भारत के ऐतिहासिक मंदिर


Smriti Kiran
www.herzindagi.com

    भारत को मंदिरों का देश कहा जाता है। यहां कई मंदिर ऐसे हैं, जिनकी स्थापना हजारों साल पहले हुई थी। आज आपको ऐसे ही पुराने और एतिहासिक मंदिरों के बारे में बताने जा रहे हैं।

कैलाश मंदिर

    महाराष्ट्र की एलोरा गुफाओं में स्थित कैलाश मंदिर पुराने मंदिरों में से एक है। भगवान शिव को समर्पित इस मंदिर का निर्माण 8वीं सदी में राष्ट्रकूट वंश के राजा कृष्ण प्रथम ने कराया था।

शोर मंदिर

    तमिलनाडु के महाबलीपुरम में स्थित शोर मंदिर का निर्माण 8वीं सदी में राजा नरसिंहवर्मन द्वितीय ने कराया था। द्रविड़ शैली में बना यह मंदिर यूनेस्को की विश्व धरोहर सूची में भी शामिल है।

द्वारकाधीश मंदिर

    गुजरात के द्वारका में गोमती नदी के किनारे बना द्वारकाधीश मंदिर करीब 2200 साल पुराना माना जाता है। इसका निर्माण कृष्ण के पौत्र वज्रनाभ ने कराया था।

कोणार्क मंदिर

    ओडिशा के पुरी में स्थित कोणार्क सूर्य मंदिर यूनेस्को की विश्व धरोहर सूची में शामिल है। इसका निर्माण गंग वंश के शासक राजा नरसिम्हदेव प्रथम ने 13वीं सदी में कराया था।

बादामी गुफा मंदिर

    कर्नाटक के बागलकोट में स्थित बादामी गुफा मंदिर भगवान विष्णु को समर्पित है। इसका निर्माण 6वीं से 8वीं सदी में पल्लव वंश के शासकों द्वारा कराया गया था। यह विश्व धरोहर की सूची में भी शामिल है।

बृहदेश्वर मंदिर

    तमिलनाडु के तंजोर में स्थित बृहदेश्वर मंदिर भारत के प्राचीन मंदिरों में से एक है। भगवान शिव को समर्पित इस मंदिर का निर्माण एक हजार साल पहले चोल वंश के राजाओं ने कराया था।

बृहदेश्वर मंदिर, तमिलनाडु

    इस मंदिर में भगवान शिव की नृत्य करती हुई मुद्रा में मूर्ति है, जिसे नटराज कहा जाता है। इस मंदिर के निर्माण में 130,000 टन से अधिक ग्रेनाइट का उपयोग किया गया था।

लिंगराज मंदिर

    भगवान शिव को समर्पित लिंगराज मंदिर भुवनेश्वर में स्थित है। 7वीं सदी में राजा जाजति केशरी ने इसका निर्माण कलिंग शैली में कराया था।

श्री वेंकटेश्वर मंदिर

    आंध्र प्रदेश में स्थित श्री वेंकटेश्वर मंदिर भारत के सबसे धनी मंदिरों में शामिल है। इसका निर्माण 300 ई. में शुरू हुआ था और 12 सदी में पूरा हुआ था।

जगन्नाथ मंदिर

    जगन्नाथ मंदिर का निर्माण 11वीं सदी में कलिंग के राजा अनंतवर्मन चोडगंग देव ने शुरू कराया था। भगवान विष्णु को समर्पित यह मंदिर हिंदू धर्म के चार धामों में शामिल हैं।

विरुपाक्ष मंदिर

    कर्नाटक के हम्पी में तुंगभद्रा नदी के किनारे स्थित विरुपाक्ष मंदिर एतिहासिक मंदिर है। इसका निर्माण 7वीं शताब्दी मेंम विक्रमादित्य द्वितीय की रानी लोकमहादेवी ने कराया था।

खजुराहो मंदिर

    मध्यप्रदेश में स्थित खजुराहो मंदिर का निर्माण 11वीं सदी में चंदेल राजाओं ने कराया था। यह हिंदू और जैन मंदिरों का संग्रह है। कामुक शैली के लिए यह मंदिर दुनियाभर में फेमस है।

    स्टोरी अच्छी लगी हो तो शेयर करें। साथ ही ट्रैवल से जुड़ी अन्य जानकारियों के लिए क्लिक करें herzindagi.com