क्‍या आपने परियों की कहानी सुनते हुए रात के समय अपने सिर में दादी मां से तेल की मालिश कराई है? क्‍या आपने उनका बताया शिकाकाई का इस्तेमाल बालों में किया है? अगर हां, तो आपका बचपन सुनहरा था! अपनी दादी मां को इसके लिए धन्यवाद करें क्‍योंकि उन्‍होंने केमिकल्‍स डैमेज को दूर रखने के लिए नियमित रूप से बालों के तेल की मालिश और नेचुरल चीजों के इस्‍तेमाल करने की आदत डाली है।

दादी मां के कुछ नुस्खे हमारे बड़े होने के वर्षों बाद भी हमारे लिए उपहार की तरह है। कुछ दिनों पहले नुशरत ने इंस्‍टाग्राम के माध्‍यम से एक फोटो शेयर की थी। इसमें, एक्‍ट्रेस अपनी मां और दादी के साथ सिर की मालिश के लिए लाइन में बैठी दिखाई दे रही थीं। तो, आइए कुछ अच्छे पुराने नुस्‍खों पर फिर से विचार करें जो अभी भी बालों को हेल्‍दी और सुंदर बनाने के लिए काम करते हैं। 

हालांकि, आधुनिक जीवन हमें ऐसा महसूस करा रहा है कि हमें अपने बालों को सुंदर बनाने के लिए लेटेस्‍ट हेयर केयर प्रोडक्‍ट्स का इस्‍तेमाल करना चाहिए और आज बाजार में बहुत सारे प्रोडक्‍ट्स उपलब्ध हैं। लेकिन इन प्रोडक्‍ट्स में निवेश करने के बाद अभी भी हम पुरानी दादीजी के नुस्खे के पीछे दौड़ते हैं। ऐसा इसलिए क्‍योंकि पीढ़ियों से चले आ रहे ये प्राकृतिक, घर में बने हेयर केयर टिप्स बालों के साथ कभी भी गलत नहीं कर सकते हैं।

बालों की देखभाल के लिए शिकाकाई का इस्तेमाल

shikakai for long hair tips

शिकाकाई एक झाड़ी जैसा पेड़ है जो भारत में उगता है और बालों के लिए इसके स्वास्थ्य लाभ पाने के लिए सदियों से शिकाकाई का इस्‍तेमाल किया जा रहा है। आपने देखा होगा आपकी दादी-मां भी अक्‍सर इसे इस्‍तेमाल करने की सलाह देती हैं। 

इसे एक प्राकृतिक शैम्पू के रूप में जाना जाता है और पौधे की फली अन्य एंटीऑक्सीडेंट के साथ यह विटामिन-ए, डी, ई, और के से भरपूर होता है। ये बालों के रोम को पोषण देने और बालों की ग्रोथ को बढ़ावा देने के लिए सूक्ष्म पोषक तत्व प्रदान करने में मदद करता है।

शिकाकाई के पत्ते, फली और छाल को सुखाकर पीसकर पाउडर बना लिया जाता है और जब पानी में मिलाया जाता है, तो यह बालों पर इस्तेमाल होने वाला पेस्ट बन जाता है। यह बालों की ग्रोथ को बढ़ावा देता है, डैंड्रफ को कम करता है, दो मुंहे बालों को रोकता है और बालों को मुलायम और शाइनी बनाता है।

इसे जरूर पढ़ें: बालों की समस्‍याओं से छुटकारा दिलाते हैं ये 3 स्‍पेशल हेयर पैक, आप भी लगाएं

बालों को कलर करने के लिए मेंहदी

मेंहदी एक प्राकृतिक पौधा है जो बालों को काला या बरगंडी या नारंगी कलर भी दे सकता है। इसमें एंटी-फंगल गुण भी होते हैं, यही कारण है कि यह डैंड्रफ को रोकने में मदद करता है और बालों के झड़ने को कम करता है, और इसमें विटामिन ई होता है, जो बालों को मुलायम बनाने में मदद करता है।

यदि आप इसे चुनते हैं, तो सावधान रहें कि आप किस मेहंदी का उपयोग करते हैं, क्योंकि कुछ ऐसे मिश्रण हो सकते हैं जिनमें केमिकल्‍स होते हैं।

बालों के लिए तेल का इस्‍तेमाल

oil massage for long hair tips

बालों में नमी वापस लाने में मदद करने के लिए भारत में कई अलग-अलग प्रकार के हेयर ऑयल का उपयोग किया जाता है, जिनमें से प्रत्येक में अलग-अलग गुण होते हैं। बालों में तेल लगाने की प्रथा सदियों से चली आ रही है और आयुर्वेदिक चिकित्सा में इसकी सिफारिश की गई है।

यह ब्‍लड सर्कुलेशन को बढ़ावा देने, नमी जोड़ने और स्‍कैल्‍प में तेल मालिश के माध्यम से बालों के रोम को उत्तेजित करके काम करता है। भारत में उपयोग किए जाने वाले कुछ तेल आंवला तेल, नारियल तेल, अरंडी का तेल और बादाम का तेल हैं।

Recommended Video

बालों को सुंदर बनाता है आंवला

आंवले में मौजूद एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीऑक्सीडेंट, एंटीबैक्‍टीरियल और एक्सफोलिएटिंग गुण होते हैं जो हेल्‍दी स्कैल्प और बालों की हेल्‍दी ग्रोथ को बनाए रखने में बहुत मदद करते हैं। 

दो बड़े चम्मच नारियल तेल में एक बड़ा चम्मच आंवला का रस या आंवला पाउडर मिलाएं और उबाल आने तक गर्म करें। इस तेल को छान लें और रात को सोने से पहले अपने स्कैल्प पर मसाज करें। अगली सुबह, हमेशा की तरह अपने बालों को शैम्पू करें। इसका इस्‍तेमाल हफ्ते में एक बार करें। एक अन्य विकल्प यह है कि आधा कप आंवले के पाउडर में एक चौथाई कप गर्म पानी मिलाएं और इसे लगभग 10 मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें। पेस्ट को अपने बालों पर लगाएं और इसे 15 से 20 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर इसे धो लें।

इसे जरूर पढ़ें: शिल्‍पा शेट्टी जैसे हेल्‍दी बाल चाहती हैं तो दादी-मां के ये 3 नुस्‍खे अपनाएं

बालों के लिए मेथी का इस्‍तेमाल

fenugreek seeds for long hair tips

मेथी एक सामान्य प्राकृतिक घटक के रूप में जाना जाता है जो बालों को असमय सफेद होने से बचाता है और जिद्दी डैंड्रफ के खिलाफ एकदम सही मास्‍क है। साथ ही मेथी के बीज बालों को जड़ों से मजबूत और पोषण देने में मदद करते हैं, झड़ते बालों से लड़ने में प्रभावी होते हैं और आपके बालों के समग्र बनावट में सुधार करते हैं। 

मेथी के दानों को रात भर पानी में भिगो दें और फिर उन्हें पीसकर पेस्ट बना लें। इसे स्कैल्प पर लगाएं, कुछ घंटों के लिए छोड़ दें और फिर अपने बालों को शैम्पू से धो लें। मेथी का उपयोग करने का एक और तरीका है, मेथी पाउडर तैयार करें और तिल के तेल में मिलाकर एक घंटे के लिए बालों पर लगाने के बाद बालों को धो लें।

क्या आपने इनमें से कोई नुस्‍खा आजमाया है? यदि हां, तो रिजल्‍ट कैसा रहा? हमारे साथ फेसबुक के माध्‍यम से शेयर करें। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।