कुछ समय पहले मेरी बेटी कब्‍ज से बहुत परेशान थी। यहां तक कि जब पॉटी करने के लिए वॉशरूम में जाती, तो रोने लगती थी। पेट ठीक से साफ ना होने के कारण उसका किसी चीज में मन नहीं लगता था। यहां तक कि इस समस्‍या से बचाने के लिए मैंने उसे कई तरह की मेडिसीन और घरेलू उपाय भी‍ दिये। इन सभी उपायों को करने के बाद कुछ दिन तो उसे ठीक लगता था लेकिन फिर से कब्‍ज उसे परेशान करने लगती थी। जैसे कब्‍ज की समस्‍या उसे छोड़ना ही ना चाहती हो। तब उसकी  परेशानी देखकर मेरी मां ने मुझे रोजाना उसे 1 अंजीर खिलाने को कहा। उनके अनुसार रोज 1 अंजीर रात को आधा कप पानी में भिगोकर, सुबह चबाचबाकर खाने और इसका पानी पीने से कुछ ही दिन में कब्‍ज से राहत मिल जाती है।

मैंने यह उपाय अपनाया और कुछ ही दिनों में ऐसा लगा कि जैसे मेरी बेटी को कब्‍ज की समस्‍या थी ही नहीं। यानी उसे कब्‍ज से हमेशा के लिए छुटकारा मिल गया। वह अपनी दादी के इस नुस्‍खे की बदौलत बहुत ही अच्‍छा महसूस करती हैं। अगर आप भी कब्‍ज से परेशान है तो रोजाना 1 अंजीर का सेवन आपके लिए रामबाण सिद्ध हो सकता है। आइए जानें कब्‍ज को कोसों दूर भगाने के लिए अंजीर कैसे काम करती है।

क्‍यों होती है कब्‍ज

आपके पेट ठीक तरह से साफ ना होने या बॉडी में लिक्विड पदार्थ की कमी के चलते कब्‍ज की समस्‍या होती है। कब्ज के दौरान आपको तरोजाता महसूस नहीं होता और आपको पेट संबंधी समस्‍याएं जैसे पेट दर्द, ठीक से फ्रेश होना, शरीर का मल पूरी तरह से न निकलना आदि होती है। और तो और अगर आपको लंबे समय से कब्ज रहता है और आपने इस बीमारी का इलाज नहीं कराया है तो ये एक भयंकर बीमारी का रूप ले सकती है। इसलिए समस्‍या पर इसका इलाज करना बेहद जरूरी होता है।

कब्‍ज एक ऐसी समस्‍या है जो आती तो समय लेकर है, लेकिन जाने का नाम नहीं लेती। यहां तक की बाजारी दवाओं से भी इसे ठीक करने में अधिक समय लग जाता है। इसलिए कब्ज की परेशानी में अंजीर जैसा घरेलू उपाय करें।

Read more: बच्‍चों में तेजी से बढ़ रहा है Type-1 Diabetes, मां ऐसे करें अपने बच्‍चे की केयर

fig for constipation health inside

कब्‍ज दूर भगाएं अंजीर

अंजीर स्वादिष्ट होने के साथ-साथ हेल्‍दी और बहुपयोगी फल है। नाशपाती के आकार का यह छोटा सा फल रसीला और गूदेदार होता है। अंजीर में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, सेल्यूलोज, मिनरल एसिड और पानी होता है। इसके अलावा यह आयरन, विटामिन, पोटैशियम, सोडियम, गंधक, फास्फोरिक एसिड और गोंद के साथ-साथ फाइबर से भी भरपूर होता है। फाइबर की भरपूर मात्रा के कारण ही अंजीर खाने से कब्‍ज की समस्‍या से बचा जा सकता है।  

अंजीर फाइबर से भरपूर हैं और एक natural laxative के रूप में काम करते हैं। पुरानी कब्ज से परेशान महिलाओं को अपने आहार में अंजीर को शामिल करना चाहिए। कब्ज के उपचार के लिए, दोनों ताजा और सूखे अंजीर का इस्तेमाल किया जा सकता है। यदि ताजा अंजीर उपलब्ध है तो इसका इस्तेमाल छिलके के साथ करें। इसके छिलके में फाइबर और कैल्शियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता है।

अंजीर को अकेले भी खाया जा सकता है या नाश्ता में भी शामिल किया जा सकता है। इसे आप सलाद में काटकर भी खा सकती हैं। अंजीर विशेष रूप से मीठी डिश, जैम, स्मूथी और मिठाई बनाने में इस्तेमाल किया जाता है। डिब्बाबंद अंजीर खाना अच्छा नहीं है क्योंकि इनमें चीनी अलग से डाली जाती है। सूखे अंजीर और ताजा अंजीर दोनों के health benefits हैं।

कब्‍ज के लिए अंजीर कैसे लें

  • कब्ज 1-2 पके अंजीर दूध में उबालकर रात को सोने से पहलें खाएं और ऊपर से दूध का सेवन करें। इससे कब्ज में लाभ होता है।
  • या आप 1 अंजीर को रात को सोते समय थोड़े से पानी में भिगोकर रख दें। सुबह इसे अच्‍छे से चबाकर खा लें और इसका पानी पी लें।
  • कुछ ही दिनों में कब्ज की समस्‍या हमेशा के लिए दूर हो जाएगी।

रोजाना 1 अंजीर खाने के अन्‍य फायदे

Sujetha Shetty (Gympik’s Expert Nutritionist) के अनुसार अंजीर Vitamin-A, Vitamin-B1, B2, कैल्शियम, आयरन, फोस्‍फोरस, मैंगनीज़, सोडियम, पोटेशियम, फाइबर का great source हैं। इसमें flavonoids और polyphenols होते हैं, जो anti-oxidants हैं जो free-radicals के कारण होने वाले नुकसानों को रोकते हैं।

fig for constipation health inside

Image Courtesy: Pixabay.com

वजन घटाने और बढ़ाने में मददगार

अंजीर वजन को घटाने में भी अत्यंत सहायक होते हैं, इसलिए इसे मोटी महिलाओं को वजन कम करने के लिए खाने की सलाह दी जाती है। लेकिन इसे ज्‍यादा खाने से बचें क्योंकि इससे आपका वजन बढ़ भी सकता है। फाइबर का बहुत अच्‍छा स्रोत होने के कारण यह कब्‍ज दूर करने में तो मदद करता ही है साथ ही अगर अंजीर को दूध के साथ लिया जाए तो यह आपका वजन भी बढ़ता है। इसलिए अगर आप चाहती हैं कि आपके बच्‍चे का वजन बढ़े तो उसे दूध के साथ अंजीर खाने को दें।

हड्डियों में मजबूती

अंजीर कैल्शियम से भरपूर होता है जो हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए मुख्‍य तत्व है। इसे खाने से osteoporosis जैसे हड्डियों के विकारों से भी सुरक्षा मिलती है। क्‍योंकि यह फॉस्फोरस का भी एक समृद्ध स्रोत है, इसलिए यह bones के विकास को बढ़ावा देता है और उनके decline को भी रोकता है।
  
तो देर किस बात की कब्‍ज से परेशान हैं या वजन बढ़ाना चाहती हैं तो जल्‍द राहत पाने के लिए आज ही इस नुस्‍खे को अपनाएं।

Read more: मसाला ही नहीं औषधि भी है दालचीनी, कुछ ही दिनों में करती हैं weight control