सर्दियों में नियमित तेल मालिश से शरीर और मन को फिर से जीवंत करने में मदद मिलती है। ऑयल मसाज थेरेपी का उपयोग हीलिंग और शरीर और मन को डिटॉक्स करने के लिए किया जाता है। यह शारीरिक असंतुलन के संचय को रोकता है और साथ ही टिशू, मसल्‍स और जोड़ों के लचीलेपन को चिकनाई और बढ़ावा देने में मदद करती है। यह त्वचा के लिए अच्छी होती है क्योंकि त्वचा को ग्‍लोइंग और बेदाग बनाती है और एजिंग प्रोसेस को धीमा कर देती है। लेकिन क्‍या आप जानती है कि अभ्‍यंग मालिश करने से शरीर को बहुत ज्‍यादा फायदा होता है। जी हां अभ्यंग एक प्राचीन आयुर्वेदिक तेल मालिश तकनीक है जो हर तरह के तनाव से मन को राहत देने की दिशा में काम करने के लिए जानी जाती है और शरीर को डिटॉक्स करने में भी मदद करती है।

अभ्यंग क्या है?

यह एक आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति है, जिसमें टिशू को ठीक करने, शुद्ध करने और पोषण देने के लिए शरीर में तेल पहुंचाने के लिए गर्म तेल की मालिशकी जाती है। मौसम में परिवर्तन, गलत आहार-विहार, कमजोर इम्‍यूनिटी, पर्याप्त संतुलित आहार का अभाव, एक्‍सरसाइज की कमी आदि कारणों से शरीर में दोष दिखाई देते हैं। यही दोष कई प्रकार की शारीरिक व मानसिक बीमारियों का कारण बनते हैं। रोगी की प्रकृति देखकर अभ्यंग मालिश द्वारा रोगों को दूर किया जा सकता है।

abhyanga oil inside

अभ्यंग के फायदे

  • सर्कुलेशन, दृष्टि और सहनशक्ति में सुधार होता है।
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।
  • बाल हेल्‍दी और ग्‍लोइंग होते हैं। 
  • त्वचा की टोन और त्वचा की उपस्थिति में सुधार होता है।
  • टिशू, अंगों, हड्डियों और जोड़ों में मजबूती आती है।
  • यह नींद से जुड़ी समस्याओं जैसे अनिद्रा आदि को दूर करता है। 
  • एजिंग के साइन्‍स धीमे होते हैं।
  • शरीर से टॉक्सिन और अशुद्धियों दूर होती है। 
  • थकान, कमजोरी और आलस्य को दूर करने में सहायक है।
  • पूरे शरीर में एनर्जी और शक्ति का संचार होने लगता है।
abhyanga oil nside

मालिश के लिए तेल

आप अपनी पसंद के किसी भी फेस या बॉडी ऑयल का इस्‍तेमालकर सकती हैं जो आपकी स्किन टाइप के लिए सबसे अच्छा हो। मैं अपने लिए 2 अलग तरह के तेल को इस्‍तेमाल करना पसंद करती हूं। सिर के लिए नारियल तेल और अपने शरीर के लिए एक अलग तेल जैसे तिल का तेल और नीम तेल का इस्‍तेमाल करती हूं। एक मेटल बाउल में तेल डालें और तेल को थोड़ा गर्म करके मालिश करें। मालिश करते समय पैर, हथेली, उंगलियों व नाखून के छोरों पर अच्छी तरह से तेल लगाएं क्योंकि इन अंगों में बड़ी संख्या में तंत्रिकाओं के छोर होते हैं।

Recommended Video

सिर और स्‍कैल्‍प की मालिश

एक बाउल में लगभग 1/4 कप तेल गर्म करें। अपनी उंगलियों को तेल में डुबोएं और अपनी स्‍कैल्‍प पर तेल की मालिश करने के लिए सर्कुलर मोशन का इस्‍तेमाल करें। स्‍कैल्‍प को सामने से पीछे की ओर 10 बार और फिर पीछे से सामने की ओर मालिश करें।

abhyanga oil inside

चेहरे, गर्दन, कान की मालिश

एक बार जब आप सिर और स्‍कैल्‍प की मालिश कर लें तब अपने चेहरे और कानों की मालिश करें। इसके लिए अपनी हथेलियों पर तेल डालें, इसे गर्म करने के लिए रगड़ें, और फिर ऊपर की ओर स्ट्रोक में अपने चेहरे की मालिश करना शुरू करें। एप्लिकेशन को धीरे से कानों की ओर बढ़ाएं और फिर गर्दन की ओर ले जाएं।

इसे जरूर पढ़ें:रात को बिस्‍तर पर जाने से पहले इन 2 अंगों पर लगाएं तेल और देखें कमाल

पैरों की मालिश

पैर में पीछे से आगे की ओर मालिश करें, साथ ही अपने तलवों की मालिश जरूर करें। 

अच्‍छे रिजल्‍ट पाने के लिए इस मालिश को नियमित रूप से 10-20 मिनट जरूर करें। रात को सोने से पहले गर्म तेल से अपने पैरों के तलवों की मालिश करने से अनिद्रा से छुटकारा पाने में मदद मिलती है। इतना ही नहीं आपकी पूरी हेल्‍थ के लिए यह अच्‍छा होता है। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए हरजिंदगी से जुड़ी रहें। 

Image credit: Freepik.com