उत्तराखंड: नेचुरल ब्यूटी देखने जरूर जाएं


Bhagya Shri Singh
www.herzindagi.com

    उत्तराखण्ड की ये खूबसूरत डेस्टिनेशन आपके और आपकी फैमिली के एन्जॉयमेंट के लिए बेस्ट ऑप्शन हो सकते हैं।

सत्ताल

    यह 7 झीलों का समूह है। यहां जंगल भी हैं। दिसंबर से लेकर जनवरी तक आप यहां खूबसूरत प्रवासी पक्षियों को भी देख सकते हैं।

नैनीताल

    यहां झील में बोटिंग के अलावा आप इको केव गार्डन भी घूम सकते हैं। ट्रेकिंग करते हुए यहां चीना पीक पर जाकर आप हिमालय की चोटी को भी देख सकते हैं।

चकराता

    यह देहरादून से 90 किमी दूर है। यहां आप झरने, गुफा और प्राचीन मंदिरों को देख सकते हैं। पहाड़ों से घिरा ये हिल स्टेशन ट्रेकर्स के लिए स्वर्ग जैसा है।

भीमताल

    इस ताल में आप बोटिंग एन्जॉय कर सकते हैं। खूबसूरत हरे पेड़-पौधों को निहारते हुए बर्ड वॉचिंग भी कर सकते हैं।

पिथौरागढ़

    इस खूबसूरत घाटी को 'लिटिल कश्मीर' कहा जाता है। इस पहाड़ी गांव में आप कपिलेश्वर महादेव मंदिर और नकुलेश्वर मंदिर के भी दर्शन कर सकते हैं।

धनोल्टी

    जनवरी में यहां का मौसम बेहद सुहावना और शांत होता है। यहां अल्पाइन के जंगल के अलावा ओक, देवदार जैसे खूबसूरत पहाड़ी पौधों को भी आप देख सकते हैं।

लैंसडाउन

    दिल्ली के बेहद करीब उत्तराखंड का ये हिल स्टेशन जनवरी में घूमने के लिहाज से परफेक्ट है। यहां ट्रेकिंग के अलावा आप कई पक्षियों को भी देख सकती हैं।

पिओरा

    यह अल्मोड़ा और नैनीताल के बीच स्थित है। यहां बर्फ से घिरे पहाड़ों के बीच चिड़ियों को चहचाहट मन को सुकून देती है।

खिरसू

    बर्फ से ढके पहाड़, जंगल और ट्रैकिंग एक्टिविटीज के लिए ये जगह परफेक्ट है।

लोहाघाट

    नीला आसमान, हरे भरे पहाड़ और ‘कोलीढेक’ लेक का शानदार नजारा काफी प्यारा लगता है।

एस्कोट

    इसे 80 किलो का गढ़ कहा जाता था। यहां बर्फ से ढके पहाड़ बादलों को छूते दिखाई पड़ते हैं।

मुक्तेश्वर

    दिल्ली से आप यहां 7 घंटे में जा सकते हैं। यहां के घास के मैदान बर्फबारी के समय बर्फ से पट जाते हैं।

    स्टोरी अच्छी लगी तो इसे लाइक और शेयर जरूर करें। ऐसी अन्य स्टोरी जानने के लिए जुड़े रहें herzindagi.com के साथ