इस मंदिर में है बीड़ी चढ़ाने की अनोखी परंपरा


Smriti Kiran
www.herzindagi.com

    मंदिरों में आपने देवी-देवताओं को फूल, जल और दूध चढ़ाते हुए तो देखा होगा, लेकिन क्या कभी किसी भगवान को बीड़ी चढ़ाते हुए देखा या सुना है।

    जानकारी के लिए आपको बता दें कि बिहार में एक ऐसा अनूठा मंदिर है, जो अपनी इस अनोखी परंपरा के लिए काफी मशहूर है। आइए जानें इस मंदिर के बारे में-

अनोखी परंपरा से जुड़ा है मंदिर

    बिहार राज्य के कैमूर जिले में स्थित इस मंदिर में बीड़ी चढ़ाने की परंपरा वर्षों से चली आ रही है। आपको बता दें कि बीड़ी चढ़ाने के लिए श्रद्धालुओं की यहां काफी भीड़ भी होती है।

बाबा मुसहरवा मंदिर

    इस मंदिर का नाम मुसहरवा बाबा मंदिर है, जहां बाबा मुसहरवा की पूजा की जाती है। अन्य मंदिरों में जैसे अगरबत्ती और धूप दिखाया जाता है, यहां बीड़ी जलाई जाती है।

दर्शन के बाद चढ़ती है बीड़ी

    यहां लोगों की काफी भीड़ होती है। मंदिर में बाबा के दर्शन के बाद बीड़ी का बंडल खोलकर उसे जलाया जाता है और फिर चढ़ाया जाता है।

बीड़ी है अहम

    वहां के लोगों के अनुसार बाबा को बीड़ी का भोग भी लगता है। मान्यता के अनुसार कहते हैं कि इससे बाबा प्रसन्न होते हैं और इच्छाएं पूरी करते हैं।

है पुरानी परंपरा

    कहते हैं इस मंदिर की यह अनोखी परंपरा कई वर्षों से चली आ रही है और इश मंदिर से होकर गुजरने वाले सभी लोग यहां बीड़ी जरूर चढ़ाने आते हैं।

दर्शन जरूर करें

    मंदिर से जुड़ी यह मान्यता है कि अगर कोई व्यक्ति यहां से गुजर रहा हो और उसके पास बीड़ी न हो, तो वो मंदिर आकर थोड़ी देर बैठता है और वहां का प्रसाद ग्रहण करके जाता है।

बीड़ी के बिना नहीं होती पूजा

    कहते हैं यहां आने वाले हर इंसान की, जिसने सच्चे मन से प्रर्थना की है उनकी मनोकामनाएं पूर्ण होती है। बीड़ी के बिना यहां स्थित बाबा को दर्शन फैल है।

    अगर आप भी इस मंदिर का दर्शन करना चाहते हैं, तो बीड़ी लेकर जाएं और इस अनोखी परंपरा का हिस्सा बनें।

    स्टोरी अच्छी लगी हो तो शेयर करें। इसी तरह की अन्य जानकारी के लिए क्लिक करें herzindagi.com