डायबिटीज ने पूरी दुनिया में करोड़ों लोगों को परेशान कर रखा है और ये सबसे ज्यादा खराब स्थिति में उन लोगों के लिए रहती है जिन्हें इंसुलिन लेने की जरूरत पड़ती है। हालांकि, टाइप 2 डायबिटीज को बहुत ही आसानी से डाइट से भी मैनेज किया जा सकता है और अगर आपको बहुत ज्यादा परेशानी नहीं है या आपकी कंडीशन बहुत सीरियस नहीं है तो सबसे जरूरी है लाइफस्टाइल में बदलाव ताकि आपकी ये बीमारी बहुत ज्यादा घातक न बने। 

तापसी पन्नू की न्यूट्रिशनिस्ट मुनमुन गनेरीवाल ने अपनो सोशल मीडिया अकाउंट में डायबिटीज से डील करने के लिए पांच खास टिप्स बताए हैं जो आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित हो सकते हैं। तो चलिए जानते हैं कि वो टिप्स क्या हैं। 

1. अपनी लाइफस्टाइल में बदलाव लाएं-

न्यूट्रिशनिस्ट मुनमुन के मुताबिक डायबिटीज शक्कर खाने या मिठाई से नहीं होती है पर ये असल में लाइफस्टाइल से जुड़ी बीमारी है। यानि अगर आप अनहेल्दी लाइफस्टाइल फॉलो करेंगे तो आपकी लाइफ भी ऐसी ही हो जाएगी। सही लाइफस्टाइल च्वाइस के जरिए ही आप सही आहार ले पाएंगे, एक्सरसाइज सही से कर पाएंगे और अपने सोने-जागने का रूटीन बना पाएंगे। 

 

इसे जरूर पढ़ें- दवाओं से नहीं इन 3 आयुर्वेदिक टिप्‍स से करें अपनी डायबिटीज कंट्रोल  

2. डायबिटीज से जुड़ी डाइट- 

खुद को भूखा रखना सही नहीं है और शरीर को जितनी जरूरत है उतना खाना जरूर खाना चाहिए। अगर आप भूख के हिसाब से खाना खाएंगे तो ये तय कर पाएंगे कि आप स्टार्व नहीं कर रहे हैं और शरीर को जितनी जरूरत है उतना ही खा रहे हैं। सही समय पर खाना खाने से ब्लड शुगर लेवल भी सही होता है और इस बात का ध्यान हमेशा रखना चाहिए।  

अपने खाने में जरूर एड करें ये चीज़ें-  

डायबिटीज से ग्रसित लोगों के लिए कार्बोहाइड्रेट्स लेना बहुत जरूरी है और किसी भी तरह के प्रोसेस्ड बिस्किट, कुकीज, मफिंग्स आदि से दूर रहने की जरूरत है। अगर अपने भोजन में फैट जोड़ा जाएगा तो ये ग्लाइसेमिक इंडेक्ट (GI) को कम कर देगा और जितना ज्यादा फैट होगा उतना ही शक्कर (कार्बोहाइड्रेट्स) आदि डाइजेस्ट होंगे। उतना ही कम ग्लासेमिक इंडेक्स होगा। अपने खाने में नट्स, बीज, घी आदि को जरूर एड करें।  

प्रोटीन को न करें नज़रअंदाज़-

प्रोटीन की मदद से इंसुलिन की सेंसिटिविटी बेहतर होती है और आप प्रोटीन युक्त फिलिंग खाना खा सकते हैं जैसे खिचड़ी, कढ़ी, दाल-चावल, चावल दही, अंडा और रोटी आदि। इससे आपकी प्रोटीन प्रोफाइल पूरी होगी।  

nutritionist tips for diabetes

3. एक्सरसाइज से न रहें पीछे- 

आपको ये ध्यान रखने की जरूरत है कि आप कहीं से भी एक्सरसाइज से पीछे न रहें और हफ्ते में कम से कम 150 मिनट एक्सरसाइज जरूर करें। जितना आप चलेंगे उतना ही आपकी डाइट पर असर होगा।  

इसे जरूर पढ़ें- ये फूड खाएं टाइप-2 डायबिटीज के खतरे को दूर भगाएं  

Recommended Video

4. स्ट्रेंथ ट्रेनिंग को न भूलें- 

हो सकता है कि आपका वर्कआउट रिजीम बहुत ही अच्छा हो, लेकिन अगर ध्यान दिया जाए तो इंसुलिन लेवल बढ़ाने के लिए ये जरूरी है कि आप स्ट्रेंथ ट्रेनिंग भी करें। सही तरीके से की गई स्ट्रेंथ ट्रेनिंग शरीर को इंसुलिन लेवल के इस्तेमाल के लिए बेहतर बनाती है और इससे शरीर में ग्लूकोज बेहतर तरीके से जाता है।  

5. सही तरह से सोना भी है जरूरी- 

ठीक से न सोना या फिर बार-बार नींद का टूटना बॉडी क्लॉक पर असर डालता है और इससे बहुत ज्यादा दिक्कतें हो सकती हैं। आपके बॉडी क्लॉक को नेचुरल और बायोलॉजिकल प्रोसेस पर असर डालता है और इंसुलिन का सिक्रीशन भी सही तरह से नहीं हो पाता है। ये बहुत जरूरी है कि आप सही तरह से सोएं और अच्छी नींद लें। ये भी जरूरी है कि आप सोने और जागने का एक नियम बना लें जो बॉडी क्लॉक के अनुसार ही हो।  

अगर आपको ये स्टोरी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी से।