आज के समय में महिलाएं अपने बालों को एक डिफरेंट लुक देने के लिए कलर करवाना काफी पसंद करती हैं। यूं तो महिलाएं हेयर कलर करवाने के लिए पार्लर का रूख करती हैं, लेकिन पिछले डेढ़ सालों में चीजें जिस तरह बदली हैं, उसके कारण महिलाओं ने अपने ब्यूटी और हेयर केयर करना खुद ही सीख लिया है। आज के समय में अधिकतर महिलाएं खुद घर पर ही हेयर कलर करना पसंद करती हैं। इससे उनके पैसों व समय की बचत भी हो जाती है।

हालांकि, कई बार ऐसा होता है कि बालों को कलर करने के बाद उन्हें काफी नुकसान होता है। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि आपके हेयर कलर में कई तरह के हार्मफुल इंग्रीडिएंट होते हैं। जिसके बारे में आपको जानकारी नहीं होती है और इसलिए आप बिना सोचे-समझे इनका इस्तेमाल कर लेते हैं। तो चलिए आज इस लेख में हम आपको हेयर कलर में मौजूद कुछ ऐसे ही हार्मफुल इंग्रीडिएंट्स के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें आपको उन्हें अप्लाई करने से पहले अवश्य बचना चाहिए-

अमोनिया 

amonia in hair colour

अमोनिया एक ऐसा इंग्रीडिएंट है, जो आपके बालों को बहुत अधिक नुकसान पहुंचा सकता है और इसलिए इससे हर कीमत पर बचा जाना चाहिए। हालांकि, हेयर कलर में यह इंग्रीडिएंट होना बेहद आम है, क्योंकि यह कलर को बालों में सेट करने में मदद करता है। हालांकि, इस इंग्रीडिएंट के कारण अंत में बाल रूखे, कमजोर व अनहेल्दी बन जाते हैं। इतना ही नहीं, इसमें एक भयानक गंध भी होती है जो नाक और आंखों को परेशान करती है, जो बाद में गंभीर बीमारियों का कारण बन सकती है।

हाइड्रोजन पेरोक्साइड

पेरोक्साइड या हाइड्रोजन पेरोक्साइड को अक्सर ब्लीच के विकल्प के रूप में प्रयोग किया जाता है। ऐसा माना जाता है कि यह कम हार्श होते हैं। हालांकि, यह पूरी तरह से सच नहीं है। पेरोक्साइड आपको बालों को लाइटन करने के साथ-साथ क्यूटिकल्स को डैमेज करते हैं, जिससे फ्रिज़, स्प्लिट एंड्स और यहां तक कि लंबे समय में हेयर फॉल की वजह भी बनते हैं।

सल्फेट्स 

sulphates in hair color

सल्फेट्स भी बालों के लिए किसी विलेन से कम नहीं है। यह आपके बालों को बहुत अधिक डैमेज कर सकते हैं। हालांकि, कुछ हेयर डाई में सल्फेट मिलाया जाता है। हालांकि, जब ब्लीच के साथ सल्फेट का इस्तेमाल किया जाता है, तो यह आपके बालों को बहुत कमजोर बना सकता है, जिससे वह तेजी से टूटने लगते हैं।

इसे भी पढ़ें : इन 5 आसान टिप्स से लंबे समय तक बना रहेगा आपका हेयर कलर

पैराफेनिलेनेडियमिन

पैराफेनिलेनेडियम, या पीपीडी, का इस्तेमाल हेयर कलर्स में होना बेहद ही आम है, क्योंकि यह नए कलर को आपके मौजूदा पिगमेंट की जगह लेने में मदद करता है, लेकिन क्या आपको पता है कि यह आपकी हेल्थ के लिए बिल्कुल भी अच्छा नहीं है। इसका मतलब है कि इसके अत्यधिक संपर्क से श्वसन और हृदय संबंधी और अन्य स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का आपको सामना करना पड़ सकता है।  

इसे भी पढ़ें : हेयर कलरिंग को लेकर यह पांच मिथ्स हैं बेहद पॉपुलर, जानिए आप भी

रखें इन बातों का ध्यान

hair colour ingredients to avoid

बाजार में मिलने वाले हेयर कलर्स में तो आपको केमिकल मिलेंगे ही और इन्हें पूरी तरह से अवॉयड करना शायद आपके लिए संभव ना हो। हालांकि, जब इन्हें बहुत कम, मॉडरेट क्वांटिंटी में उपयोग किया जाता है, तो शायद यह आपको नुकसान नहीं पहुंचाते हैं। लेकिन सबसे अच्छा तरीका है कि आप बाजार में मिलने वाले प्रॉडक्ट से बचें और नेचुरल इंग्रीडिएंट्स जैसे मेंहदी, गाजर, अर्निका आदि का विकल्प चुनें। यह आपके बालों को कलर करने के साथ-साथ उन्हें पैम्पर भी करेंगे। साथ ही साथ आपके बालों को किसी भी तरह के केमिकल्स व उनके नुकसान नहीं उठाने पड़ेंगे।

Recommended Video

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।

Image Credit- Freepik