भारतीय घरों में सिरका बहुत अहम किचन इंग्रीडियंट माना जाता है और इसका उपयोग कई तरह से किया जाता है। खाने, पीने, अचार से लेकर साफ-सफाई तर सिरके का उपयोग किया जा सकता है। ऐसे में ब्यूटी के लिए भी सिरके का इस्तेमाल काफी अच्छी तरह से किया जा सकता है। सिरका काफी एसिडिक होता है इसलिए चेहरे पर तो न लगाया जाए वही अच्छा है पर आप इससे पैरों के लिए फुट सोक आसानी से बना सकते हैं।

सिरके का इस्तेमाल आपके पैरों को मुलायम बनाने और जवां बनाए रखने के लिए किया जा सकता है। इससे न सिर्फ नाखूनों और एड़ियों की सफाई की जा सकती है बल्कि इसका एसिडिक नेचर थोड़ी बहुत फंगस को भी खत्म कर देता है। 

सिरके की मदद से पैरों की बदबू, बैक्टीरिया, खराब माइक्रोन्यूट्रिएंट्स और दर्द को कम कर सकता है। पर ये आपके पैरों पर असर कैसा करेगा ये इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप किस तरह का सिरका इस्तेमाल करते हैं।

किस तरह का सिरका पैरों के लिए है सबसे बेस्ट?

पैरों और ब्यूटी ट्रीटमेंट्स के लिए सफेद सिरका और एप्पल साइडर विनेगर सबसे अच्छा साबित हो सकता है। सफेद सिरके में 4-7% acetic acid होता है और एप्पल साइडर विनेगर में 5-6%, इसके अलावा आप फ्रूट विनेगर और हर्बल सिरके से दूर रहें क्योंकि उनमें बहुत सारे एक्स्ट्रा इंग्रीडिएंट्स होते हैं जो उतना असर नहीं दिखाएंगे। 

foot care vinegra

इसे जरूर पढ़ें- Hair fall से बचाने और हेल्दी बनाए रखने के लिए ये 5 ऑयल्स हैं बेस्ट 

पैरों की किन समस्याओं पर असर दिखा सकता है सिरका?

सिरके से बने फुट सोक और पेडिक्योर पैरों की इन समस्याओं को कम कर सकते हैं-

  • पैरों की बदबू
  • पैरों में बैक्टीरिया और फंगस
  • पैरों में मस्से
  • स्किन का हार्ड हो जाना
  • स्किन में झुर्रियां आना 

Recommended Video

कैसे इस्तेमाल करना है सिरका? 

इसे सीधे कॉटन से पैरों पर लगाने की कोशिश न करें ये सही तरीका नहीं है। आप सिरके के साथ कोई और इंग्रीडियंट नहीं सिर्फ थोड़े से गुनगुने पानी का ही इस्तेमाल करें। ऐसा इसलिए क्योंकि किसी भी और इंग्रीडियंट के साथ सिरका रिएक्ट कर सकता है और ये आपकी स्किन के लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है। कुछ लोग सिरके के साथ नींबू का इस्तेमाल भी करते हैं, लेकिन उसकी जरूरत भी नहीं है और साथ ही साथ अगर किसी की स्किन बहुत ज्यादा सेंसिटिव है तो उसे रिएक्शन भी हो सकता है।  

  • 1 कप सिरका
  • 2 कप पानी 
foot care vinegar soak

इसी अनुपात में आपको सिरके और पानी का घोल बनाना है और इसे इतना भरना है कि आपका घोल पैर डुबोने लायक हो जाए। बस इसी तरह से आपको अपने पैरों को डुबाना है और 15 मिनट बाद प्यूमिक स्टोन से उसे घिस लेना है।  

इसके बाद पैरों को अच्छी तरह पानी से धोकर उन्हें पोछें और साथ ही साथ मॉइश्चराइजेशन के लिए पेट्रोलियम जेली या कोई अच्छा मॉइश्चराइजर लगाया जा सकता है। ये दोनों ही मददगार साबित होंगे। आप चाहें तो नारियल का तेल और एलोवेरा जेल मिलाकर भी लगा सकते हैं। नारियल का तेल एंटी-बैक्टीरियल होता है और इसलिए ये पैरों की ड्राईनेस और फंगस आदि को दूर करने में मदद कर सकता है।  

इसे जरूर पढ़ें- किचन की ये तीन सब्जियां ठीक कर सकती हैं चेहरे के डार्क स्पॉट्स, जानें कैसे  

कुछ बातों का ध्यान हमेशा रखें- 

  • अगर आपको कोई चोट लगी है, पैरों में कट है तो आप सिरके वाले इस घोल का इस्तेमाल न करें। 
  • इसे आप हफ्ते में 1 बार कर सकती हैं पर उससे ज्यादा न करें।
  • अगर किसी तरह का स्किन इन्फेक्शन है या फिर स्किन पर सिरका सूट नहीं करता है क्योंकि बहुत ही संवेदनशील स्किन है तो इसका इस्तेमाल न करें। 
  • सिर्फ सफेद सिरका या एप्पल साइडर विनेगर ही लें। लाल सिरका भी इस्तेमाल न करें क्योंकि ये नुकसान पहुंचा सकता है। 
  • डायबिटीज है तो सिरके का इस्तेमाल न करें। इसके लिए आपको डॉक्टर की सलाह लेनी होगी क्योंकि डायबिटीज की स्किन कंडीशन अक्सर इन्फेक्शन का रूप ले लेती हैं। 
  • बहुत देर तक पैर डुबाकर नहीं बैठना है। 15 मिनट ही काफी हैं।  

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।