भारत के फेमस डांस फॉर्म


Bhagya shri singh
www.herzindagi.com

    भारत कई संस्कृति और परंपराओं का देश है। यहां के नृत्य यानी कि डांस में भी जनजीवन की खास झलक देखी जा सकती है।

प्रमुख डांस फॉर्म

    प्राचीन काल से लेकर आधुनिक काल तक भारतीय इतिहास में पारंपरिक नृत्य का बेहद ही महत्व रहा है। जानें भारत के प्रमुख डांस फॉर्म के बारे में।

कथकली

    दक्षिण भारतीय राज्य केरल में हर उत्सव पर कथकली डांस कलाकारों द्वारा किया जाता है। चेहरे पर मुखौटा और सुंदर वस्त्र में भाव-भंगिमा बनाते कलाकार मन मोह लेते हैं।

भरतनाट्यम्

    दक्षिण भारत के तमिलनाडु में प्राचीन मंदिरों से की उत्पत्ति हुई। भरतनाट्यम में श्रृंगार और भाव भंगिमाओं को विशेष महत्व है।

कथक

    नॉर्थ इंडिया के इस फेमस डांस में स्त्री और पुरुष साथ हिस्सा ले सकते हैं। इस डांस में पैरों, हाथों की थाप और भाव-भंगिमाएं प्रमुख होती हैं।

मांडू डांस

    मांडू डांस मध्य प्रदेश का फेमस डांस है। इसमें कलाकार पारंपरिक वेशभूषा में सुन्दर नृत्य प्रस्तुत करते हैं।

मणिपुरी

    मणिपुरी वेशभूषा में जब कलाकार राधा और कृष्ण की कहानी पर परफॉर्म करते हैं तो बस दर्शक देखते ही रह जाते हैं।

कुचिपुड़ी

    यह डांस भगवान को समर्पित माना जाता है। यह दक्षिण भारत की सबसे प्रसिद्ध नृत्य शैली है।

भांगड़ा

    पंजाब का कोई भी त्यौहार इस डांस के बिना फीका सा लगता है। पंजाब की पारंपरिक वेशभूषा में भंगड़ा करते लोग काफी आकर्षक लगते हैं।

गरबा

    गुजरात के इस डांस में महिला और पुरुष हिस्सा ले सकते हैं। नवरात्रि पर खासकर गरबा का आयोजन किया जाता है।

रूफ डांस

    कश्मीर का यह डांस कश्मीरी महिलाओं द्वारा पारंपरिक वेशभूषा में खास आयोजनों जैसे शादी-ब्याह पर किया जाता है।

बिहू

    बिहू असम का मुख्य डांस फॉर्म है। इसमें महिलाएं और पुरुष पारंपरिक वेशभूषा में मनोरम डांस करते हैं।

डांडिया

    डांडिया रास या रसिया बृजभूमि का लोकनृत्य है, इसमें वसंतोत्सव, होली तथा राधा और कृष्ण की प्रेम कथा का वर्णन होता है।

छऊ डांस

    छऊ डांस का संबंध झारखंड से है। यह पश्चिम बंगाल, ओड़ीसा एवम झारखंड राज्य मे प्रचलित है। इसके तीन प्रकार है- सरायकेला छऊ, मयूरभंज छऊ और पुरुलिया छऊ।

    स्टोरी अच्छी लगी तो इसे लाइक और शेयर जरूर करें। ऐसी अन्य स्टोरीज के लिए क्लिक करें