बढ़ती दूरियों की आहट ऐसे पहचानें


Smriti Kiran
www.herzindagi.com

    लव मैरिज हो या अरेंज्ड मैरिज कई बार परिस्थितियां ऐसी बनती हैं कि पहले एक-दूसरे से बेपनाह मोहब्बत करने वाले पति-पत्नी भी दूर हो जाते हैं। आइए जानतें है बढ़ती दूरियों को पहचानने के तरीके-

करीब हो कर भी साथ नहीं

    ऑफिस के बाद आप भले ही एक कमरे में दोनों साथ बैठे हैं, लेकिन दोनों अपने फोन में या फिर कोई काम में बिजी हैं। यानी कि एक-साथ होकर भी साथ नहीं हैं तो यह बढ़ती दूरी का नतीजा हो सकता है।

लड़ना छोड़ दिया है

    यदि एक-दूसरे से बहस या लड़ाई-झगड़ा करना छोड़ दिया है तो यह भी दूरी बढ़ने का इशारा हो सकता है और अगर झगड़े के बाद कोई एक-दूसरे को सुनना नहीं चाहता है तो भी यह दूरी हो सकती है।

बात न करना

    अगर कोई विवाद हो जाए, लेकिन दोनों में से कोई इसपर बात नहीं करना चाहता है और साथ ही व्यवहार में परिवर्तन आ जाए तो समझिए आप के बीच दूरी आ चुकी है।

कंट्रोल करना

    यदि एक पार्टनर खुद को दूसरे के कंट्रोल में महसूस करने लगता है और कहने के बावजूद उस की बात सुनी नहीं जाती है तो वह खुद को हारा हुआ महसूस करने लगता है। ऐसा रिश्ता भी ज्यादा समय तक नहीं टिक पाता है।

बॉडी लैंग्वेज में परिवर्तन

    जब आप किसी के साथ रिलेशन में होते हैं तो बॉडी लैंग्वेज से प्यार महसूस कर सकते हैं, लेकिन अगर एक पार्टनर इग्नोर कर रहा है तो उसकी बॉडी लैंग्वेज से उसके इग्नोरेंस का पता चल जाता है।

आई कौंटैक्ट का घट जाना

    जब कपल्स आपस में बातें करते हैं तो नजर एक-दूसरे पर होती है, लेकिन अगर कोई एक बार-बार नजर चुराए और आपकी बातों पर ज्यादा ध्यान न दें तो समझ लें, दूरी बढ़ रही है।

जब किसी और से इमोशनली जुड़ने लगें

    जब पार्टनर के होते हुए आप कहीं और इमोशनली अटैच होने लगे हैं या फिर अपनी बातें शेयर करने लगे हैं, किसी और का साथ अच्छा लगने लगा है तो भी समझ लें कि दूरी बढ़ गई है।

क्वालिटी टाइम गुजारने की चाह नहीं

    साथ में कोई क्वालिटी टाइम बिताने का प्लान नहीं करते हैं या फिर अब इन सब चीजों में इंट्रेस्ट नहीं है। एक-दूसरे के होने न होने का एहसास खत्म हो गया है तो समझ लें कि दूरियां बढ़ गई है।

प्रयास करना छोड़ दे

    अगर आप के साथी ने झगड़ने के बाद रिश्तों को जोड़ना छोड़ दिया है या फिर वह आपकी गलतियों पर ही फोकस करना शुरू कर दिया है तो समझिए वह आप से दूर जा रहा है।

एक-दूसरे की बात पर कम ध्यान देना

    जब एक पार्टनर बात कर रहा है और दूसरे का ध्यान हमेशा कहीं और रहता है या फिर आपकी बातें सुन तो रहा है, लेकिन कोई प्रतिक्रिया नहीं है तो भी दूरियां वजह हो सकती है।

बहस जब लड़ाई का रूप लेने लगे

    अपने पार्टनर के साथ किसी बात पर मतभेद होना आम बात है, लेकिन अगर बहस अक्सर लड़ाई-झगड़े पर खत्म होने लगे और कोई कंप्रोमाइज करने को तैयार नहीं है तो समझिए रिश्ता ज्यादा नहीं टिक सकता है।

एक-दूसरे से कहने को कुछ नहीं

    यदि आप जिंदगी के खास मौकों, घटनाओं की बातें किसी और से शेयर करने लगे हैं या फिर दोनों साथ बैठकर बात करते भी हैं तो घर-परिवार से जुड़ी बातों के अलावा अपनी बात नहीं होती है। ऐसे में आप एक-दूसरे से दूर हो रहे हैं।

    स्टोरी अच्छी लगी हो तो शेयर करें। साथ ही ऐसी रिलेशनशिप से जुड़ी अन्य स्टोरी जानने के लिए क्लिक करें herzindagi.com