भारतीय घरों में नीम के पेड़ को काफी महत्‍व दिया जाता है। जहां मीठी नीम यानि करी पत्‍ता को खाने में स्‍वाद लाने के लिए यूज किया जाता है वहीं कड़वी नीम को दवा के रूप में प्रयोग किया जाता है। घर और उसके आस-पास के वातावरण को शुद्ध रखने के लिए कई लोग नीम का पेड़ घर पर लगाते हैं। इन सबके अलावा नीम दांतों की सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होती हैं। कई लोग नीम के पेड़ की लकडि़यों को दातून बना कर उससे दांत भी साफ करते हैं। वैसे तो यह तरीका काफी पुराना हैं मगर, क्‍या वाकई रोज नीम के दातुन से दांत साफ करने से कुछ फायदा होता है? 

आयुर्वेद में नीम को सबसे महत्‍वपूर्ण हर्ब माना गया है। डॉक्‍टर पीएस फाड़के ने अपनी किताब ‘होम डॉक्‍टर: नेचुरल हीलिंग विद हर्ब्‍स, कॉन्‍डीमेंट्स एंड स्‍पाइस’ में इस बात का जिक्र भी किया है। अपनी किताब में डॉक्‍टर पीएस फाड़के ने लिखा है, ‘इस पेड़ के हर हिस्‍से को यूज कर सकते हैं। यह एंटीसेप्टिक होता है। इसकी पत्तियों से बना तेल बालों और त्‍वचा के लिए फायदेमंद होता है वहीं इसका दातुन दांतों के लिए और मसूड़ों के लिए फायदेमंद होता है।’ इस बात से आयुर्वेद एक्‍सपर्ट डॉक्‍टर प्रमोद भी सहमत हैं और वह दातों के लिए नीम के दातुन को लाभदायक बताते हैं। इसके साथ ही डॉक्‍टर प्रमोद बताते हैं कि नीम का दातुन दातों के लिए क्‍यों फायदेमंद है। 

इसे जरूर पढ़ें:सफेद और चमकते हुए दातों के लिए आजमाएं ये 4 आसान घरेलू उपाय

Neem datun health benefits for teeth

 दांतों में कीड़ों से बचाव

कई बार दातों की सही सफाई नहीं होने पर दांतों में कीड़े लग जाते हैं। कीड़े दांतों को खोखला कर देते हैं। इस वजह से कीड़े लगे दांत को हटवाना पड़ता है। अगर आप चाहती हैं कि आपके दांतों में कभी कीड़ा न लगे तो आपको रोज सुबह एक बार नीम के दातून से दांतों को साफ करना चाहिए। अगर आप नियमित रूप से नीम के दातून से दांतों को साफ करेंगी तो कभी भी कीड़े की समस्या नहीं होगी, क्योंकि यह किटाणुनाशक होता है।

इसे जरूर पढ़ें:दूध के दांत में कीड़ा लग जाए तो ना करें लापरवाही, इस तरह रखें बच्चों के दांतों का खयाल

 मसूड़ों की मजबूती

नीम के दातुन से रोज दांत साफ करने का एक फायदा यह भी है कि इससे मसूड़े मजबूत होते हैं। खासतौर पर दातून को ऊपर के दांतों में ऊपर से नीचे की ओर और नीचे के दांतों में नीचे से ऊपर की ओर करने से आपके मसूड़े मजबूत होंगे

पायरिया का उपचार

 यदि आप नियमित रूप से नीम के दातुन से दांतों की सफाई करती हैं तो आपको पायरिया की समस्या कभी भी नहीं सताएगी। इसके लिए आपको दातून को दांतों के चारों तरफ अच्छे से घुमा कर करना चाहिए जिससे सफाई ठीक से हो सके। 

प्राकृतिक माउथ फ्रेशनर

बाजार में तरह-तरह के माउथ फ्रेशनर आते हैं मगर नीम का दातुन नेचुरल माउथफ्रेशनर है। अगर आपके मुंह से दुर्गंध आती है तो नीम का दातुन इसे ठीक कर देता है। दातुन को आप पांच मिनट से लेकर 15 मिनट रोज करें। अगर आप दातुन करने के बाद एक से दो मिनट कुल्ला नहीं करते हैं तो इसका प्रभाव ज्यादा होता है. आप सुबह व रात को दो बार दातुन कर सकती हैं। 

दांतों के दर्द में असरदार 

दांतों में किसी भी तरह के दर्द में नीम का दातुन बेहद असरदार होता है। इसे धोकर धीरे-धीरे चबाना चाहिए, उससे जो रस निकलता है वह दांतो के दर्द को दूर करता है क्योंकि यह एन्टी-बैक्टिरीयल, एन्टी-फंगल और एन्टी-वायरल गुण इस क्षेत्र में बहुत काम करता है। 

दांतों का पीलापन दूर करता है

आजकल दांतों के पीलेपन की समस्‍या हर किसी को होती है। इसकी सबसे बड़ी वजह जंक फूड होता है। लोग इसे दूर कराने के लिए महंगे-महंगे ट्रीटमेंट कराते हैं। मगर यह समस्‍या दूर नहीं होती । नीम के दातुन से जो रस निकलता है वह दातों के पीलेपन को साफ करके उन्हें सफेद, स्वस्थ और चमकदार बनाता है।