भारत के फेमस गुरुद्वारे


Smriti Kiran
www.herzindagi.com

    गुरुद्वारा सिख धर्म के लोगों के लिए प्रमुख तीर्थ स्थल है, लेकिन इनके द्वार सभी समुदाय के लोगों के लिए खुले होते हैं। भारत के प्रमुख गुरुद्वारे गुरु नानक देव समेत अन्य गुरुओं को समर्पित हैं। आइए आज देश

गुरुद्वारा हरिमंदिर साहि‍ब

    भारत का सबसे फेमस गुरुद्वारा पंजाब के अमृतसर जिले में स्थित है। यह स्वर्ण मंदिर के नाम से जाना जाता है। इसकी आधारशिला गुरु अर्जुनदेव ने 1588 में रखी और 1604 में यहां पवित्र ग्रंथ रखा।

गुरुद्वारा रकाबगंज साहिब

    दिल्ली में संसद भवन के पास स्थित इस गुरुद्वारे का निर्माण 1783 में हुआ था। यहां नौंवे गुरु तेग बहादुर का अंतिम संस्कार हुआ था। मुगल शासक शाह आलम द्वितीय ने इसे बनवाने की अनुमति दी थी।

गुरुद्वारा श्री हेमकुंड साहिब

    यह गुरुद्वारा उत्तराखंड के चमोली जिले में स्थित है। यह 10वें सिख गुरु श्री गुरु गोबिंद सिंह को समर्पित है। यहां बर्फ की एक झील है, जो सात पर्वतों से घिरी हुई है।

पटना साहिब गुरुद्वारा

    पटना साहिब गुरुद्वारा बिहार के पटना में स्थित है। सिख धर्म के 5 प्रमुख तख्तों में शामिल है। इसे तख्त श्री हरमिंदरजी भी कहा जाता है। यहां गुरु गुरु गोबिंद सिंह का जन्म हुआ था।

गुरुद्वारा श्री पांवटा साहिब

    श्री पावंटा साहिब गुरुद्वारा हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले में यमुना के किनारे स्थित है। कहा जाता है कि गुरु गोबिंद सिंह ने यहां अपने जीवन के चार साल बिताए और दशम ग्रंथ की रचना की थी।

तख्त श्री केसगढ़ साहिब

    पंजाब के रोपड़ में श्री केसगढ़ साहिब गुरुद्वारा को सबसे अहम तख्त में से एक माना जाता है। गुरु तेगबहादुर और गुरु गोबिंद सिंह ने पंज प्यारों की उपाधि और खालसा पंथ की स्थापना यहीं पर की थी।

श्री हजूर साहिब गुरुद्वारा

    महाराष्ट्र के नांदेड़ में स्थित यह गुरुद्वारा सिखों के 5 तख्तों में से एक है। इसका निर्माण महाराजा रणजीत सिंह ने कराया था। यहां गुरु गोबिंद सिंह का अंतिम संस्कार किया गया था।

तख्त श्री दमदमा साहिब

    पंजाब के बठिंडा से 28 किमी दूर स्थित गुरुद्वारा श्री दमदमा साहिब सिखों के पांच तख्तों में से एक है। यहां गुरु गोबिंद सिंह ने श्री गुरु ग्रंथ साहिब का बीर लिखा था। इसे गुरु की काशी के नाम से भी जाना जा

शीश गंज गुरुद्वारा

    दिल्ली का शीश गंज गुरुद्वारा सबसे पुराना और ऐतिहासिक है। यह गुरु तेग बहादुर और उनके अनुयायियों को समर्पित है। यह गुरुद्वारा 1930 में बनाया गया था।

गुरुद्वारा बंगला साहिब

    दिल्ली के कनॉट प्लेस में स्थित गुरुद्वारा बंगला साहिब फेमस गुरुद्वारों में से एक है। इस गुरुद्वारा का नाम आठवें सिख गुरु, गुरु हरकिशन साहिब के नाम पर रखा गया है।

गुरुद्वारा मजनू का टीला

    दिल्ली के कश्मीरी गेट के पास स्थित यह गुरुद्वारा दिल्ली का सबसे पुराना गुरुद्वारा माना जाता है। इसका निर्माण साल 1783 में कराया गया था। यहां गुरु गोबिंद सिंह कुछ समय के लिए रुके थे।

गुरुद्वारा मट्टन साहिब

    श्रीनगर स्थित यह गुरुद्वारा लोकप्रिय धार्मिक स्थलों में से एक है। कहा जाता है कि यहां गुरु नानक देव का संदेश सुनने के बाद एक ब्राह्मण ने सिख धर्म अपना लिया था, उसी ने इसका निर्माण कराया था।

गुरुद्वारा नानक जिरक साहिब

    कर्नाटक के बीदर जिले में स्थित यह गुरुद्वारा साउथ इंडिया का सबसे फेमस गुरुद्वारा है। यह गुरुद्वारा गुरु नानक देव को समर्पित है। कहा जाता है कि गुरु नानक देव इसी जगह पर कुछ दिनों तक रुके थे।

    स्टोरी अच्छी लगी तो इसे लाइक और शेयर जरूर करें। ऐसी अन्य स्टोरीज के लिए क्लिक करें