किचन के वास्तु टिप्स


Bhagya Shri Singh
www.herzindagi.com

    किचन को सेहत और खुशियों का खजाना कहा जा सकता है। लेकिन अगर यहां का वास्तु गड़बड़ हो तो दिक्कतें आ सकती हैं।

    किचन बनवाते समय इन वास्तु टिप्स का खास ख्याल रखें ताकि घर में सब सेहतमंद और खुशहाल रहें।

किचन की दीवारें

    वास्तु के अनुसार किचन की दीवारों का रंग लाल या नारंगी रखना चाहिए, इससे पॉजिटिव एनर्जी का फ्लो बना रहता है।

किचन कैबिनेट्स

    वास्तु के अनुसार, किचन कैबिनेट्स लेमन येलो, ग्रीन और ऑरेंज कलर के बनवाने चाहिए।

बनी रहती है सकारात्मकता

    किचन कैबिनेट्स अगर आप इनमें से किसी कलर की बनवाते हैं तो घर में पॉजिटिव ऊर्जा का प्रवाह बना रहता है।

चूल्हे की सही दिशा

    वास्तु के अनुसार, किचन में दक्षिण पूर्व या उत्तर पश्चिम दिशा में गैस चूल्हा रखना चाहिए।

क्यों इस दिशा में रखें?

    वास्तु की मान्यता के अनुसार, अगर आप आग्नेय कोण में चूल्हा रखती हैं तो आग से डैमेज होने की संभावना कम रहती है।

यहां ना बनाएं कैबिनेट्स

    किचन में कैबिनेट्स भूलकर भी चूल्हे के ऊपर ना बनाएं। इससे किचन में कभी भी आग लग सकती है।

सिंक के लिए सही दिशा

    किचन का सिंक हमेशा उत्तर पूर्व दिशा में बनवाना चाहिए। इससे पानी के लीकेज की समस्या कंट्रोल में रहती है।

वाटर प्यूरीफायर यहां लगाएं

    किचन में वाटर प्यूरीफायर भी उत्तर पूर्व दिशा में ही लगवाना चाहिए।

लीकेज ना हो

    किचन में इस बात का खास ख्याल रखना चाहिए कि पानी कहीं लीक ना हो, इससे घर में नकारात्मकता आती है।

किचन की खिड़कियां

    किचन में हमेशा बड़ी खिड़कियां ही बनवानी चाहिए ताकि शुद्ध हवा प्रवेश कर सके।

इस दिशा में बनवाएं खिड़कियां

    किचन की विंडो पूर्व दिशा में बनवानी चाहिए ताकि सूर्य की पहली किरणें यहां आएं और पॉजिटिविटी बनी रहे।

    स्टोरी अच्छी लगी तो इसे लाइक और शेयर जरूर करें। ऐसी अन्य स्टोरीज के लिए क्लिक करें herzindagi.com