• ENG
  • Login
  • Search
  • Close
    चाहिए कुछ ख़ास?
    Search

प्रोसेस्ड फूड का सेवन करने से बच्चों की सेहत को हो सकते हैं यह नुकसान

अगर बच्चा प्रोसेस्ड फूड का सेवन आवश्यकता से अधिक करता है तो इससे उसे कई नुकसान हो सकते हैं। जानिए इस लेख में।
author-profile
  • Mitali Jain
  • Editorial
Published -05 Jul 2022, 13:26 ISTUpdated -05 Jul 2022, 15:48 IST
Next
Article
processed food is harmful

भोजन और सेहत का एक गहरा नाता है। अच्छी सेहत के लिए सबसे जरूरी होता है भोजन का ध्यान रखना। यूं तो हेल्दी फूड का सेवन करना हर किसी के लिए आवश्यक होता है। लेकिन बच्चों के लिए इसका महत्व कई गुना बढ़ जाता है। ऐसा इसलिए भी है, क्योंकि इस अवस्था में बच्चे ग्रोथ कर रहे होते हैं, जिससे हर फूड आइटम का असर उनकी ग्रोथ व ओवर ऑल हेल्थ पर पड़ता है।

chief dieticians ritika quotes on processed food

वहीं, दूसरी ओर बच्चे अपनी डाइट को लेकर बहुत अधिक लापरवाह होते हैं और इसलिए वह चिप्स आदि खाना बेहद पसंद करते हैं। यह ऐसे फूड हैं, जिन्हें प्रोसेस्ड फूड की कैटेगिरी में रखा जाता है और बच्चों के लिए इनका सेवन कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं की वजह बन सकता है। इसलिए बच्चों की डाइट से इन्हें बाहर ही रखने की सलाह दी जाती है। तो चलिए आज इस लेख में दिल्ली के मैक्स हेल्थकेयर अस्पताल की चीफ डायटीशियन रितिका समादार आपको बता रही हैं कि प्रोसेस्ड फूड बच्चों के लिए किस तरह हानिकारक है-

पोषक तत्वों की कमी 

lack of nutrition in kids

पैकेज्ड व प्रोसेस्ड फूड में बच्चों के लिए पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व जैसे कैल्शियम व प्रोटीन की कमी होती है। जिसके कारण यह स्वाद में तो अच्छे लगते हैं, लेकिन वास्तव में इनके सेवन से बच्चे को बेहतर ग्रोथ के लिए किसी भी तरह का पोषक तत्व प्राप्त नहीं होता है। वहीं, दूसरी ओर प्रोसेस्ड फूड को खाने से जब उनका पेट भर जाता है तो वह एक मील से मिलने वाले पोषक तत्व को स्किप कर देते हैं।

इसे जरूर पढ़ें- 1 साल के बच्चे का कैसा होना चाहिए डाइट चार्ट, डायटीशियन से जानें पोषण से भरपूर फूड लिस्ट

कैलोरी काउंट होता है अधिक

यह भी प्रोसेस्ड फूड के सेवन का एक बहुत बड़ा नुकसान है। चूंकि इस तरह के फूड आइटम का कैलोरी काउंट अधिक होता है और इसलिए जब बच्चे इनका सेवन करते हैं तो उनका कैलोरी काउंट बढ़ जाता है। यह ऐसी कैलोरी होती है, जिन्हें empty calories कहा जाता है। यह अतिरिक्त कैलोरी के रूप में बच्चे की बॉडी में जमा हो जाती है, जिससे बच्चे को मोटापे की समस्या हो सकती है। यह मोटापे की समस्या आगे चलकर बच्चे में अन्य कई हेल्थ प्रॉब्लम्स की वजह भी बन सकती है। 

नमक की अधिकता

lack of sodium in kidsअमूमन यह देखने में आता है कि प्रोसेस्ड फूड में नमक या सोडियम कंटेंट बहुत अधिक होता है। बच्चों की डाइट में आवश्यकता से अधिक नमक को शामिल करना उनकी सेहत के लिए बिल्कुल भी उचित नहीं है। जो बच्चे अधिक मात्रा में प्रोसेस्ड फूड का सेवन करते हैं या फिर उनकी डाइट में सोडियम कंटेंट हाई होता है, तो ऐसे बच्चों में हाइपरटेंशन या किडनी संबंधी स्वास्थ्य शिकायतें होने की संभावना काफी अधिक रहती हैं।

Recommended Video

ओरल हेल्थ पर असर

आपको शायद पता ना हो, लेकिन प्रोसेस्ड फूड बच्चे की ओरल हेल्थ को भी बहुत अधिक प्रभावित करते हैं। आलू के चिप्स, बन्स, कुकीज, बिस्कुट और पैकेज्ड व प्रोसेस्ड फूड में रिफांइड कार्ब्स पाए जाते हैं, जो बच्चे के दांतों से चिपककर दांतों की सड़न का कारण बनते हैं। इतना ही नहीं, अगर बच्चा बहुत अधिक प्रोसेस्ड फूड का सेवन करता है तो इससे उन्हें दांतों के दर्द के अलावा मसूड़ों में सूजन व अन्य ओरल हेल्थ समस्याओं का भी सामना करना पड़ सकता है।

इसे जरूर पढ़ें- छोटी-छोटी बात पर भी होती है घबराहट और आता है गुस्सा तो जानें एक्सपर्ट की राय

तो अब आप भी अपने बच्चे की डाइट में प्रोसेस्ड फूड को कम से कम ही रखें और उसमें हेल्दी ईटिंग हैबिट्स डेवलप करें। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें व इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़ी रहें आपकी अपनी वेबसाइट हरजिन्दगी के साथ।  

Image Credit- freepik

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, compliant_gro@jagrannewmedia.com पर हमसे संपर्क करें।