By Pooja Sinha

आम से जुड़े मिथ और सच

28 July 2020 www.herzindagi.com

ज्‍यादातर लोग वजन बढ़ने और डायबिटीज के डर से आम खाने से बचते हैं, लेकिन यह एक मिथ है। आइए इससे जुड़े मिथ और सच के बारे में जानें।

आम हर किसी का फेवरेट फल होता है लेकिन लोग डर के कारण इसे खाने से बचते हैं। डाइटीशियन रुजुता दिवेकर से आम से जुड़े मिथ और फैक्‍ट के बारे जानें।

# आम से जुड़े मिथ

यह चीनी और कैलोरी से भरपूर होता है, ग्लाइसेमिक इंडेक्स बहुत ज्‍यादा होता है और डायबिटीज और मोटापे से ग्रस्त लोगों को इसे खाने से बचना चाहिए।

# आम से जुड़ा सच

आम का स्वाद बहुत अच्छा है, और यह पोषक तत्वों का भंडार है। इसमें ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होता है।

# आम और वजन से जुड़ा सच

आम न केवल सुरक्षित है बल्कि पोषक तत्‍वों जैसे फाइबर, एंटी-ऑक्सीडेंट और फाइटोन्यूट्रिएंट्स से भरपूर होने के कारण डायबिटीज और मोटापे से ग्रस्त लोग भी इसे खा सकते हैं।

# आम में जरूरी तत्‍व

आम में फाइबर, विटामिन सी, आयरन, फोलेट, विटामिन ए, ई, बी-5, के और बी-6 पोटेशियम, मैग्‍नीशियम, मैंगनीज जैसे पोषक तत्‍व मौजूद होते हैं।

# फैट बर्न में मददगार

आम में विटामिन बी होता है, जो बॉडी में रेड ब्‍लड सेल्‍स के उत्‍पादन को बढ़ाता है, जिससे फैट बर्न करने में मदद मिलती है।

# डाइजेशन में मददगार

रुजुता ने अपने इंस्‍टाग्राम के माध्‍यम से बताया, '' यह फल डाइजेशन और ब्‍लड लिपिड लेवल को रेगुलेट करने में मदद करता है। "

# हार्ट डिजीज का कम जोखिम

आम में मौजूद कई तरह के विटामिन, मिनरल और एंजाइमों में हार्ट डिजीज के जोखिम को कम करने की क्षमता होती है।

# मोटापा कम करें

आम में मौजूद फेनोलिक नामक तत्‍व मोटापे जैसी क्रोनिक बीमारियों को रोकने में शरीर की मदद करते हैं।

# डायबिटीज का उपचार

आम में पाए जाने वाले मैंगिफ़ेरा नामक तत्‍व में चिकित्सीय गुण होते हैं इ‍सलिए इसका उपयोग डायबिटीज जैसी हेल्‍थ समस्‍या के उपचार में किया जाता है।

इसलिए खाओ और खाने दो, रोजाना एक आम खाने से डर दूर भागता है। इस तरह की और जानकारी पाने के लिए herzindagi.com से जुड़े रहें।