आजकल घर और ऑफिस के जरूरी काम से लेकर नेटवर्किंग तक सबकुछ स्मार्टफोन पर ही होता है। अक्सर महिलाएं अपने रोजमर्रा के रूटीन कामों से फुर्सत पाने के बाद स्मार्टफोन पर सर्फिंग में बिजी हो जाती हैं। सिर्फ महिलाओं की ही बात नहीं, बच्चे हों या घर के बड़े, सभी को स्मार्टफोन का एडिक्शन हो चुका है। स्मार्टफोन पर गेम्स खेलने, वेब सीरीज देखने, अपनी मनपसंद फिल्में देखने, सोशल मीडिया पर बने रहने और देश-दुनिया की तमाम खबरों के अपडेट्स लेने के लिए हर कोई एक्साइटेड रहता है। लेकिन शायद लोग इस बात से अनजान हैं कि स्मार्टफोन का सुबह से ही इस्तेमाल शुरू कर देना हमारी सेहत के लिए अच्छा नहीं है।  Deloitte Global Mobile Consumer Survey के अनुसार सुबह उठने के 5 मिनट के भीतर 61 फीसदी लोग स्मार्टफोन का यूज करते हैं। जो लोग उठने के आधे घंटे के भीतर स्मार्टफोन यूज करते हैं, उनकी संख्या 88 फीसदी है। इसी सर्वे में ये भी कहा गया है कि सोने से पहले 74 फीसदी लोग अपना फोन जरूर चेक करते हैं। इस स्टडी से यह बात प्रमाणित होती है कि स्मार्टफोन का इस्तेमाल काफी ज्यादा बढ़ गया है और इसकी वजह से रोजमर्रा के रूटीन काम भी प्रभावित हो रहे हैं। बहुत से लोगों का मानना है कि स्मार्टफोन का बढ़ता इस्तेमाल लोगों की निजी जिंदगी पर भी असर डाल रहा है। आज हम आपको बताएंगे कि सुबह-सवेरे स्मार्टफोन सर्फिंग करने से किस तरह के नुकसान झेलने पड़ते हैं और इस आदत से कैसे छुटकारा पाया जा सकता है।

सुबह उठते ही स्मार्टफोन यूज करने से होते हैं ये नुकसान

smartphone internet health big

गूगल डिजाइन एथिसिस्ट ट्रिस्टन हैरिस के अनुसार जब हम सुबह उठते ही स्मार्टफोन पर काम शुरू कर देते हैं, अपनी नोटिफिकेशन देखते हैं तो हमारा मेंटल फ्रेम भी उसके अनुसार प्रभावित होता है। यह चीज किसी और की शर्तों पर अपनी सुबह की शुरुआत करने जैसी है। सुबह में अक्सर हम देख रहे होते हैं कि कौन सी फोटो लाइक की गई, कौन से मेल आए हैं, सोशल मीडिया पर क्या चल रहा है वगैरह, वगैरह। अगर किसी पोस्ट पर लाइक, शेयर और कमेंट्स नहीं मिले, तो मन उदास हो जाता है, अपनी वैल्यू कम लगने लगती है, जबकि ये चीजें रियलिटी से कोसों दूर हैं। सोशल मीडिया पर लोग अपनी लाइफ की खूबसूरत तस्वीरें ही पेश करते हैं, उन्हें देखकर भी अपनी लाइफ से कंपेरिजन भी शुरू हो जाता है। 

इसे जरूर पढ़ें: हाई ब्‍लड प्रेशर में भरपूर नींद लेने से मिलेगा जबरदस्‍त फायदा, जानिए कैसे

अपने हर दिन को बनाइए खूबसूरत

अगर हम सुबह-सुबह फोन ना देखें तो हमें अपने भीतर झांकने का मौका मिलता है। हम अपने दिन को बेहतर तरीके से कैसे प्लान कर सकते हैं, अपनी ग्रोथ के लिए रोजमर्रा की जिंदगी में क्या चीजें शामिल कर सकते हैं, किन चीजों को हटा सकते हैं, इन सभी चीजों चीजों पर हमें लगातार सोचने की जरूरत होती है। लेकिन स्मार्टफोन के जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल की वजह से इन जरूरी चीजों पर ध्यान नहीं जाता और जीवन के लक्ष्य तय नहीं हो पाते। सुबह-सुबह खुद को समय देना एक तरह से खुद को आजाद करने जैसा है। आप अपनी लाइफ को बहुत अच्छा बना सकती हैं, असंभव लगने वाली चीजों को भी हासिल कर सकती हैं, अगर आप सुबह-सुबह अपने दिन की प्लानिंग करें और हर दिन अपना लक्ष्य पाने की दिशा में काम करें।

अलार्म घड़ी का करें इस्तेमाल 

use alarm clock inside

अक्सर रात में सोने के लिए महिलाएं स्मार्टफोन का यूज करती हैं, लेकिन अलार्म लगाने के साथ अपनी नोटिफिकेशन चेक करने और नेट सर्फिंग करने लग जाती हैं, इस आदत को बदलने के लिए अलार्म घड़ी घर में लाकर रखें। इससे आप रात में समय पर सोएंगी और इसका पॉजिटिव असर ये होगा कि आपकी सेहत अच्छी रहेगी और सुबह भी आपका दिन समय से शुरू होगा। 

इसे जरूर पढ़ें: महिलाओं का बीपी कंट्रोल करेगी ये 3 एक्‍सरसाइज, रोजाना घर में करें

फोन को बेड से दूर चार्ज करें

charge your phone on table inside

ज्यादातर महिलाएं बेड के पास ही फोन को चार्ज में लगाती हैं और उसी के बाद स्मार्टफोन पर काम देर रात तक सर्फिंग करती रहती हैं। अपनी इस आदत में बदलाव लाने के लिए फोन को बेड से दूर चार्ज में लगाएं। 

योग शुरू करें

breathing exercise health main

Image Courtesy:Instagram(@jacqueline fernandez)

योग से हेल्दी रहने के साथ आपको सुबह-सुबह फोन की लत छुड़ाने में भी मदद मिलेगी। योग करने के दौरान मन शांत हो जाता है, महिलाएं रिलैक्स फील करती हैं और उनका फोकस भी बढ़ जाता है। 

सुबह-सुबह बनाएं बेहतरीन नाश्ता

cook tasty in the morning inside

अक्सर फोन पर सुबह-सुबह सर्फिंग करने से महिलाएं नाश्ते पर बहुत ज्यादा ध्यान नहीं दे पातीं। इसके उलट अगर नाश्ते में टेस्टी आइटम्स बनाने पर फोकस किया जाए तो निश्चित रूप से सुबह अपने मन को फोन से डाइवर्ट करने में आसानी होती है। सुबह-सुबह अच्छा नाश्ता करने से दिन की शुरुआत भी अच्छी होती है और एनर्जी भी भरपूर मिलती है। 

पढ़ें किताबें

read a book inside

अगर आपको किताबें पढ़ने का शौक है तो फिक्शन, राजनीति, कुकरी, ट्रेवल आदि से जुड़ी किताबें पढ़ने में समय दें। किताबें पढ़ते हुए आपको नई जानकारियां हासिल होती हैं, लोगों के अनुभव जानने का मौका मिलता है, साथ ही आपका फोकस भी बेहतर होता है। किताब पढ़ने के दौरान आपको खुद के साथ वक्त बिताने का भी मौका मिलता है, जिससे आपका स्ट्रेस लेवल भी कम हो जाता है।  

Image Courtesy:Pexels, Daily Express, CBS News