संतरे और मौसम्बी की तरह किन्‍नू भी खट्टे फलों की एक किस्‍म है। संतरे की तरह किन्नू भी विटामिन-सी से भरपूर होते हैं। जैसा कि हम जानते हैं, विटामिन-सी इम्‍यून सिस्‍टम को मजबूत करता है। इसलिए, कोविड-19 और इसके प्रकारों के कारण इन दिनों में, किन्नू का जूस हमारे अच्छे स्वास्थ्य को बढ़ाता है और इम्‍यूनिटी का निर्माण करता है। 

वास्तव में, विटामिन-सी कोलेजन को मजबूत करने में भी मदद करता है, जो त्वचा के सहायक टिशू हैं। किन्नू खाने या बाहरी त्वचा की देखभाल में इनका इस्‍तेमाल करने से हमें उम्र बढ़ने के कारण दिखाई देने वाले संकेतों में देरी करने में मदद मिल सकती है और त्वचा की सुंदरता भी बढ़ सकती है। लेकिन क्‍या आप जानती हैं कि जिस किन्‍नू के छिलकों को बेकार समझकर फेंक देती हैं उससे भी सर्दियों में निखरी दमकती त्‍वचा पाई जा सकती हैं। किन्‍नू के छिलके आपकी त्‍वचा के लिए कैसे फायदेमंद हो सकते हैं? इस बारे में ब्‍यूटी एक्‍सपर्ट शहनाज हुसैन जी बता रही हैं।

त्‍वचा के लिए किन्‍नू के छिलकों के फायदे 

kinnow peel for skin by shahnaz husain

किन्नू के छिलके भी त्वचा की देखभाल में काफी मदद करते हैं। छिलके त्वचा को टोन करने और पोर्स को टाइट करने के लिए जाने जाते हैं। वे अतिरिक्त तेल को भी अवशोषित करते हैं। ताजी क्रीम या दही जैसी अन्य सामग्री के साथ मिक्‍स करने पर यह त्वचा को हेल्‍दी रखते हुए पोषण देने और सॉफ्ट करने में मदद कर सकते हैं। 

किन्नू के छिलके दही में मिलाकर टैन हटाने में मदद करते हैं। रूखी त्वचा के लिए इन्हें ताजी क्रीम में मिलाएं। सूखे किन्नू के छिलकों के पाउडर को दूध के साथ मिलाकर बॉडी और फेशियल स्क्रब के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

इसे जरूर पढ़ें:आप कभी भी कीनू के छिलके नहीं फेंकेंगे अगर आपको पता होगी ये ट्रिक

बॉडी स्‍क्रब है किन्‍नू के छिलके

कहा जाता है कि छिलकों में फल की तुलना में अधिक विटामिन-सी होता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट भी होते हैं जो त्वचा को स्वास्थ्य बनाए रखने और बहाल करने में मदद करते हैं। छिलके को पूरे शरीर पर स्क्रब या "उबटन" की तरह लगाया जा सकता है।

त्‍वचा दिखती है शाइनी

ऑयली त्वचा के लिए किन्नू के छिलके मास्क और स्क्रब में मिलाए जा सकते हैं, क्योंकि ये तेल सोखते हैं और पोर्स को भी टाइट करते हैं। दूध या दही की मलाई में मिलाने पर सूखे छिलकों का पाउडर एक अच्छा स्क्रब बनाता है। यह त्‍वचा से डेड स्किन सेल्‍स को हटाने और त्वचा को शाइनी बनाने में मदद करते हैं। छिलके में कैल्शियम और पेक्टिन भी होता है।

नॉर्मल से ड्राई त्‍वचा के लिए फेस पैक

kinnow peel pack for skin care

सामग्री 

  • किन्‍नू के छिलकों का पाउडर- 2 चम्मच 
  • दूध की मलाई- 1 चम्‍मच 
  • शहद- 1/4 चम्‍मच 
  • गुलाब जल- आवश्‍यतानुसार 
  • पिसे हुए बादाम का पाउडर- 1/4 चम्‍मच 
  • चोकर- 1/4 चम्‍मच

