डरावनी चीखों से गूंजता है शनिवार वाड़ा


By Bhagya Shri Singh
04 October 2021
www.herzindagi.com

भारत का हर ऐतिहासिक किले की एक कहानी है। 18वीं शताब्दी में निर्मित शनिवार वाड़ा की रहस्यमयी कहानियां दुनिया भर में काफी मशहूर हैं।

# डरावना किला

शनिवार वाड़ा के बारे में लोगों का कहना है कि रात होते ही यहां डरावनी चीखें सुनाई पड़ती हैं और बचाओ-बचाओ की आवाज आती है। जानें शनिवार वाड़ा का रहस्य।

# किले का इतिहास

शनिवार वाड़ा किले का निर्माण बाजीराव प्रथम ने करवाया था। वो मराठा शासक छत्रपति साहू के पेशवा या प्रधानमंत्री के रूप में एक नेता और सैनिक थे।

# मुगल- मराठा वास्तुकला

कहा जाता है कि शनिवार वाड़ा का किला मुगल वास्तुकला के साथ-साथ मराठा शैली का एक बेहतरीन उदाहरण भी है।

# किला है बेहद मजबूत

इस किले में तीन से चार बार आग लग चुकी है और किले के महत्वपूर्ण हिस्से नष्ट हो गए हैं। अंग्रेजों के हमले में भी कई मंजिलें ध्वस्त हो गईं। लेकिन ये किला फिर भी काफी मजबूत है।

# शनिवार वाड़ा किले की कहानी

स्थानीय लोगों के अनुसार, अमावस्या की रात को एक दर्द भरी गूंज पूरे किले में और इसके आसपास की जगहों पर सुनाई देती है।

# मदद की गुहार

लोगों का ये भी कहना है कि किले से बचाओ- बचाओ और मदद मांगने की चीखें सुनाई देती हैं।

# किले में आत्मा का बसेरा

एक डरावनी कहानी के अनुसार मराठाओं के सत्ता के लालच में पेशवा नारायण राव की इस महल में निर्मम हत्या कर दी थी। उन्हीं की आत्मा यहां भटकती है।

# राजकुमार की हत्या

एक अन्य किदवंती के अनुसार, किले में एक राजकुमार की भी हत्या कर दी गई थी। उसकी की चीखें और रोने की आवाजें किले में गूंजती रहती हैं।

# किले की खासियत

नारायण दरवाजा, शनिवार वाड़ा का बाग, लोटस फाउंटेन देखने लायक है। यहां आप सुबह 10 बजे से लेकर शाम 5 बजे के बीच घूमने के लिए जा सकते हैं।

# बाजीराव और मस्तानी की प्रेम कहानी

इस किले को पेशवा बाजीराव बल्लाल और मस्तानी की प्रेम कहानी से जोड़कर देखा जाता है। शनिवार वाड़ा किले का जिक्र बाजीराव मस्तानी मूवी में कई बार हुआ है।

# पुणे में है किला

महाराष्ट्र के पुणे शहर में 'शनिवार वाड़ा' किला मौजूद है। इस किले की दरवानी और अजीबो-गरीब कहानियां लगभग सभी सैलानियों को अपनी तरफ आकर्षित करती हैं।

# किला है खूबसूरत

किला काफी डरावना है और इसका काफी हिस्सा जल चुका है लेकिन खूबसूरत है। शायद इसी कारण हर साल हजारों सैलानी भी घूमने के लिए यहां आते हैं।

रहस्यमय शनिवार वाड़ा घूमने जरूर आएं। स्टोरी को लाइक और शेयर करें। ऐसी अन्य स्टोरी जानने के लिए जुड़े रहें herzindagi.com के साथ