साग संग ट्राई करें ये रोटियां


Bhagya Shri Singh
www.herzindagi.com

    सर्दियों में साग के साथ ये अलग-अलग तरह की रोटियां खाने के स्वाद को कई गुना बढ़ा देंगी।

मक्के की रोटी

    मक्के के आटे से बनने वाली ये रोटी सरसों के साग और लस्सी संग खाने पर काफी मजा देती है।

कहां से है मक्के की रोटी?

    ये रोटी पंजाब से लेकर अब पूरे देश में छा गई है। सफेद मक्खन, साग और गुड़ के साथ खाने पर इसका स्वाद कई गुना बढ़ जाता है।

अक्की रोटी

    चावल से बनने वाली इस रोटी को कई सब्जियां और मसाले डालकर बनाते हैं।

कहां की है अक्की रोटी?

    ये रोटी कर्नाटक का मुख्य व्यंजन है। हालांकि अब बहुत सी जगहों पर ये मिलती है।

थालीपीठ

    ये रोटी काफी हेल्दी होती है। इसमें गेहूं के साथ-साथ चावल, चना, बाजरा, ज्वार का आटा मिलाया जाता है।

कहां की है थालीपीठ रोटी?

    यह मुख्यतः महाराष्ट्र की रोटी है। इसका टेक्सचर गेंहू की रोटी की तरह ही होता है।

नान रोटी

    मैदे से बनने वाली इस रोटी को तंदूर में पकाया जाता है और घी या बटर लगाकर ही परोसा जाता है।

कई तरीके की हैं नान

    नान रोटी कई प्रकार की होती हैं- नान रोटी, स्टफ्ड नान। ये रोटी साग और पनीर की करी के साथ काफी यमी लगती है।

रागी रोटी

    रागी के आटे में प्याज, मसाले और कई प्रकार की सब्जियां डालकर ये रोटी बनाई जाती है।

बेहद हेल्दी है रागी की रोटी

    रागी से रोटियों को काफी हेल्दी माना जाता है। इसका इस्तेमाल ज्यादातर दक्षिण भारत में होता है।

शीरमाल

    आटा, केसर, घी, नमक, चीनी में दूध डालकर आटा गूंथने के बाद 2 घंटे के लिए खमीर उठने के बाद ये रोटियां बनाई जाती हैं।

कश्मीर से आया है शीरमाल

    शीरमाल रोटी कश्मीर की में डिश है। इसे गर्म तवे पर दूध लगाकर सेंका जाता है और खाते वक्त घी यूज किया जाता है।

    स्टोरी अच्छी लगी तो इसे लाइक और शेयर जरूर करें। ऐसी अन्य स्टोरीज के लिए क्लिक करें herzindagi.com