गाय को भोजन कराने के नियम


Anuradha Gupta
www.herzindagi.com

    शास्त्रों में गाय को भोजन कराना बहुत ही शुभ माना गया है। यदि आप नियमित गाय को खाना देते हैं तो इससे आपको क्‍या लाभ होंगे और इसके नियम क्‍या हैं, जान लें।

    हिंदुओं में गाय को माता का दर्जा दिया गया है, क्योंकि वह हमें दूध देती है। गाय की पूजा और सेवा को भी हिंदू धर्म में बहुत महत्व दिया गया है।

    ऐसी मान्यता है कि गाय में 33 करोड़ देवी-देवताओं का वास होता है। इसलिए अगर आप गाय की पूजा या सेवा करते हैं, तो एक साथ इतने सारे देवी-देवताओं को आप प्रसन्न कर सकते हैं।

    हिंदू धर्म में गाय को भोजन कराने के लाभ और नियम भी बताए गए हैं-

    जिस जातक की कुंडली में सूर्य दोष है, उसे गाय को रसोई में बनी पहली रोटी नियमित खिलानी चाहिए।

    जिस जातक की कुंडली में मंगल ग्रह कमजोर है, उसे गाय को रोटी के साथ गुड़ भी खाने के लिए देना चाहिए।

    जिस जातक की कुंडली में बुध ग्रह नीच का है या फिर कमजोर है तो उसे रोटी के साथ गाय को हरी सब्जियां भी खिलानी चाहिए।

    जिस जातक की कुंडली में चंद्रमा कमजोर है, उसे गाय को रोटी और पानी दोनों देना चाहिए।

    जिस जातक की कुंडली में राहु की महादशा चल रही है, उसे काली दाल के साथ गाय को रोटी खाने के लिए देनी चाहिए।

    शनि ग्रह को शांत करने के लिए आप हर शनिवार गाय को घी लगी रोटी के साथ पालक खाने को दे सकते हैं।

    केतु ग्रह को मजबूत करने के लिए सफेद तिल और गेहूं के आटे की रोटी गाय को खाने के लिए दें।

    उम्मीद है कि आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। इस आर्टिकल को शेयर और लाइक जरूर करें, इसी तरह और भी आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ी रहें herzindagi.com से।