नई-नवेली बहू को सुनने पड़ते हैं ये ताने


Bhagya Shri Singh
www.herzindagi.com

    भारतीय पितृसत्तात्मक समाज नई बहू के लिए आज भी कई मुश्किलें पैदा करने से बाज नहीं आता।

    नई बहुओं को अक्सर पति के घर में उसके रिश्तेदारों से ये ताने सुनने को मिलते हैं।

अरे तुम्हें ये भी नहीं आता

    नई बहू को ससुराल में अक्सर सबसे ये ताना सुनने को मिलता है- अरे तुम्हें ये भी नहीं आता।

तुम्हारी मां ने नहीं सिखाया

    नई बहू से कोई गलती नहीं हुई कि ससुराल में तुरंत उसे ताना मिलता है कि अरे तुम्हारी मां ने नहीं सिखाया।

बॉडी शेमिंग

    बहुत पतली है तो अरे कैसी सींक जैसी है, मोटी है तो अरे मोटापा कम करो।

घर संभालना नहीं आता

    नई बहू अगर वर्किंग है और वो किचन के काम नहीं कर पाती तो हर मौके पर ससुराल वाले उसे ये ताना देते हैं।

हूर परी थोड़े ना लाए हैं

    नई बहू अगर घर की जिम्मेदारियां ठीक से नहीं संभाल पा रही है तो अक्सर पति के घर में उसे ये ताने सुनने पड़ते हैं।

मायके से क्या लाई?

    ससुराल में जब बहू का बैग और गिफ्ट्स सब देखते हैं तो उस समय भी ताने मारने में नहीं चूकते हैं।

एडजस्टमेंट नहीं आता

    नई बहू को सौ ताने देने के बाद भी अक्सर ससुराल में उसे स्वभाव को लेकर ताने सुनने पड़ते हैं।

कुकिंग स्किल पर सवाल?

    नई बहू से ये उम्मीद की जाती है कि वो अच्छा खाना ही पकाए, लेकिन अगर जायका बिगड़ जाए तो इसपर भी उसे ताने सुनने पड़ते हैं।

रिश्ते निभाना नहीं आता

    नई बहू पर अक्सर ससुराल में ये तोहमत लगती है कि वो परिवार में सबके रिश्ते तोड़ना चाहती है।

जरूरत है समझने की

    ताने देने से बेहतर है कि नई बहू जो आपके परिवार में आई है उसे और उसके परिवेश को समझ कर ही उससे व्यवहार करें ताकि रिश्ते बेहतर रहें।

बेवजह की उम्मीद ना करें

    नई बहू से बेवजह की उम्मीद ना करें। हर लड़की अपने मन के अनुसार ही रहेगी चाहे आप कितने भी ताने दें। इस बात को समझें।

    स्टोरी अच्छी लगी तो इसे लाइक और शेयर जरूर करें। ऐसी अन्य स्टोरीज के लिए क्लिक करें herzindagi.com