स्वास्थ्य सलाह

महिलाएं ये 5 बीज खाएंगी तो जिंदगी भर रहेंगी हेल्दी और जवां

Image Courtesy: Shutterstock.com Seeds for woman article imagepsd
  • Pooja Sinha
  • Her Zindagi Editorial
  • Tue, 20 Nov 2018 19:12 IST

वैसे तो ले‍डीज अपनी हेल्‍थ पर ज्‍यादा ध्‍यान देती नहीं। लेकिन अगर थोड़ा बहुत ध्‍यान देती भी हैं तो फलों और सब्जियों को ही हेल्‍दी मानती हैं। लेकिन हम आपको बता दें कि हेल्‍दी रहने के लिए फलों और सब्जियों से भी बेहतर बीज होते हैं। अब आपको लगेगा कि भला बीज कैसे हेल्‍दी हो सकते हैं? तो हम आपको बता दें कि बहुत से बीज ऐसे होते हैं जो nutrients से भरपूर होने के कारण आपको हेल्‍दी रखने में हेल्‍प करते हैं और जिन्‍हें आपको अपनी डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए। इस बारे में जानने के लिए हमने शालीमार स्थित फोर्टिस हॉस्पिटल की डाइटीशियन डॉक्‍टर सिमरन सैनी से बात की तब उन्‍होंने हमें इसके फायदों के बारे में बताया। डॉक्‍टर सिमरन सैनी का कहना है कि ''बीज देखने में भले ही छोटे हो लेकिन इसमें अनेक गुण होते है। हर लेडी को लंबी उम्र तक जवां और हेल्‍दी रहने के लिए बीज को अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए।'' आइए जानें कौन से हैं ये बीज और क्‍या है इनके फायदे।

1चिया के बीज (Chia Seeds)

Image courtesy: Shutterstock chia seeds for woman inside

डॉक्‍टर सिमरन कहती हैं कि ''चिया सीड्स एक सुपरफूड है, इसे अपनी डाइट में शामिल कर आप लंबे समय तक हेल्‍दी रह सकती हैं। इसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड, फाइबर, प्रोटीन, एंटीऑक्सीडेंट्स और कैल्शियम भरपूर मात्रा में होता है। इसमें मौजूद ओमेगा-3 सूजन को कम करने और ब्रेन को तेज करने में काफी मददगार हैं। इसके अलावा चिया के बीज पानी में घुलनशील फाइबर है, जो बॉडी डिटॉक्‍स करने को दूर करने और ब्‍लड शुगर लेवल रेगुलर करने में हेल्‍प करते हैं। अगर आप अपनी हड्डियों और दांतों को मजबूत बनाना चाहती हैं तो अपने आहार में चिया के बीज को शामिल करें।'' आधा चम्‍मच चिया सीड्स थोड़े से पानी में थोड़ी देर के लिए भिगोकर रख दें, फिर इसे खा लें।  

Read more: सिर्फ 1 चम्‍मच जीरा खाएं, तेजी से फैट घटाएं

2तिल के बीज (Sesame Seeds)

Image courtesy: Shutterstock seamne seeds for woman inside

हम सभी के घरों में तिल का इस्तेमाल तो होता ही है, आमतौर पर मीठी चीजों में। तिल के बीज में ओमेगा-6 फैटी एसिड होता है जो हानिकारक कोलेस्‍ट्रॉल के लेवल को कंट्रोल करने में हेल्‍प करता है। साथ ही तिल में कई प्रकार के प्रोटीन, कैल्शियम, बी काम्‍प्‍लेक्‍स और कार्बोहाइट्रेड भी पाये जाते हैं। इसके अलावा तिल में मोनो-सैचुरेटेड फैटी एसिड होता है, जो बॉडी से कोलेस्ट्रोल को करने और दिल से जुड़ी बीमारियों के लिए बेहद फायदेमंद है। डॉक्‍टर सिमरन कहती हैं कि ''तिल में डाइट्री प्रोटीन और एमिनो एसिड होता है जो लेडीज की बोन्‍स के लिए बेहद अच्‍छा होता है।'' इसे आप मीठे व्‍यंजन में मिलाकर खाया जा सकता है। या इसे आप अपने स्‍नैक्‍स में मिलाकर भी खा सकती हैं।

3अलसी के बीज (Flaxseeds)

Image courtesy: Shutterstock flax seeds for womaninside

अलसी जिसे फ्लैक्‍स सीड्स के नाम से भी जानते हैं, एक बहुमुखी सुपर फूड है, हेल्‍दी रहने के लिए इसे आपको अपनी डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए। अलसी में विटामिन बी, कैल्शियम, मैग्नीशियम, कॉपर, आयरन, जिंक, पोटैशियम आदि मिनरल पाये जाते हैं। इसके अलावा इसमें आवश्‍यक फैटी एसिड अल्‍फा लिनोलेनिक एसिड भी पाया जाता है, जिसे ओमेगा-3 के नाम से भी जाना जाता है। कई शोधों के अनुसार अलसी कब्‍ज, एसिडिटी, डायबिटीज, अर्थराइटिस, कैंसर यहां तक कि दिल की समस्‍याओं को दूर करने में भी हेल्‍प करता है। अलसी के बीजों को आप पानी के साथ या सब्जियों या फलों में शामिल करके ले सकती हैं।

4कद्दू के बीज (Pumpkin Seeds)

Image courtesy: Shutterstock pumkin seeds for woman inside

अक्‍सर लेडीज कद्दू की सब्‍जी बनाते समय इसके बीज निकालकर फेंक देती हैं। लेकिन क्‍या आप जानती हैं कि कद्दू के बीज हेल्‍थ के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं। कद्दू के बीज पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। इनमें पाया जाने वाला एंटी-ऑक्‍सीडेंट, मैग्‍नीशियम, विटामिन-'के' और फाइबर महिलाओं को डायबिटीज से बचाता है और ब्‍लैडर हेल्‍थ के लिए बहुत अच्‍छा होता है। कद्दू के बीज आयरन भरपूर मात्रा में होता है, जो आपको एनर्जी से भरपूर रखता है।

Read more: ब्रेस्‍ट मिल्‍क बढ़ाना है तो जरूर ट्राई करें ये ayurvedic remedy

5मेथीदाना (Fenugreek Seeds)

Image courtesy: Shutterstock.comfenugreek seeds for womaninside

छोटा सा दिखने वाला मेथीदाना नेचुरल रूप से कई गुणों की खान है। महिलाओं में होने वाले जोड़ों के दर्द के लिए और पीरियड्स में होने वाले दर्द और ऐंठन को दूर करता है। इसके अलावा मेथीदाना महिलाओं के ब्रेस्‍ट मिल्‍क को बढ़ाने में मदद करता है जो नवजात के लिए बेहद फायदेमंद होता है।