बहुत जल्द ही सर्दियों का मौसम दस्तक देने वाला है। ऐसे में लड़कियों के लिए सबसे बड़ी चिंता की बात होती है अपनी त्वचा और बालों का ध्यान रखना। आमतौर पर सर्दियों का ड्राई मौसम त्वचा को भी ड्राई बना देता है और बालों में कई समस्याएं जैसे डैंड्रफ और हेयर फॉल को जन्म देता है। सर्दियों में किसी भी तरह की समस्या से छुटकारा पाने के लिए यह देखा गया है कि जड़ी-बूटियों में स्वास्थ्य और सौंदर्य दोनों के लिए कई लाभकारी गुण होते हैं। 

जड़ी बूटियों में विभिन्न शक्तिशाली उपचार गुण भी होते हैं। इनमें विटामिन, खनिज, एंजाइम और अन्य मूल्यवान तत्व भी होते हैं, जो त्वचा और बालों के स्वास्थ्य और सुंदरता के लिए महत्वपूर्ण होते हैं। आइए ब्यूटी एक्सपर्ट शहनाज़ हुसैन से जानें कि विंटर सीजन में कौन से हर्ब्स से आप अपनी खूबसूरती बढ़ा सकती हैं। 

तुलसी 

tulsi benefits

अधिकांश घरों में तुलसी का प्रयोग आमतौर पर कई बीमारियों के लिए किया जाता है। दरअसल, इसे सर्दी-खांसी में मदद करने के लिए एक औषधि के रूप में माना जाता है, जो सर्दियों में आम है। इसमें त्वचा और स्कैल्प के लिए सुखदायक और उपचारात्मक क्रियाएं भी होती हैं। सौंदर्य उपचारों के लिए तुलसी के पत्तों को पानी में उबाल लें। उसे ठंडा हो जाने दें। पत्तों का पेस्ट बनाकर त्वचा पर लगाएं। यह त्वचा की सूजन को कम करने और दानों को ठीक करने में मदद करती है। तुलसी त्वचा को भी उज्ज्वल करती है और फ्लेवोनोइड्स के कारण त्वचा में एक चमक जोड़ती है, जिसमें एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव होता है।

इसे जरूर पढ़ें:अपने मॉर्निंग स्किन केयर रूटीन में इस तरह करें 'तुलसी' को शामिल

हल्दी 

हल्दी अपने एंटीसेप्टिक गुणों के कारण प्राचीन काल से हमारे पारंपरिक औषधीय और सौंदर्य सहायता का एक हिस्सा है। यह दर्द और सूजन को कम करने में भी मदद करती है। प्राचीन काल से, हल्दी को बॉडी पैक, या "उबटन" में जोड़ा जाता था। दरअसल, यह अपने कई सौंदर्य गुणों के कारण शादी की रस्मों का हिस्सा बन गयी है। हल्दी त्वचा को मुलायम और चमकदार बनाने में मदद करती है। यह त्वचा की टैनिंग को हटाने और त्वचा के रंग को निखारने में मदद करती है। त्वचा से टैन हटाने के लिए दही में एक चुटकी हल्दी मिलाएं और रोजाना चेहरे पर लगाएं। लगभग 20 मिनट बाद चेहरे को धो लें। ऐसा काने से टैनिंग हटने के साथ त्वचा में निखार भी आता है। 

आंवला 

amla benefits

आंवला आयुर्वेदिक उपचार में सबसे लोकप्रिय सामग्री में से एक है। सर्दियों में कच्चा आंवला आसानी से मिल जाता है। जहां तक त्वचा और बालों के स्वास्थ्य की बात है, तो ऐसा कहा जाता है कि यह बालों को सफेद होने से रोकता है। इसलिए रोजाना एक कच्चे आंवले का रस एक गिलास पानी में मिलाकर पिएं। आंवला हेयर ऑयल बनाने के लिए एक मुट्ठी सूखा आंवला लें। 100 मिलीलीटर शुद्ध नारियल तेल में मिलाकर दरदरा पीस लें। इसे किसी एयरटाइट कांच की बोतल में भरकर रख लें और बोतल को रोजाना करीब 15 दिनों तक धूप में रखें। फिर तेल को छानकर स्टोर कर लें। इस तेल को बालों में लगाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।

