रूमा के कान में बहुत ज्यादा दर्द था। ऑफिस में काम करना भी उसके लिए मुश्किल हो रहा था। मगर, दूसरे दिन जब वह ऑफिस आई तो उसको सुनने में बहुत दिक्क्त हो रही थी। सभी ने उसको डॉक्टर के पास जाने की सलाह दी। जब डॉक्टर ने रूमा का कान देखा तो उसने बेहद चौकाने वाला खुलासा किया। रूमा के कान के परदे में छेद हो गया था। इसका कारण जब डॉक्टर ने जानने की कोशिश की तो रूमा ने बताया कि वह कान साफ रखने के लिए अक्सर कानों में उंगलियां डालती थी। इस वजह से उसके कान के पर्दे में छेद हो गया था। वैसे रूमा अकेली नहीं जो इस एक गलती के कारण अपने सुनने की शक्ति खो बैठी। ऐसे बहुत सारे लोग हैं जो अलग-अलग तरह से कानों को साफ करने के लिए कभी उंगली तो कभी दूसरे पैतरे अपनातें हैं। मगर, कान मनुष्य के शरीर को बहुत ही सेंसेटिव हिस्सा होता है। इसमें जमी वैक्स को खुद से निकालना आसाना नहीं है। अगर आप कान में कुछ डाल कर वैक्स निकल रही हैं तो इसे आज ही बंद कर दीजिए क्योंकि यह आपके कान को इंफैक्टेड कर सकता है। चालिए हम आपको ऐसी तीन बड़ी गलतियां बताते हैं, जिसके कारण आपके कान खराब हो सकते हैं। 

causes of hearing loss in one ear

कानों में उंगलियां डालना 

कई लोगों की आदत होती है कि वह कान में जमे वैक्स जिसे आम भाषा में लोग मैल भी कहते हैं, उसे निकालने के लिए कोई नोकीली चीज या फिर उंगली डालते हैं और वैक्स निकालने की कोशिश करते हैं। इस प्रयास में कई बार वह सफल भी हो जाते हैं। मगर, जब आप वैक्स को निकाल पाने में सफल नहीं होते तो इस चक्कर में कई बार आप कानों के पर्दों को नुकसान पहुंचा बैठते हैं। इससे आपके सुनने की क्षमता खत्म हो जाती है। इतना ही नहीं कानों में इनफैक्शन हो जाता है। अगर आप डायबिटिक हैं तो आप के कानों में बड़ा घाव भी हो सकता है। यह घाव जल्द ठीक भी नहीं हो सकता। इसलिए ऐसा करने से बचें। कानों को साफ करने के लिए बजार में ईयरबड्स आतें हैं। इसका इस्तेमाल भी न करें। अगर आपको कान की सफाई करनी है तो केवल उसके बहारी हिस्से को ईयर बड से साफ करें। इसे काने के अंदर कतई न ले जाएं। 

deafness definition

ईयरफोन की आवाज 

आजकल ईयरफोन का फैशन है। लोग महंगे-महंगे ईयरफोन खरीदते हैं और तेज आवाज में गाने सुनते हैं। मगर, इससे बेशक आप अभी अच्छी तरह से गाना सुन पा रही हों मगर, कुछ समय बाद आपकी सुनने की क्षमता कम हो जाएगी और आपको तेज आवाज में ही कोई बात सुनाई देगी। तेज आवाज से कान कुछ समय के लिए सुन्न हो जाते हैं। ऐसा लगातार होता है तो उससे सुनने की क्षमता खत्म होती जाती है। 

कान के दर्द को नजरअंदाज करना 

अक्सर आपने लोगों को देखा होगा, जो कान में तेल या फिर कोई ईयर ड्रॉप डाल लेते हैं। ऐसे में हो सकता है आपको कुछ समय के लिए आराम मिल जाए मगर, डॉक्टर से पूछे बगैर जो स्थान आप देख भी नहीं सकती है उसका खुद इलाज करना बेहद रिस्की है। अगर आपके कान में दर्द है या कान से कोई पदार्थ निकल रहा है तो आपको इसका इलाज खुद करने से पहले डॉक्टर से जरूर पूछ लेना चाहिए। कान एक ऐसा अंग है जिसे आप खुद नहीं देख सकते। इसलिए आपको इसके अंदर क्या हो रहा यह पता भी नहीं चल पाता। आपको हमेशा डॉक्टर से ही पूछ कर कान में कुछ भी डालना चाहिए।