आजकल पैरों में पहनी जाने वाली पायल, पायजेब की रूनझुन और छमछम से नयी पीढ़ी भी अपना रिश्ता जोड़ रही है, अब यह फैशन का नया ट्रेंड बन चुकी है। लेकिन जब शॉर्ट्स, वनपीस और थाई हाई स्लिट ड्रेस पहनने वाली लड़कियां अपने पैरों पर पायल से बने काले निशान देखती हैं तो वे जल्द से जल्द  इन निशानों और दाग-धब्बों से छुटकारा पाना चाहती हैं।

महिलाओं के सोलह श्रृंगारों में से प्रमुख पायल न केवल पैरों की खूबसूरती निखारती है बल्‍कि आजकल के फैशन में भी शुमार हो गई है। यूं कहा जाए कि आजकल पायल का ट्रेंड इतना ज्यादा बढ़ गया है कि न सिर्फ शादीशुदा महिलाएं बल्कि कुंवारी लड़कियां भी इसे फैशन एक्सेसरी के रूप में पहनती हैं और पैरों की खूबसूरती बढ़ाती हैं। लेकिन कई बार पैरों को खूबसूरत बनाने वाली ये पायल पसीने और धूल मिट्टी के संपर्क में आने के कारण आपके पैरों पर भद्दे निशान भी बना देती है। 

ये निशान अक्सर इतने ज्यादा गहरे होने लगते हैं कि ये पैरों की खूबसूरती को भी छीन लेते हैं। अगर आप भी ऐसी किसी समस्या से परेशान हैं तो सुप्रसिद्ध कॉस्मेटोलॉज़िस्ट, ऐस्थिटीशियन व एल्पस कॉस्मेटिक क्लीनिक एंड एकेडमी की फाउंडर डॉयरेक्टर, भारती तनेजा जी बता रही हैं कि पैरों में पायल से पड़ने वाले निशानों से कुछ घरेलू नुस्खे आजमाकर कैसे छुटकारा पाया जा सकता है। 

शुगर स्क्रब

sugar mask

शुगर स्क्रब भी पैरों पर पड़े निशानों को दूर करने में मदद करता है।  शुगर स्क्रब के बारे में सबसे खास बात यह है कि यह प्राकृतिक है और यह स्किन के मॉइश्चर को बनाए रखता है जिससे स्किन हाइड्रेट रहती है। अगर आपकी स्किन सेंसेटिव है, तो आपको दो चम्मच चीनी को 4 चम्मच ऑलिव ऑयल में मिला के पैरों पर लगाएं। फिर गोल -गोल घुमाते हुए धीरे-धीरे मसाज करें। कुछ देर बाद पानी से धो लें। ऐसा आपको हर दूसरे दिन करना होगा। इन निशानों को जल्दी मिटाने के लिए आप 2 बड़े चम्मच कैलेमाइन पाउडर में डेढ़ चम्मच ओट्स, टमाटर का पल्प और शहद डाल कर स्क्रब भी कर सकती हैं। इस पेस्ट को पैरों पर रोजाना स्क्रब करें। कुछ ही दिनों में निशान हल्के हो जाएंगे। 

खीरे का इस्तेमाल 

cucumber remedy for ankletmarks

खीरे में मिलने वाले फायदेमंद एंटीऑक्सीडेंट और कई विटामिन भी पैरों की त्वचा पर पड़े दाग-धब्बों को धीर-धीरे से हटा देते हैं। खीरे को छीलकर इसका पेस्ट बना लें।  इसमें दो चम्मच गुलाब जल मिलाएं और फिर इस मिक्सचर को दाग-धब्बों वाली जगह पर लगाएं. जब यह सूख जाए तो इसे साधारण पानी से धो लें। आप इसे हर रोज़ लगा सकती हैं। 

एप्पल साइडर विनेगर

पायल के निशानों को ठीक करने के लिए सेब का सिरका यानी एप्पल साइडर विनेगर बहुत फायदेमंद है,  इसमें बेहतरीन ब्लीचिंग एजेंट होते हैं, जो त्वचा को टैनिंग जैसी समस्याओं से छुटकारा दिलाने में मददगार होते हैं।  हालांकि, इसका उपयोग बहुत सावधानी से किया जाना चाहिए। भारती तनेजा जी बताती हैं कि अगर आपकी सेंसिटिव स्किन है, तो आप इसके उपयोग से बचें। सामान्य या रूखी त्वचा वाले लोगों को त्वचा पर होने वाले किसी भी नुकसान से बचने के लिए इसका उपयोग उसके कंसन्ट्रेटेड  रूप में नहीं करना चाहिए। इसके उपयोग के लिए 6 चम्मच पानी में 2 चम्मच सेब का सिरका मिलाकर  रुई को उसमें भिगोएं और उसे निशान और दाग-धब्बों पर लगाएं। इसे हर रोज़ ऐसे ही लगाएं। इसे साफ करने के बाद कोई मॉइश्चाराइजर भी जरूर लगाएं। 

पैडीक्योर जरूर करवाएं

padicure for foot

15 दिन में एक बार किसी अच्छे ब्यूटी क्लीनिक से पैडीक्योर जरूर करवाएं। इससे डेड स्किन और टैनिंग रिमूव होगी व त्वचा मुलायम हो जाएगी। अगर त्वचा ज्यादा काली पड़ गई है तो पैडीक्योर के साथ-साथ ब्लीच भी लगवा लें, क्योंकि टैनिंग को रिमूव करने के लिए ब्लीच बहुत हद तक कारगर है।  इसके अलावा घर पर पांवों को साफ करने के लिए आधी बाल्टी गरम पानी में 1 बड़ा चम्मच शैंपू, 2 चम्मच हाईड्रोजन पैराक्साइड और 1 चम्मच अमोनिया मिलाएं। 10 मिनट तक पैरों को इस पानी में भिगोए रखें और फिर प्यूमिक स्टोन से साफ कर के साफ पानी से धोएं व क्रीम से मसाज कर लें। 

नींबू का रस और गुलाबजल 

lemon remedy anklet

नींबू किसी भी त्वचा के निशान को हल्का करने के लिए नेचुरल ब्लीच की तरह काम करता है। इसलिए यदि आपके एंकल में पायल से निशान पड़ गए हैं तो आप इस जगह पर आधे कटे नींबू में गुलाब जल की कुछ बूंदें मिलाएं और प्रभावित हिस्से पर 5 मिनट तक रगड़ें। इसके लिए आप नींबू के रस और गुलाबजल के मिश्रण को किसी कॉटन में लगाकर भी प्रभावित स्थान पर अप्लाई कर सकती हैं। 10 मिनट तक नींबू का रस और गुलाबजल लगाए रखने के बाद एंकल को पानी से धो लें। इस नुस्खे को कम से कम 15 दिन तक आजमाएं। ये निशानों को हल्का करने में मदद करेगा।  

इसे जरूर पढ़ें:टैनिंग से पैर हो गए हैं काले तो यह घरेलू उपाएं अपनाएं, मिनटों में निखर जाएगी त्वचा

Recommended Video

यहां बताए गए सभी नुस्खे प्राकृतिक हैं लेकिन सबकी त्वचा का प्रकार अलग होता है। इसलिए किसी भी नुस्खे को आजमाने से पहले त्वचा पर पैच टेस्ट जरूर कर लें और विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें। 

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit: freepik