बच्चों को अकेले छोड़ने पर इन बातों का रखें ख्याल


Smriti Kiran
www.herzindagi.com

    कभी-कभी पेरेंट्स के सामने ऐसे हालात आ जाते हैं कि न चाहते हुए भी उनको अपने बच्चे को घर में अकेला छोड़कर किसी काम पर जाना पड़ जाता है। ऐसे में बच्चे और पेरेंट्स दोनों परेशान हो जाते हैं।

    यहां हम आपको कुछ टिप्स बता रहे हैं, जिनको फॉलो करके आप बच्चे को अकेले छोड़ने की चिंता को काफी हद तक कम कर सकते हैं-

छोटा बच्चा को अकेले न छोड़ें

    सबसे पहले यह ध्यान रखें कि आपका बच्चा अगर बहुत छोटा है तो अकेले न छोड़ें, लेकिन अगर 7 साल से ऊपर का है तो अकेला छोड़ सकते हैं क्योंकि इस उम्र में थोड़ी समझदारी हो जाती है।

अचानक अकेले न छोड़ें

    कभी भी अचानक छोड़ने का फैसला न लें। बच्चे को पहले एक-दो घंटे के लिए छोड़कर देखें। अगर चीजें नॉर्मल लगे तो आगे सोचें कि अकेले छोड़ा जा सकता है।

कमरे में बंद न करें

    बच्चे को किसी एक कमरे में बंद करके कभी न जाएं। ऐसी जगह छोड़कर जाएं, जिसमें खिड़की हो और जरूरत पड़ने पर उसकी आवाज बाहर जा सके।

दरवाजा खोलना-लगाना बताकर जाएं

    दरवाजे की कुंडी और लॉक खोलना और बंद करना बच्चों को जरूर बताएं। ये भी बताएं कि दरवाजा किसी अजनबी के बुलाने पर न खोलें। दरवाजे पर कोई आए तो विंडो या डोर से देखे कि कौन है।

मोबाइल देकर जाएं

    घर से बाहर जाते समय बच्चे को मोबाइल देकर जाएं। जिससे समय-समय पर आप उससे बात करके उसके बारे में जानकारी लेते रहें और इस तरह से बच्चा भी परेशान नहीं होगा।

इमरजेंसी नंबर देकर जाएं

    बच्चा अगर इतना बड़ा है कि वो फोन नंबर खुद से मिला सकता है तो बच्चे को कुछ इमरजेंसी नंबर भी देकर जाएं, जिससे जरूरत पड़ने पर वो फोन नंबर मिला सके।

गैस सिलेंडर बंद कर दें

    बच्चे मां-बाप की गैर-हाजिरी में हो सकता है गैस ऑन करने की कोशिश करें। इसलिए बच्चे को समझाकर जाएं या फिर गैस सिलेंडर का नॉब बंद करके जाएं।

खाने का सामान रखकर जाएं

    बच्चों को समय-समय पर कुछ न कुछ खाते रहने की आदत होती है। इसलिए बच्चे के लिए खाने का सामान उसके आस-पास टेबल पर ही रखकर जाएं। जिससे भूख लगने पर वो किचन में न जाए।

धारदार सामान हटाएं

    बच्चे को घर में अकेला छोड़कर जाने से पहले हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि घर में कहीं चाकू, कैंची, पेंचकस जैसे धारदार सामान खुले हुए न रखे हों। इन सामानों को बच्चे की पहुंच से दूर रखकर जाएं।

बिजली सॉकेट बंद करें

    बच्चे को घर में अकेला छोड़ने से पहले हमेशा बिजली के सॉकेट में टेप लगा दें क्योंकि बच्चे को हर चीज छूने की आदत होती है। इस तरह से अनहोनी से बचा जा सकता है।

बिजी करके जाएं

    बच्चे को बिजी रखने के लिए कोई क्रिएटिव वर्क देकर जाएं या फिर होमवर्क देकर जाएं। बच्चा अगर इनमें इंट्रेस्ट न लेता हो तो उसकी पसंद की कार्टून फिल्म टीवी या लैपटॉप पर लगाकर जाएं।

    इसके अलावा अपने बच्चों को पूरा समय देने की कोशिश करें, ताकि वो अपनी बात आपसे शेयर कर सके। स्टोरी अच्छी लगी हो तो शेयर करें। साथ ही ऐसी अन्य स्टोरी जानने के लिए क्लिक करें herzindagi.com