क्या आपके बाल नॉर्मल से ज्‍यादा झड़ रहे हैं? तो हम आपको बता दें कि यह विटामिन-डी की कमी का संकेत हो सकता है। लेकिन आपको कैसे पता चलेगा कि आपमें विटामिन-डी की कमी है? ऐसे में आप परेशान न हो, क्‍योंकि हम आपको इसके कुछ सामान्य लक्षण बता रहे हैं। इसके लक्षणों में बार-बार बीमार पड़ना, थकान महसूस होना, शरीर में दर्द, त्वचा में पीलापन, डार्क सर्कल्‍स, मूड में बदलाव, संक्रमण, भूख न लगना, नींद में बदलाव, बालों का झड़ना आदि शामिल हैं।

क्‍या सच में बालों की हेल्‍थ पर विटामिन-डी की कमी का असर पड़ता है? यह जानने के लिए हमने डाइटिशियन सिमरन सैनी जी से बात की। तब उन्‍होंने हमें दोनों के बीच के लिंक के बारे में विस्‍तार से बताया। आइए इस बारे में आर्टिकल के माध्‍यम से जानें। लेकिन सबसे पहले यह जान लेते हैं कि विटामिन-डी क्‍या है? 

vitamin d for hair fall

विटामिन-डी क्या है?

विटामिन-डी को अक्सर 'सनशाइन विटामिन' भी कहा जाता है, क्योंकि सूर्य के संपर्क में आने पर शरीर विटामिन-डी का उत्पादन करता है। यह फैट-घुलनशील विटामिन है, जो कैल्शियम अवशोषण, इम्‍यून सिस्‍टम के कामकाज, हड्डियों की हेल्‍थ और हार्ट हेल्‍थ के लिए अच्‍छा होता है। इसलिए धूप के संपर्क में नहीं आने या शरीर में विटामिन-डी की कमी होने पर अपनी डाइट में विटामिन-डी से भरपूर फूड्स शामिल करना चाहिए। आप चाहें, तो डॉक्‍टर की सलाह से विटामिन-डी सप्‍लीमेंट भी ले सकती हैं।

इसे जरूर पढ़ें: विटामिन डी से भरपूर ये 5 फूड्स महिलाओं की हड्डियों को उम्र भर बनाए रखेंगे मजबूत

विटामिन डी से भरपूर फूड्स 

ऑयली फिश जैसे सैल्मन, सार्डिन और मैकेरल, रेड मीट, अंडे की जर्दी, फोर्टिफाइड दूध, चीज़, दलिया, टोफू आदि में विटामिन-डी मौजूद होता है।

एक्‍सपर्ट की राय

vitamin d for hair

सिमरन सैनी जी का कहना है, ''विटामिन डी नए बालों के रोम के विकास को प्रोत्साहित करने में मदद करता है और पुराने बालों के रोम को नुकसान से बचाता है, जिससे बालों के ग्रोथ को बहाल करने में मदद मिलती है।''

विटामिन डी और बालों के झड़ने के बीच क्या संबंध है?

विटामिन-डी सेल्‍स ग्रोथ की उत्तेजना के लिए जरूरी है और नए बालों के रोम को बनाने में मदद करता है। जब शरीर में विटामिन-डी की सही मात्रा नहीं होती है, तब बाल झड़ने लगते हैं। विटामिन-डी को एलोपेसिया से भी जोड़ा जाता है। एलोपेसिया एक ऑटोइम्यून डिजीज (ऐसी कंडीशन, जिसमें आपका इम्‍यून सिस्‍टम शरीर पर हमला करता है) है, जिसमें इम्‍यून सिस्‍टम बालों के रोम पर हमला करने का कारण बनता है। विटामिन-डी और बालों के झड़ने को निकट से संबंधित माना जाता है, क्योंकि विटामिन-डी के साथ सबसे मुश्किल बात यह है कि इसके ज्‍यादा या कम होने पर यह बालों के झड़ने का कारण बन सकता है।

vitamin d for hair thinning

विटामिन-डी को केराटिनोसाइट्स द्वारा त्वचा में भी मेटाबॉलिज किया जाता है। ये केराटिनोसाइट्स प्राथमिक प्रकार हैं, जिसमें सेल्‍स एपिडर्मिस (त्वचा की सबसे बाहरी परत) में पाए जाते हैं और स्टेम सेल्‍स (विशेष मानव सेल्‍स, जो नए सेल्‍स में विकसित होते हैं) द्वारा निर्मित होते हैं। इन केराटिनोसाइट्स की मुख्य भूमिका त्वचा और बालों को माइक्रोबियल, वायरल, फंगल और परजीवी आक्रमण से बचाना है। वे त्वचा को अल्ट्रा-वायलेट (यूवी) विकिरण और पानी के नुकसान से भी बचा सकते हैं। 

इसे जरूर पढ़ें:ग्‍लोइंग स्किन और लंबे बाल पाने के लिए जरूरी है विटामिन डी, न करें नजअंदाज

Recommended Video

केराटिनोसाइट्स एक प्रकार का स्किन सेल है, जो केराटिन (एक ऐसा प्रोटीन, जो बालों, नाखूनों और त्वचा में पाया जाता है) को संसाधित करता है। विटामिन-डी की कमी के कारण, बालों के रोम में केराटिनोसाइट्स बालों की ग्रोथ और बालों के झड़ने (बालों की ग्रोथ चक्र का प्राकृतिक हिस्सा) को नियमित रूप से कंट्रोल करने में सक्षम नहीं होते हैं। इसलिए बालों की हेल्‍थ के लिए विटामिन-डी की मुख्‍य भूमिका होती है। 

अब तो आपको समझ में आ गया होगा कि विटामिन-डी और बालों के झड़ने के बीच में क्‍या लिंक हैं? इसलिए कुछ देर सुबह की धूप में बैठने के साथ आप भी अपनी डाइट में विटामिन-डी से भरपूर फूड्स को शामिल करें। आपको यह आर्टिकल कैसा लगा? हमें फेसबुक पर कमेंट करके जरूर बताए। ऐसे ही और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें।  

Image Credit: Freepik.com & Shutterstock.com