जन्माष्टमी मेवा पाग की रेसिपी


By Bhagya Shri Singh
26 August 2021
www.herzindagi.com

जन्माष्टमी पर कृष्ण जन्म की ख़ुशी में जन्माष्टमी मेवा पाग बनाया जाता है। ये पांच प्रकार के मेवों को मिलाकर बनाया जाने वाली मिष्ठान है। इसमें मखाने, नारियल और कई ड्राई फ्रूट्स का प्रयोग होता है। जानें रेसिपी।

# जन्माष्टमी मेवा पाग बनाने के लिए सामग्री:

  • मखाने – 1 कप
  • सूखा नारियल – 1 कप कद्दूकस किया हुआ
  • खरबूजे के बीज – 1 कप
  • चीनी – 2 कप
  • घी – ¾ कप
  • बादाम – ½ कप
  • गोंद – ⅓ कप
  • खसखस – ¼ कप
  • कुटी सफेद मिर्च – 1 छोटी चम्मच
  • इलाइची कुटी – 10

# जन्माष्टमी मेवा की रेसिपी: स्टेप 1

  • जन्माष्टमी मेवा बनाने के लिए ड्राई फ्रूट्स लें।
  • अब इन ड्राई फ्रूट्स (मखाने, गरी, काजू, बादाम) को बारीक क़तर लें।

# स्टेप 2

  • कढ़ाई को गैस पर चढ़ाएं। इसमें घी गर्म करें।
  • गोंद और कटे मेवों को इसमें डालकर भून लें।
  • चिरौंजी व खरबूजे के बीज को भी हल्की आंच पर भूनें।

# स्टेप 3

  • अब चाशनी बनाएं। इसके लिए गैस पर कढ़ाई चढ़ाएं।
  • इसमें चीनी और ¾ कप पानी डालें और बीच-बीच में चलाएं।
  • चाशनी को तब तक पकाएं जब तक चीनी पूरी तरह घुल नहीं जाती।

# स्टेप 4

  • चाशनी सही बनी या नहीं इसे चेक करें।
  • इसके लिए चाशनी को चमचे से गिराएं।
  • अगर आखिर में लंबा तार बनता है तो चाशनी तैयार है।

# स्टेप 5

  • चाशनी को चेक करना का दूसरा तरीका भी है।
  • चम्मच से चाशनी की 1 से 2 बूंदे किसी प्याली में गिराएं।
  • उंगली और अंगूठे के बीच में चिपका कर देखें।
  • अच्छे से लंबा तार बन रहा है तो चाशनी इस्तेमाल के लिए रेडी है।

# स्टेप 6

  • सफेद मिर्च को कूटकर पाउडर बना लीजिए।
  • अब भुने गोंद को हाथ से तोड़कर चूरा बना लीजिए।

# स्टेप 7

  • पाग बनाने के लिए एक बड़ी थाली में घी लगाकर रख दें।
  • चाशनी में भुने हुए मेवों, गोंद, सफ़ेद मिर्च और छोटी इलायची पाउडर डालें।

# स्टेप 8

  • चाशनी में मेवों को अच्छे से मिक्स करें।
  • इस मिक्सचर को घी लगी थाली में डालें।

# स्टेप 9

  • अब जन्माष्टमी पाग को ठंडा होने दें।
  • हल्का ठंडा होने पर शार्प चाकू से बर्फी के आकार में काट लें।

# स्टेप 10

  • तैयार है आपका स्वादिष्ट जन्माष्टमी मेवा।
  • जन्माष्टमी पर बाल गोपाल को इसका भोग लगाएं।

# स्टेप 11

  • जन्माष्टमी मेवा का प्रसाद खुद खाएं और सबमें वितरित करें।
  • एयर टाइट जार में आप जन्माष्टमी मेवा को 40 दिन के लिए स्टोर कर सकते हैं।

बाल गोपाल को प्रसन्न करने के लिए जन्माष्टमी पर बनाएं मेवा पाग। यह आर्टिकल पसंद आया तो इसे लाइक और शेयर करें। ऐसे ही आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़े रहें herzindagi.com से।