अक्षरधाम मंदिर के 10
दिलचस्प बातें

By Saudamini Singh
07 July 2020
www.herzindagi.com

1000 साल से भी ज्यादा समय तक तक खड़ा रहेगा अक्षरधाम मंदिर

अक्षरधाम मंदिर का कॉम्प्लेक्स 83,342 स्क्वेयर फीट के एरिया में बना है। यह मंदिर इस तरह से डिजाइन किया गया है कि यह 1000 साल या उससे ज्यादा समय तक टिका रहेगा।

मंदिर में 20,000 से अधिक मूर्तियां

अक्षरधाम मंदिर में भारत के समस्त गुरु, साधु, आचार्य और देवताओं की लगभग 20,000 से ज्यादा मूर्तियां हैं। ये मूर्तियां अलग-अलग धातुओं, लकड़ी और पत्थर की बनी हैं।

151 तालाबों के पानी से बना नारायण सरोवर

अक्षरधाम मंदिर के पास ही नारायण सरोवर है, जिसमें भारत के प्रसिद्ध 151 तालाबों का पानी लाकर मिलाया गया है। इस सरोवर के चारों ओर 108 गायों के सिर हैं, जो 108 देवताओं का प्रतिनिधित्व करते हैं।

लोटस गार्डन

अक्षरधाम मंदिर कॉम्प्लेक्स में कमल के आकार का एक खूबसूरत गार्डन है। इसलिए इसे लोटस गार्डन कहा जाता है। इस गार्डन के पत्थरों पर स्वामी विवेकानंद, शेक्सपियर और मार्टिन लूथर आदि के विचार लिखे हुए हैं।

10 दरवाजों का विशेष महत्व

इस मंदिर के 10 दरवाजे वैदिक साहित्य की 10 दिशाओं के आधार पर बनाये गए हैं। ये दरवाजे इस बात का प्रतीक हैं कि अच्छाई किसी भी तरफ से आ सकती है।

दुनिया का सबसे बड़ा यज्ञ कुंड

अक्षरधाम मंदिर में 108 छोटे-छोटे मंदिरों और 2870 सीढ़ियां चढ़ने के बाद एक यज्ञ कुंड आता है, जो देखने में भव्य है। दिलचस्प बात ये है कि यह दुनिया का सबसे बड़ा यज्ञ कुंड है।

नीलकंठ दर्शन थिएटर

अक्षरधाम मंदिर के अंदर नीलकंठ दर्शन थिएटर है, जिसमें स्वामीनारायण भगवान के बारे में जानकारी दी जाती है। इसके करीब ही 11 फिट ऊंची लक्ष्मी-नारायण और शिव-पार्वती, राधा-कृष्ण, सीता-राम की मूर्तियां हैं।

म्यूजिकल फाउंटेन शो

कोरोना वायरस के चलते हुए लॉकडाउन से पहले हर हफ्ते इस मंदिर में करीब एक लाख से ज्यादा लोग आते हैं। यहां एक म्यूजिकल फाउंटेन शो होता है, जो भगवान, मनुष्य और प्रकृति के बीच परस्पर निर्भरता को दर्शाता है।

गार्डन ऑफ इंडिया

इसे भारत उपवन के नाम से भी जाना जाता है। इसमें कई सुंदर लॉन, पेड़ और झाड़ियां नजर आती हैं। इस उपवन में महात्मा गांधी सहित देश की कई चर्चित हस्तियों की प्रतिमाएं हैं।

बोट राइड

अक्षरधाम में बोट राइड एक मजेदार एक्सपीरियंस है, जिसे बिल्कुल भी मिस नहीं करना चाहिए। 12 मिनट के सफर में यहां वैदिक जीवन से लेकर तक्षशिला और प्राचीन खोजों के युग का रोमांचक अनुभव होता है।

अक्षरधाम मंदिर के बारे में जानने के बाद आप भी कीजिए यहां के दर्शन। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी तो इसे जरूर शेयर करें। ट्रेवल से जुड़ी अपडेट्स पाने के लिए विजिट करती रहें herzindagi.com से।