इसे जरूर पढ़ें:झुर्रियों से बचना चाहती हैं तो ब्यूटी गुरु शहनाज हुसैन से जानिए आंवले का सही इस्तेमाल

एलोवेरा जेल 

applying aloe vera

एलो वेरा जेल त्वचा और बालों दोनों के लिए सबसे उपयोगी सामग्री में से एक है। खासकर सर्दियों के दौरान, क्योंकि यह एक शक्तिशाली मॉइस्चराइजर है और त्वचा और बालों के सूखेपन को दूर करने में मदद करता है। इसमें जिंक होता है, जिसका घाव, जलन और चोट लगने पर उपचार करने पर प्रभावी रूप से काम करता है। एलो वेरा जेल मृत त्वचा कोशिकाओं को नरम करता है और उन्हें हटाने में मदद करता है, जिससे त्वचा चिकनी और चमकदार हो जाती है। त्वचा को ग्लोइंग बनाए रखने के लिए चेहरे पर रोजाना एलो वेरा जेल लगाएं और 15 मिनट बाद धो लें।

कैमोमाइल

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि जैसे-जैसे सर्दी बढ़ती है, त्वचा शुष्क और डिहाइड्रेट हो सकती है, जिससे संवेदनशील त्वचा शुष्क, लाल, परतदार पैच के साथ हो सकती है। कैमोमाइल टी बैग्स का उपयोग शुष्क त्वचा की संवेदनशीलता को शांत करने के लिए किया जा सकता है। इन्हें गर्म पानी में उबाल लें। पानी को ठंडा करें और इसे चेहरे को धोने के लिए इस्तेमाल करें और इसे बालों के लिए भी शैम्पू के बाद धोने के लिए इस्तेमाल करें। 

गुलाब 

यह सबसे प्रसिद्ध पौधों के उत्पादों में से एक है, विशेष रूप से भारत में, और प्राचीन काल से इसकी सुंदरता, सुगंध और चिकित्सीय गुणों के लिए बेशकीमती रहा है। गुलाब जल एक शक्तिशाली त्वचा टॉनिक है। यह त्वचा की सतह पर रक्त परिसंचरण में भी सुधार करता है। कहा जाता है कि गुलाब जल में विटामिन ए, सी, डी. ई और बी3 होता है। इसमें कैल्शियम और पोटेशियम जैसे खनिज भी होते हैं। यह संवेदनशील त्वचा सहित सभी प्रकार की त्वचा के लिए उपयुक्त है। वास्तव में, यह त्वचा को तैलीय बनाए बिना, सर्दियों के दौरान तैलीय त्वचा को मॉइस्चराइज़ कर सकता है। एक चम्मच शुद्ध ग्लिसरीन में 100 मिलीलीटर गुलाब जल मिलाएं। एक एयरटाइट बोतल में रखें और चेहरे और बाहों पर सूखापन दूर करने के लिए इसे लगाएं।

Recommended Video

ब्राह्मी 

ब्राह्मी को भारतीय पेनीवॉर्ट भी कहा जाता है और यह आयुर्वेदिक बालों की देखभाल के उत्पादों में एक बहुत ही सामान्य घटक है। इसे तनाव संबंधी बालों के झड़ने में लाभकारी बताया गया है। अगर आपको ब्राह्मी की ताजी पत्तियां मिल जाएं तो इसका पेस्ट बनाकर बालों पर पैक की तरह लगाएं। इसका पेस्ट बनाने के लिए थोड़ा सा पानी मिलाएं और पैक को बालों पर लगाएं, 20 से 30 मिनट के बाद धो लें। 

इन सभी हर्ब्स का इस्तेमाल करके आप विंटर्स के सीजन में अपनी त्वचा और बालों को खूबसूरती को बढ़ा सकती हैं। 

(शहनाज हुसैन भारत की फेमस ब्यूटी और हेयर केयर एक्सपर्ट्स में से एक हैं।  इतना ही नहीं, वह 'शहनाज हुसैन ग्रुप' की चेयरपर्सन, फाउंडर और मैनेजिंग डायरेक्टर भी हैं। शहनाज हुसैन के कई हर्बल प्रोडक्‍ट्स आपको बाजार में आसानी से मिल जाएंगे। ब्‍यूटी के क्षेत्र में आर्यूवेद को बढ़ावा देने के लिए उन्‍हें कई अवॉर्ड्स से नवाजा भी जा चुका है।)

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।