ्रेंच फ्राइज़, चीज़बर्गर, आदि का एक्ने आउटब्रेक से कोई संबंध नहीं है। लेकिन एक शोध के अनुसार, एक्ने और नॉन-आर्गेनिक डेयरी प्रॉडक्ट्स के बीच लिंक है।

मिथ 4: तनाव के कारण एक्ने होते हैं।

inside myths

सच्चाई-एक्ने को लेकर इस मिथ पर भी महिलाएं भरोसा करती हैं। जबकि सच्चाई यह है कि स्ट्रेस के कारण एक्ने नहीं होते। हालांकि, अगर आपको पहले से ही एक्ने की समस्या है तो तनाव इसे और भी बदतर कर सकता है।

मिथ 5: पिंपल्स को फोड़ने से वे जल्दी दूर हो जाते हैं।

inside myths

सच्चाई- इस मिथ में कोई भी सच्चाई नहीं है। वास्तविकता तो यह है कि पिंपल्स और ब्लैकहेड्स को फोड़ने से अतिरिक्त सूजन, संक्रमण और निशान पड़ सकते हैं। ऐसा करने से आपके फेस पर एक्ने मार्क्स रह जाते हैं, जो देखने में बिल्कुल भी अच्छे नहीं लगते।

इसे ज़रूर पढ़ें-Celeb Beauty Tips: गर्मी से मुरझा गई है त्‍वचा तो चेहरे पर लगाएं घर पर बना 'कॉफी फेस मास्‍क'

मिथ 6: एक्ने खुद ब खुद दूर हो जाते हैं। 

inside myths

सच्चाई- आपने अक्सर सुना होगा कि एक्ने खुद ब खुद ठीक हो जाते हैं। हालांकि, हर बार ऐसा नहीं होता है। यह अपने आप ठीक नहीं होते हैं। अगर इनका सही समय पर उपचार ना किया जाए तो एक्ने बढ़ सकते हैं और खराब हो सकते हैं।

Recommended Video

मिथ 7: केवल ऑयली स्किन पर होते हैं एक्ने

inside myths

सच्चाई- यह सच है कि ऑयली स्किन एक्ने के लिए अधिक प्रोन होती है। लेकिन सिर्फ ऑयली स्किन पर ही एक्ने होते हैं, यह सच नहीं है। हर तरह की स्किन वाली महिलाओं को यह प्रभावित कर सकता है। सभी प्रकार की त्वचा में व्हाइटहेड्स, ब्लैकहेड्स और पिंपल्स हो सकते हैं।

इसे ज़रूर पढ़ें-DIY: चेहरे की त्वचा में कसाव लाने के लिए आप भी ट्राई कर सकती हैं ये होममेड फेस पैक

मिथ 8: मेकअप मुंहासों का कारण बनता है।

inside myths

सच्चाई- यदि आप गलत प्रॉडक्ट्स का उपयोग कर रही हैं तो मेकअप केवल आपकी त्वचा को परेशान कर सकता है। यह एक्ने का कारण तब तक नहीं बनता है, जब तक कि आप रात में उन्हें रिमूव करना नहीं भूलती हैं। इसलिए अपनी स्किन से मेकअप और ऑयल को हटाने के लिए सोने से पहले अपना चेहरा धोना न भूलें। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- Freepik