माउंट एवरेस्ट से जुड़े अमेजिंग फैक्ट्स


Sahitya Maurya
2023-01-18,15:31 IST
www.herzindagi.com

    माउंट एवरेस्ट का नाम आपने कई बार सुना होगा, लेकिन हम आपको इससे जुड़े कुछ अमेजिंग तथ्य के बारे में करीब से बताने जा रहे हैं। आइए जानते हैं।

कितना प्राचीन है माउंट एवरेस्ट?

    दुनिया की सबसे उंची चोटी में शामिल माउंट एवरेस्ट 100-200 साल नहीं बल्कि 60 मिलियन वर्ष से भी अधिक पुराना है। काफी प्राचीन होने के बाद भी आज भी माउंट एवरेस्ट शीना ताने खड़ा है।

माउंट एवरेस्ट के अन्य नाम

    यह पर्वत सिर्फ माउंट एवरेस्ट के नाम से ही नहीं, बल्कि नेपाल के लोग सागरमाथा और तिब्बती के लोग को चोमोलुंगमा नाम से पुकारते हैं। कई लोग पीक 15 के नाम से भी जानते हैं।

माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने के रास्ते हैं

    कहा जाता है कि माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने के लिए रास्ता नहीं बल्कि लगभग 18 रास्ते हैं। हालांकि, हर साल यह रास्ता बदल भी जाता है।

माउंट एवरेस्ट खतरनाक है?

    जी हां, माउंट एवरेस्ट बेहद ही खतरनाक पर्वत है। कहा जाता है कि इस पर्वत पर अब तक करीब 300 लोगों की मौत हो चुकी है।

माउंट एवरेस्ट ऊंचाई

    अगर आप माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई नहीं जानते हैं तो आपको बता दें कि इसकी ऊंचाई लगभग 8, 849 मी है।

माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई बढ़ती है?

    शायद आप पहली बात पढ़ या सुन रहे होंगे, लेकिन आपको बता दें कि कई लोगों का मानना है कि हर साल माउंट एवरेस्ट ऊंचाई 1 इंच बढ़ जाती है।

माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने में समय

    यह सवाल लगभग हर किसी के मन में चलते रहता है। कहा जाता है कि माउंट एवरेट पर चढ़ने के लिए लगभग 2 महीने का समय लग जाता है। चढ़ने से पहले ट्रेनिंग भी दी जाती है।

माउंट एवरेस्ट पर हवा की स्पीड

    आपकी जानकारी के लिए बता दें कि माउंट एवरेस्ट की चोटी पर 50-70 की स्पीड नहीं, बल्कि 110 से भी अधिक की स्पीड से हवा चलती है जिसके कारण सांस लेने में भी परेशानी होती है।

    स्टोरी अच्छी लगी हो तो लाइक और शेयर करें। अन्य ट्रेवल की स्टोरी पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें https://www.herzindagi.com/amp-stories