दार्जीलिंग की सैर

By Shruti Dixit
08 January 2021
www.herzindagi.com

दार्जीलिंग की खूबसूरती बहुत ही मनमोहक है। यहां वैसे तो कई फेमस टूरिस्ट स्पॉट्स हैं, लेकिन कुछ ऐसी जगह भी हैं जिन्हें अक्सर लोग मिस कर देते हैं।

अगर आप भी जल्द ही दार्जीलिंग ट्रिप प्लान कर रही हैं तो इन जगहों पर जाना बिलकुल न भूलें।

ज़ोरपोखरी (Jorpokhri)

दार्जीलिंग जिले में मौजूद एक छोटा सा गांव है ज़ोरपोखरी। इस गांव का मुख्य आकर्षण है यहां मौजूद दो तालाब। इसका नाम भी उन्हीं दोनों तालाबों की वजह से पड़ा है। जोर का मतलब है दो और पोखरी का मतलब है पानी का तालाब। यहां तालाब में तैरते हुए हंस और आस-पास की खूबसूरत वादियां आपको बहुत अच्छी लगेंगी।

कैसे पहुंचें ज़ोरपोखरी-

इस गांव तक पहुंचने के लिए मिरिक रोड से जाना होगा। ये दार्जीलिंग शहर से करीब 19 किलोमीटर की दूरी पर है। ये समुद्र तल से 7400 फिट की ऊंचाई पर स्तिथ है।

कुर्सोंग (Kurseong)

अगर आपको ट्रेकिंग का शौक है और प्राकृतिक सुंदरता देखनी है तो यहां जाएं। यहां व्हाइट ऑर्किड्स भी बहुत ज्यादा खिलते हैं। वाटर राफ्टिंग के लिए भी ये एक अच्छी जगह है। यहां डाउनहिल पार्क भी है जो पर्यटकों को आकर्षित करता है।

कैसे पहुंचें कुर्सोंग-

सिलिगुड़ी से 34 किलोमीटर दूर स्तिथ कुर्सोंग न सिर्फ बस से बल्कि दार्जीलिंग हिमालयन रेलवे से भी कनेक्टेड है। इस शहर में जाने के लिए आपको दार्जीलिंग मेन टाउन से टैक्सी भी मिल जाएंगी।

मिरिक (Mirik)

यहां भी आपको बहुत ही खूबसूरत झील देखने को मिलेगी। यहां कई सारे गार्डन मौजूद हैं। यहां आपको संतरे के बागान, बोकर मोनेस्ट्री, मिरिक टी गार्डन आदि बहुत से पिकनिक स्पॉट देखने को मिलेंगे।

कैसे पहुंचें मिरिक-

मिरिक दार्जीलिंग शहर से 49 किलोमीटर दूर है। सबसे नजदीकी ट्रेन स्टेशन जलपाईगुड़ी है और एयरपोर्ट है बागडोरा। आपको दार्जीलिंग और सिलिगुड़ी दोनों ही शहरों से बस और प्राइवेट टैक्सी मिल जाएगी यहां जाने के लिए।

लेप्चाजगत (Lepchajagat)

अगर आपको प्राकृतिक सौंदर्य बहुत पसंद है तो लेप्चाजगत आपके लिए बहुत ही अच्छा ऑप्शन हो सकता है। ये हनीमून के लिए बहुत ही रोमांटिक प्लेस साबित हो सकती है। यहां भीड़-भाड़ से दूर आप शांति का अनुभव करेंगे।

कैसे पहुंचें लेप्चाजगत-

दार्जीलिंग शहर से लेप्चाजगत की दूरी बस 19 किलोमीटर है। आपको दार्जीलिंग से बस और टैक्सी दोनों ही मिल जाएंगी जो आपको लेप्चाजगत पहुंचा दें।

चटकपुर (Chatakpur)

ये एक बहुत छोटा लेकिन ईको-फ्रेंडली गांव है। यहां सेंचेल वाइल्डलाइफ सेंचुरी है। यहां सिर्फ 18 घर हैं और करीब 90 लोग रहते हैं। अगर आपको शांति चाहिए तो आप यहां जा सकते हैं।

कैसे पहुंचें चटकपुर-

चटकपुर दार्जीलिंग से सिर्फ 26 किलोमीटर दूर है। अगर आप चाहें तो बागडोरा एयरपोर्ट से सीधे टैक्सी लेकर भी यहां पहुंच सकते हैं। या फिर दार्जीलिंग से वापसी में यहां आ सकते हैं।

दार्जीलिंग की सैर करने पर अक्सर लोग सिर्फ मेन शहर घूमकर ही चले जाते हैं, लेकिन आप अपने प्लान में इन जगहों को भी शामिल कर सकती हैं। अगर आपको ये स्टोरी पसंद आई तो इसे शेयर जरूर करें। ऐसी ही अन्य स्टोरी पढ़ने के लिए जुड़े रहें herzindagi.com से।