By Bhagya Shri Singh 14 October 2021 www.herzindagi.com

पाकिस्तान के प्रसिद्ध हिंदू मंदिर

पाकिस्तान में भगवान हनुमान से लेकर मां दुर्गा तक के प्राचीन मंदिर हैं। चलिए जानें पाक के इन हिंदू मंदिरों के बारे में।

# पंचमुखी हनुमान मंदिर

पंचमुखी हनुमान मंदिर पाकिस्तान के कराची के सोल्जर बाजार में हैं। इस प्रसिद्ध प्राचीन मंदिर में 5 सिर वाले हनुमान जी की प्रतिमा है।

# मंदिर की विशेषता

बजरंगबली का ये मंदिर करीब 1500 साल प्राचीन है। इस मंदिर में जोधपुरी नक्काशी का प्रयोग हुआ है। यह काफी भव्य है।

# हिंगलाज माता मंदिर

हिंगलाज माता मंदिर देवी के प्रमुख 51 शक्तिपीठों में से एक है। पौराणिक मान्यता के अनुसार, यहां देवी सती का सिर गिरा था।

# शिव ने किया तांडव

एक मान्यता यह भी है कि सती की मृत्यु से आहत महादेव ने तांडव इसी स्थान पर आकर समाप्त किया था।

# राम ने की तपस्या

पौराणिक मान्यता के अनुसार, रामायण काल में भगवान राम ने रावण के विनाश के बाद कुछ समय इसी स्थान पर तप किया था।

# गुरु नानक ने किए दर्शन

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, यह स्थान इतना पवित्र और प्रसिद्ध है कि सिखों के गुरु 'गुरु नानक' यहां दर्शन के लिए आए थे।

# हिंदू-मुसलमान सद्भावना का प्रतीक

मार्च-अप्रैल में इस मंदिर में एक मेला लगता हैं जहां हिंदू और मुसलमान बराबरी से आते हैं। ये मंदिर विदेश में भी प्रसिद्ध है।

# कहां है मंदिर

हिंगलाज माता का यह मंदिर पाकिस्तान के बलूचिस्तान शहर के ल्यारी जिला के हिंगोल नदी के किनारे स्थित है।

# गोरखनाथ मंदिर

गोरखनाथ बाबा का यह मंदिर पाकिस्तान के पेशावर शहर में स्थित है और यह बहुत लोकप्रिय है। मंदिर करीब 160 साल पुराना है।

# बंटवारे के बाद बदहाल

भारत-पाक बंटवारे के बाद ये मंदिर काफी समय तक बंद पड़ा रहा। 2011 में पेशावर हाई कोर्ट के फैसले के बाद मंदिर खोला गया।

# कटासराज मन्दिर

कटासराज शिव मन्दिर करीब 900 साल पुराना है। मान्यता है कि शिवजी और माता सती ने विवाह के बाद कटासराज गांव में कुछ वक्त गुजारा था।

# राम मंदिर

पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद के पास सैयदपुर में प्रसिद्ध राम मंदिर है। साल 1580 में इस मंदिर का निर्माण राजा मानसिंह ने करवाया था।

पाकिस्तान के हिंदू मंदिरों की ये स्टोरी अच्छी लगी तो लाइक और शेयर करें। ऐसी अन्य स्टोरी जानने के लिए जुड़े रहें herzindagi.com से।