विधि

  • सभी चीजों को अच्‍छी तरह से मिक्‍स करके पेस्‍ट बना लें।
  • होंठों और आंखों के आसपास की त्‍वचा को छोड़कर, इसे चेहरे पर लगाएं। 
  • 20 मिनट बाद इसे धो लें।

Recommended Video

कॉम्बिनेशन स्किन के लिए फेस पैक  

सामग्री

  • ओट्स- 2 चम्‍मच 
  • किन्‍नू के छिलकों का पाउडर- 2 चम्‍मच 
  • दूध की मलाई- 1/2 चम्‍मच 
  • अंडे का सफेद भाग- 1 
  • गुलाब जल- आवश्‍यकतानुसार

विधि

  • सभी चीजों को अच्‍छी तरह से मिलाकर पेस्‍ट बना लें। 
  • फिर इसे चेहरे पर लगाएं और 20 मिनट बाद धो लें।

ऑयली त्‍वचा के लिए फेस पैक

kinnow peel pack for skin

सामग्री 

  • मुल्‍तानी मिट्टी- 1 चम्‍मच 
  • किन्‍नू के छिलकों का पाउडर- 1 चम्‍मच 
  • दही- 1 चम्‍मच 
  • गुलाब जल- आवश्‍यकतानुसार

विधि

  • सभी चीजों को मिलाकर पेस्ट बना लें। 
  • इसे चेहरे पर लगाएं और 20 मिनट बाद धो लें।

फ्रेश किन्नू के छिलकों को पीसकर पेस्ट भी बनाया जा सकता है। मुल्तानी मिट्टी और गुलाब जल मिलाकर चेहरे पर पैक की तरह लगाएं। ऐसा कहा जाता है कि यह ऑयली त्वचा और मुंहासों की स्थिति में लाभ पहुंचाता है। पैक का उपयोग दोषों और काले धब्बों को कम करने के लिए भी किया जा सकता है।

एंटीऑक्सीडेंट की उपस्थिति के कारण, किन्नू के छिलके का पैक त्वचा पर उम्र बढ़ने के दिखाई देने वाले लक्षणों को कम करने में मदद करता है, इसके युवा गुणों की रक्षा करता है।

किन्‍नू के छिलकों का पाउडर बनाने का तरीका

skin benefits of kinnow peel by expert 

  • किन्नू के छिलकों को इकट्ठा करके धूप में अच्छी तरह सुखा लें। 
  • छिलके को बिना पानी डाले पाउडर कर लें और एक एयरटाइट कंटेनर में रख दें। 
  • इसे फेस पैक या स्क्रब में मिलाएं। 
  • कम मात्रा में तैयार करें ताकी वह ताजा रहें। 
  • यह गर्म और आर्द्र मौसम में अधिक होते हैं।

कई कॉस्मेटिक प्रोडक्‍ट्स में किन्नू एसेंशियल ऑयल का इस्‍तेमाल किया जाता है। यह वास्तव में छिलकों से निकाला जाता है और इसका उपयोग त्वचा और बालों की देखभाल दोनों में किया जाता है। एसेंशियल ऑयल का इस्‍तेमाल अरोमाथेरेपी में भी किया जाता है क्योंकि इसके शांत और एंटी-स्‍ट्रेस लाभ होते हैं। 

इसे जरूर पढ़ें:सर्दियों में अपनी डाइट में जरूर शामिल करें किन्नू, जानें इसके फायदे

आप भी किन्‍नू के छिलकों को बेकार समझकर फेंकने की बजाय इन तरीकों से अपनी त्‍वचा की देखभालकरके उसे ग्‍लोइंग बनाएं। हालांकि, यह फेस पैक नेचुरल चीजों से बने हैं और इनके कोई साइड इफेक्‍ट्स नहीं हैं। लेकिन फिर भी इस्‍तेमाल करने से पहले एक बार पैच टेस्‍ट जरूर कर लें। ब्‍यूटी से जुड़ी ऐसी ही और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image Credit: Shutterstock & Freepik.com